loading...
Breaking News
recent

SBI मे खाता खोलने की जानकारी - SBI Bank Me Account Kaise Khulwaye

Bank me khata kaise khulwaye , Sbi Bank me Account kaise Open karwaye: State Bank Of India (SBI) account opening process in hindi स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया, एक NATIONALIZED बैंक है | SBI पर हर व्यक्ति आसानी से, विश्वास कर सकता है अपने, लेन-देन कर सकता है| SBI से जुड़ने की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी है  या प्रथम चरण है उसमे खाता खोलना जोकि, बहुत ही आसान है | 

sbi bank के लिए चित्र परिणाम

SBI मे खाता खोलने की जानकारी

SBI Account Opening Process in hindi

अपने इस आर्टिकल मे , आपको खाता खोलने की प्रक्रिया के बारे मे बतायेंगे | SBI मे खाता खोलने के दो तरीके होते है |
  1. ऑफलाइन खाता खोलना |
  2. ऑनलाइन खाता खोलना |
ऑफलाइन खाता खोलना (SBI offline khata Kholna)

बैंक से लेन – देन करना, हर व्यक्ति की जरुरत होती है लेकिन ,हर व्यक्ति को ऑनलाइन खाता खोलने की प्रकिया का पता हो, यह संभव नही है | उनके लिये बैंक ऑफलाइन खाता खोलने अर्थात्, बैंक मे जाकर फॉर्म भर कर खाता खोलने की भी सुविधा देती है |

बैंक मे खाता खोलने के सम्बन्ध मे महत्वपूर्ण बिन्दु
  • खाता खोलने का FORM
  • Form भरने का तरीका
  • ऑनलाइन आवेदन करने का तरीका
खाता खोलने का FORM (SBI khata Open form)

बैंक मे खाता खोलने का फॉर्म , लगभग आठ पेज का होता है | जिसमे कुछ डिटेल्स/जानकारी खाता खोलने वाले को स्वयं भरनी होती है, कुछ बैंक द्वारा भरी जाती है | यह फॉर्म आसान सी इंग्लिश मे आता है जिससे किसी भी व्यक्ति को फॉर्म भरने मे, कठिनाई नही होती और उसके बाद भी ,कोई कठिनाई हो तो, बैंक के कर्मचारियों की मदद से , उसे हल किया जा सकता है |
 Form भरने का तरीका
बैंक फॉर्म मे, सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि, फॉर्म को हर तरीके से पढ़ कर, सावधानी से भरे क्योकि, हर जानकारी पूर्ण व सही होना चाहिये|  किसी भी तरह की त्रुटि नही होना चाहिये, यदि कोई संशय हो भी तो उसे बैंक कर्मचारी से, पूछ कर दूर कर लेना चाहिये | जो जानकारिया नही भर पाये  तो ,उसे छोड़ दे और बता दे कि, यह समझ नही आ रही है | फॉर्म मे कई जगह पर लिखा होता है कि, ऑफिस यूज़ उसे पूरी तरह से रिक्त रहने दे | फॉर्म भरते समय कुछ महत्वपूर्ण बिन्दुओ को याद रखे जो इस प्रकार है ,
  • फॉर्म काली स्याही से ही भरे, लाल स्याही का उपयोग कभी भी ना करे |
  • फॉर्म को भरने से पहले पढ़े और समझे ,उसी के साथ फॉर्म मे दिये गये नियम व कानून व शर्तो को ध्यान से पढ़े |
  • सभी आवश्यक दस्तावेज जो फॉर्म के साथ संलग्न करने हो पूर्ण और सही हो |
बैंक का फॉर्म मे कुल आठ पेज होते है लेकिन, हम इसमें से उनका का विस्तृत वर्णन करेंगे जो कि, ग्राहक द्वारा भरी जानी है |
फॉर्म का फर्स्ट पेज कवर पेज के रूप मे होता है |
                                                                 फॉर्म का सेकंड पेज
यह हम दो भागो मे देखेंगे | फॉर्म -60 जिसमे, टर्म को देखते हुए हम फॉर्म फिल करेंगे | जिस व्यक्ति के पास PAN Card नंबर नही है, उसे ख़ास तौर पर यह डिटेल्स और कार्ड ना होने का कारण डालना है |
  • Full name and address of declarant –   सबसे पहले जिस व्यक्ति का खाता खुलवाना है या खोलना है, उसका पूरा नाम व पता लिखा जायेगा|
  • Pariculars of transaction – जिसमे दो चीज़े फिल करनी होगी, एक तो Opening of accounts और Amount of transaction जिसमे कितने रूपये से खाता खोलना और उसे संचालित करना है वह लिखा जाता है |
  • इसके बाद इसमें यदि टैक्स फाइल किया हो, तो उसकी और यदि PAN Card ना भी तो उसकी डिटेल्स फिल कर देंगे |
  • अब Verification डिटेल्स फिल करके उस पर खाता खोलने वाले के सिग्नेचर कर स्थान का नाम फिल करेंगे | यह एक भाग पूर्ण हुआ|
इसी पेज का दूसरा भाग जो कि , नोमिनेशन फॉर्म के रूप मे होता है यह किसी व्यक्ति को जो, खाता खुलवा रहा है उसके लिये/माइनर तथा सबसे महत्वपूर्ण बात, यदि किसी हादसे मे ,या अकारण खाताधारक की मृत्यु हो जाती है तो, उसके उतराधिकारी के रूप मे, जिस किसी व्यक्ति को नॉमिनी (Nominee) बनाया जाता है उसकी ,पूरी डिटेल्स भरी जाती है और उसके द्वारा सत्यापित करके, हस्ताक्षर किये जाते है |
इसमें निम्न डिटेल्स भरी जाती है |
  1. सबसे पहले नॉमिनी का नाम
  2. डिपाजिट का टाइप
  3. अकाउंट नंबर
  4. नॉमिनी का पूरा नाम,
  5. नॉमिनी का खाताधारक से रिलेशन
  6. उम्र
  7. नॉमिनी की जन्म तारीख
  8. नॉमिनी का पता,सिटी,पिन,स्टेट
  9. अंत मे हस्ताक्षर
यह एक सामान्य जानकारी और खाताधारक की भविष्य की सुरक्षा को देख कर भरवाया जाता है |
फॉर्म का थर्ड और फ़ोर्थ पेज
जिसे Account Opening Form: Part-I खाता या अकाउंट खोलने के सम्बन्ध मे मुख्य जानकारी अब इन दो पेज मे भरी जाती है जिसमे,
  1. सबसे पहला भाग जोकि, ऑफिस यूज़ के लिये होता है उसे रिक्त छोड़ दिया जाता है |
  2. Sole/First एप्लिकेंट जिसमे पांच प्रमुख बाते बताई गई है, जिसे पढ़ कर ही फॉर्म फिल करना चाहिये |
    • फॉर्म को ब्लैक इंक से और बोल्ड लेटर्स मे भरना चाहिये |
    • जिस कॉलम के सामने स्टार (*) का बना हो, उसे अवश्य भरना चाहिये|
    • दिये गये निर्देश के अनुसार फोटो और पासबुक के लिये अलग से फोटो संलग्न करना चाहिये |
    • यदि किसी माइनर का अकाउंट ओपन करना हो और उसकी आइडेंटिटी नही हो, तो उसके माता-पिता की आइडेंटिटी लगाई जाएगी|
    • यदि कोई खाताधारक निरक्षर या पढ़ा लिखा ना हो, तो वह अंगूठे के निशान भी लगा सकता है |
  3. पर्सनल डिटेल्स – जिसमे मुख्य रूप से खाताधारक का नाम , पिता/पति/गार्जियन का नाम, जन्म तारीख , जेंडर, नेशनलिटी, माता का नाम, मरिटल स्टेटस, यूआईडी नंबर आदि पर्सनल डिटेल्स मे भरा जाता है |
  4. एड्रेस – वर्तमान मे जहा निवास करते है, उसका पता भरेंगे और यदि वर्तमान का पता अस्थाई हो तो जो स्थाई पता हो, उसे भरेंगे उसी के साथ मोबाईल नंबर, ईमेल आइडी भी उसी के साथ फिल की जाएगी |
  5. अन्य जानकारिया ( एडिशनल डिटेल्स) – जो भी व्यक्ति खाता खुलवा रहा है, वह अपने या खाताधारक के समबन्ध मे अन्य जानकारिया अपने हिसाब से भरेगा | ध्यान रहे जिस पर स्टार का चिन्ह है उसे निश्चित रूप से भरा जाये |
पेज नंबर फोर की डिटेल्स
यह पेज Part-I का ही दूसरा भाग है | जिसमे ,
  1. आइडेन्टिटीफिकेशन डिटेल्स – दिये गये फॉर्म के अनुसार खाताधारक जो भी आइडेंटिटी दे रहा है, उसकी डिटेल्स उसमे टिक करके फॉर्म के साथ सभी दस्तावेज जो टिक किये गये है, संलग्न कर सम्मिट किया जायेगा|
  2. इंट्रोडक्शन डिटेल्स – जिस भी व्यक्ति का पहले से स्टेट बैंक मे खाता हो उसकी जानकारी दी जाएगी |
  3. अन्य खातों (accounts) की डिटेल्स – यदि खाताधारक के अन्य किसी बैंक मे अकाउंट हो तो उसकी पूरी डिटेल्स फॉर्म मे भरी जाएगी|
फॉर्म मे पेज फिफ्थ और सिक्स्थ मे Account Opening Form: PartII जिसमे खाते के समबन्ध मे अन्य सभी जानकारिया दी जाती है उसे खाताधारक को अपने हिसाब से भरना होता है | जैसे – खाते के प्रकार, बैंक होल्डरर्स को डिटेल, एटीम की जानकारी आदि |
पेज फिफ्थ की डिटेल्स
बैंक अपने ग्राहकों को कई तरह की सुविधाये देती है, जिसमे अलग-अलग खाता खुलवा कर, और भी सभी तरह की अनेक सुविधाओ का लाभ खाताधारक ले सकते है |
  1. टाइप्स ऑफ़ अकाउंट – बैंक अपने ग्राहकों को कई तरह के अकाउंट ओपन करने की सुविधाये देती है | इसमें जिस भी प्रकार का खाता खुलवाना हो उस पर निशान लगा कर सेविंग या करंट अकाउंट खोल सकते है |
  2. एप्लिकेंट की डिटेल – इसमें खाताधारक द्वारा फर्स्ट,सेकंड,थर्ड होल्डर के नाम उनकी डिटेल पुछी जाती है |
  3. अकाउंट का नाम – खाते का नाम भरा जाता है |
  4. सर्विसेज रिक्वायर्ड – टेक्नोलॉजी के इस दौर मे बैंक के द्वारा कई सुविधाये दी जाती है जोकि हर तरह से खाताधारक को बैंक की जानकारी से अवगत कराती है | दी गई सुविधाओं के लिये बैंक एक निश्चित चार्ज अपने ग्राहक से वसूल करता है जैसे- नेट बैंकिंग, एटीम सुविधा , एसएमएस की सुविधा , चेक बुक की सुविधा, बैंक स्टेटमेंट जानने की सुविधा|
  5. मोड ऑफ़ ऑपरेटिंग – अकाउंट को कौन ओपरेट करेगा वह टिक किया जाता है |
  6. स्पेसिमन सिंग्नेचर – पासपोर्ट साइज़ के फोटो चिपका कर सिंग्नेचर किया जायेगा |
सिक्स्थ पेज की डिटेल्स
इस पेज मे दी गई जानकारी जिसमे डिपाजिट और बचत योजना के समबन्ध मे है | जिसे हर व्यक्ति समझ कर अपनी सुविधा के अनुसार ही भरता है | यह आवश्यक रूप से भरा जाये यह जरुरी नही है | हर व्यक्ति उपरोक्त पेज की सुविधाये नही लेता | तो इसे जब भी भरे उसके पहले, इसकी शर्तो को समझे फिर इसे भरे |
सेविंग बैंक रूल्स – अंत के दो पेजों मे सभी तरह की बारिकिया जो कि , खाता खोलने के समबन्ध मे, उनके नियमो और शर्तो के रूप मे दी जाती है |
ऑनलाइन आवेदन करने का तरीका (SBI offline khata Kholna)

जिस तरह बैंक मे जाकर ,खाता खोला जाता है ठीक उसी तरह, ऑनलाइन बैंक की वेबसाइट पर जाकर भी, घर बैठे खाता खोला जा सकता है| ऑनलाइन भी फॉर्म का लगभग यही प्रारूप होता है और, इसी तरह इसे भरा जाता है | कई बार इसे ऑनलाइन भरने के बाद मे भी , प्रिंटआउट निकाल कर बैंक मे, दस्तावेजों को संलग्न कर प्रस्तुत करना होता है | ऑनलाइन अकाउंट खोलने के लिये  स्टेट bank ऑफ़ इंडिया की वेबसाइट www.sbi.co.in में जाकर कर सकते हैं| इस तरह बैंक मे, खाता खोलने के कई लाभ है| और प्रत्येक व्यक्ति का बैंक मे अकाउंट होना ही चाहिये |

यह भी पढ़े >>कैसे भरे ऑनलाइन इनकम टैक्स रिटर्न
यह भी पढ़े >>जानिए कैसे करें असली और नकली नोट की पहचान

 

loading...

No comments:

Powered by Blogger.