loading...
Breaking News
recent

ध्यान के चमत्कारिक अनुभव - दूसरा चरण

ध्यान के अनुभव निराले हैं। जब मन मरता है तो वह खुद को बचाने के लिए पूरे प्रयास करता है। जब विचार बंद होने लगते हैं तो मस्तिष्क ढेर सारे विचारों को प्रस्तुत करने लगता है। जो लोग ध्यान के साथ सतत ईमानदारी से रहते हैं

आगे पढ़े >>
loading...

No comments:

Powered by Blogger.