loading...
Breaking News
recent

गूगल सीओ सुंदर पिचई की बायोग्राफी - Google’s CEO Sunder Pichai Biography

Google’s CEO Sunder Pichai Biography in Hindi : दोस्तों आज हम पढेंगे Google ले Indian CEO, Sunder Pichai की Hindi Biography (जीवनी), जिसे आप पड़ के जरुर motivate होगे.

Short Bio

नाम :- Sunder Pichai (सुंदर पिचई )
पूरा नाम :- Pichai Sundarajan (पिचई सुन्दराजन )
जन्म :- 12 जुलाई 1972
स्थान :- चेन्नाई (Chennai)
सालाना आय :- 310 करोड़
पिता का नाम :- Raghunath Pichai (रघुनाथ पिचई)


Sunder Pichai Biography के लिए चित्र परिणाम

Sunder Pichai की पढाई

Sunder Pichai की शुरू से ही पढाई में होशियार थे और साथ में इनका क्रिकेट cricket में भी रूचि थी और वे अपनी स्कूल की क्रिकेट टीम के कैप्टन थे. और इन्होने अपनी एक क्रिकेटर (cricketer) के रूप में कई मैडल भी जीते, जिसे देख कर Pichai के माता-पिता को पता चल गया था की उनका बेटा बड़ा होकर उनका नाम रोशन करेगा.
Pichai की प्रारंभिक पढाई पदमा सेशाद्री बाला भवन से हुई थी. इन्होने IIT खड़गपुर से इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की. और इंजीनियरिंग की डिग्री की प्राप्त करने के बाद अपने गुरुजनों की सलाह लेकर सटेनफोर्ड यूनिवर्सिटी और वहा जाकर Pichai ने विज्ञान विषय में PHD की डिग्री प्राप्त की और वे आगे नही रुके क्योकि उनका शुरू से मन MBA में था और इसीलिए Pichai ने पेंसिलवेनिया विश्वविद्यालय में MBA की पढाई पूरी करके डिग्री प्राप्त की.

Google से जुड़ने से पहले Sunder Pichai का जीवन

Google से जुड़ने से पहले Pichai का जीवन काफी दुखमय और उथल-पुथल रहा. इन्हें हायर study के ले कई अनेको ऑफर मिले लेकिन Pichai ने उन्हें स्वीकार नही किया और ठुकरा दिया.
इसी के साथ Pichai को कई अनेक बड़ी कंपनियों से ऑफर आये जैसे की:- स्टेनफोर्ड में इंजीनियर, एप्लाइड मैनेजर, सिलिकोंवेली में सेमीकंडक्टर मेकर की जॉब. ये सब जॉब ऑफर आये पर Pichai ने इन सभी जॉब ऑफर को ठुकरा दिया शायद इसका ये भी कारण हो सकता था की Pichai को पहले से ही पता था की उनकी जॉब कही अच्छी जगह लग सकती है और Pichai को अपने उपर पूर्ण आत्मविश्वास था की उनकी जॉब कई अच्छी जगह लगेगी और इन छोटे-मोटे जॉब में फसकर अपने सपनो को  नष्ट नही करना चाहते थे.
और आख़िरकार Pichai की मेहनत ने रंग ला लिया और उन्हें Google की तरफ से job ऑफर मिल गया वो कहते है न की “मेहनत का फल मीठा होता है” और Pichai को अपनी मेहनत का फल मिल ही गया और Pichai ने उस ऑफर को join कर लिया इसी तरह Pichai की Google के साथ सफर शुरू हुआ.

Google से जुड़ने के बाद

अपनी पढाई पूरी करने के बाद Pichai ने वर्ष 2004 में  search toolbar के टीम member के रूप में Google join किया. इनके कार्य करने की क्षमता को देखकर Google के अधिकारी बहुत अधिक प्रभावित हुए और Pichai के सुझाव पर Google ने अपना खुद का एक ब्राउज़र शुरू किया जो की आज बहुत है फेमस (popular) है और उस ब्राउज़र का नाम है Google Chrome. और इस ब्राउज़र बनाने में Pichai का बहुत ही महत्वपूर्ण रोल है, Pichai की देखभाल में ही Google chrome ब्राउज़र का निर्माण हुआ है. Pichai पूर्ण लगन और उनके ही निर्देशन में Google chrome की शुरुआत की गई. इसी के साथ-साथ Google ने अपना खुद का एक Android App (Google play store) निकाला और इसमें भी Pichai ने अपना पूरा योगदान दिया और एक और से अपनी कमान संभाली और अपना पूरा योगदान देकर इस app को पूर्ण किया औए इसे लांच किया गया इस app में भी Pichai का पूर्ण योगदान रहा है.

Pichai की योग्यत और काम करने की कुशलता को देखकर Google के Owner लेरी पेज ने 10 अगस्त 2015 को Pichai को Google के सभी बड़े Products का In charge बना दिया जिसमे मुख्य तोर पर Google का सबसे बड़ा product खुद Google का search engine है. और इसके साथ-साथ Google map, Google+, Google commerce, Google advertisement जैसे कई और मुख्य Product भी शामिल है. सिर्फ और सिर्फ YouTube को छोडकर बाकी सभी बड़े product के In charge है. Pichai ने अपनी पूरी लगन व निष्ठा से अपने काम को संभाला और साथ में ही इन सारे काम को सफलतापूर्वक निपटाया व आज Pichai जो भी है वो आज खुद अपने बलबूते व अपने कार्य के प्रति निष्ठा से आज Pichai इंडिया में Google के पहले CEO जैसे पद पर विद्यमान है और ये उनकी एक महत्वपूर्ण सफलता है.
और इन सबके साथ ही Pichai भारतीय मूल के उन लोगो की list में नाम है जो की 400 अरब dollar का कारोबार करने वाली अन्तर्राष्ट्रीय कंपनियों के शीर्ष पर है जिसमे मुख्यतः Microsoft के सत्य नडेला, पेप्सिको की इंद्रा नूयी, Adobe के शांतनु नारायण, मास्टर कार्ड के अजय बंगा जैसे अनेक नाम पहले से ही शामिल है और अब एक और नाम जुड़ गया है जो की Sunder Pichai है जो की India के Google के पहले CEO है और Sunder Pichai खुद अपनी मेहनत और लगन से इस मुकाम तक पहुचे है.

इस से यह निश्चय है की आने वाले लोगो के लिए Sunder Pichai भारतीयों के लिए एक नये रोल मोडल के रूप में आगे आये है और यह लगता है की Sunder Pichai आने वाले दिनों या महीनो में Pichai भारतियो के लिए प्रेरणा का काम करते रहेगे.

  यह भी जरूर पढ़ें >>
KFC चिकन कंपनी की कामयाबी का रहस्य
फ्लिप्कार्ट का इतिहास
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : जीवन परिचय

loading...

No comments:

Powered by Blogger.