ओशो : बच्चों को रोने से न रोकें - Osho : Bacho Ko Rone Se Na Roke

मनोवैज्ञानिक कहते हैं कि बच्चे के रोने की जो कला है, वह उसके तनाव से मुक्त होने की व्यवस्था है और बच्चे पर बहुत तनाव है। बच्चे को भूख लगी है और मां दूर है या काम में उलझी है।

आगे पढ़े >>

No comments:

Powered by Blogger.