loading...
Breaking News
recent

एक कल्प के बाद प्रलय की शुरुआत! - ek kalp ke bad pralay ki shuruaat




सभी धर्म और विज्ञान की अपेक्षा हिन्दू कालगणना विश्व की समयमापन की सबसे वृहत्तर इकाई या थ्योरी है। ‍वेद और पुराण में संपूर्ण समय को संपूर्ण तरीके बांधा गया है। ऋषियों ने जलचर, थलचर, नभचर और पेड़, पौधे तथा पहाड़ों की आयु जानकर धरती की आयु को ज्ञात किया है। उसी तरह उन्होंने संपूर्ण ब्रह्मांड की आयु का मान निकाला है।
आगे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें >>

loading...

No comments:

Powered by Blogger.