loading...
Breaking News
recent

मुकेश अंबानी की जीवनी | Mukesh Ambani Biography In Hindi


मुकेश अंबानी / Mukesh Ambani का जन्म 19 अप्रैल 1957 को हुआ. उनके पिता का नाम धीरुभाई अंबानी ( Dhirubhai Ambani ) और माता का नाम कोकिलाबेन अंबानी था. उन्हें एक छोटे भाई अनिल अंबानी और दो बहने दीप्ती सलग ओंकार और नीना कोठारी भी है. पूरा अंबानी परिवार 1970 तक मुंबई के भुलेश्वर में 2 बेडरूम के अपार्टमेंट में रह रहा था. बाद में धीरुभाई ने कोलाबा में एक 14 मंजिला अपार्टमेंट ख़रीदा जिसे “Sea Wind” कहा जाता है, जहा अब तक, मुकेश और अनिल अपने-अपने परिवार के साथ अलग-अलग मंजिल पर रह रहे थे.

mukesh ambani के लिए चित्र परिणाम 
Mukesh Ambani Biography In Hindi


 पूरा नाम  –  मुकेश धीरुभाई अंबानी

जन्म   –  19 अप्रैल 1957

जन्मस्थान –  अदेन ( यमन )

पिता    –  धीरुभाई अंबानी

माता   –  कोकिलाबेन अंबानी

विवाह  –  नीता अंबानी ( Mukesh Ambani Wife )


यह भी पढ़े >>कभी ईंट और सीमेंट ढोने वाला मज़दूर अब है 20 कंपनियों का मालिक
 Mukesh Ambani Education : उन्होंने अपने भाई और उनके सहकर्मी आनंद जैन के साथ पेद्दार रोड, मुंबई में हिल ग्रेंज हाई स्कूल में उन्होंने पढाई की. और इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल टेक्नोलॉजी, माटुंगा में उन्होंने केमिकल इंजीनियरिंग में अपनी B.E की डिग्री प्राप्त की. बाद में मुकेश ने Stanford विश्वविद्यालय से MBA करना चाहा लेकिन वे उस से अलग हो गये और रिलायंस बनाने में अपने पिता की मदद करने लगे. जो उस समय भी एक छोटी लेकिन तेज़ी से बढ़ने वाली संस्था थी.

mukesh ambani के लिए चित्र परिणाम

मुकेश धीरुभाई अंबानी भारतीय व्यापर के प्रभावशाली व्यक्ति और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के अध्यक्ष, मैनेजिंग डायरेक्टर और सबसे बड़े शेयरहोल्डर है. रिलायंस कंपनी विश्व की 500 सौभाग्यशाली कंपनी में शामिल है और मार्केट वैल्यू के हिसाब से भारत की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है. वो विश्व की सबसे महँगी संपत्ति एन्टीलीया बिल्डिंग में रहते है. उन्होंने अपनी कंपनी का 44.7% स्टैक पकड़ कर रखा है. वे धीरुभाई अम्बानी के बड़े बेटे और अनिल अंबानी के भाई है. RIL विशेषतः पेट्रोलियम रसायन (Refining Petrochemical) और तेल और गैस क्षेत्र से समझौता करती है. रिलायंस रिटेल लिमिटेड जो RIL की ही एक सहायक कंपनी है, वह भी भारत की सबसे बड़ी रिटेलर कंपनी है.
यह भी पढ़े >>व्हाट्सअप का इतिहास
2014 में, फोर्ब्स के 2010 के 100 सर्वाधिक शक्तिशाली और ताकतवर लोगो की सूचि में उन्हें शामिल किया गया. वो फ़ोर्ब्स की “68 सबसे महत्वपूर्ण लोग” की सूचि में भी शामिल है. 2013 में वह भारत के सबसे अमिर और एशिया के दुसरे सबसे अमीर व्यक्ति कहलाये. अम्बानी ने अपने इस शीर्षक (भारत के सबसे अमीर व्यक्ति) को 9 सालो तक बरक़रार रखा. रिलायंस की ही तरह उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाईसी मुंबई इंडियन्स को भी ख़रीदा. 2012 में, फ़ोर्ब्स ने उन्हें विश्व के सबसे अमिर “Sport Owner” का सम्मान दिया.

उन्होंने बैंक ऑफ़ अमेरिका कारपोरेशन और इंटरनेशनल एडवाइजरी बोर्ड ऑफ़ फॉरेन रिलेशन के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर की तरह सेवा की. वे भारतीय मैनेजमेंट संस्था, बंगलौर के अध्यक्ष भी रह चुके है, जो भारत की सर्वोच्च व्यापार स्कूल के नाम से जानी जाती है.

Mukesh Ambani Life – मुकेश अंबानी का वैयक्तिक जीवन :


मुकेश अंबानी ने नीता अंबानी से शादी की और उन्हें दो बेटे और एक बेटी हुई ,जिनका नाम  ( Mukesh Ambani Son ) अनंत, आकाश और बेटी  ईशा है. वो अपने निजी मकान 27-स्टोरी बिल्डिंग, मुंबई में रहते है जिस बिल्डिंग का नाम एंटीलीया रखा गया है जिसकी विदेशी कीमत US$ 1 बिलियन है और ऐसा कहा जाता है की इतिहास की ये सबसे महँगी बिल्डिंग है.
31 मार्च 2012 के राजस्व वर्ष के अंत में, मुकेश ने ये बताया की रिलायंस इंडस्ट्री का मुख्य होने के नाते वो हर साल उनके 240 मिलियन पगार को त्याग देंगे. उन्होंने ऐसा प्रति वर्ष करने का इरादा किया ताकि वे अपने मैनेजमेंट को ज्यादा से ज्यादा सुविधाए प्रदान कर सके और अपनी इंडस्ट्री को और अधिक बढ़ा सके. और इस तरह से 4 थे वर्ष में लगभग 150 मिलियन पगार उन्होंने बचाया.
यह भी पढ़े >>कॉमेडी किंग कपिल शर्मा की जीवनी और सफलता का राज
Mukesh Ambani Wealth Business Career – मुकेश अंबानी का बिज़नेस करियर :


1980 में, इंदिरा गाँधी की भारतीय सरकार ने PFY (Polyster Filament Yarn) को खोला ताकि प्राइवेट क्षेत्र विकसित हो सके. तभी धीरुभाई अंबानी ने लाइसेंस के लिए आवेदन किया ताकि वे एक PFY प्लांट खोल सके. उस समय उस क्षेत्र में टाटा, बिरला और 43 दूसरी कंपनियों से कड़ी टक्कर के बावजूद वह लाइसेंस धीरुभाई को दिया गया. अपने इस PFY प्लांट को आगे बढ़ाने के लिए धीरुभाई को किसी की मदद की जरुरत थी इसलिए उन्होंने Stanford University में पढ़ रहे बेटे मुकेश अंबानी को अपनी मदद के लिये बुलाया. बाद में मुकेश ने रिलायंस पोलिस्टर में मदद करना बंद कर दिया और 1981 में फिर रिलायंस पेट्रोलियम रसायन को शुरू किया गया.

mukesh ambani के लिए चित्र परिणाम

और  मुकेश अंबानी ने रिलायंस इन्फोकॉम लिमिटेड (अभी रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड) की स्थापना की. जिसका मुख्य उद्देश भारत के जानकारी और कम्युनिकेशन तंत्रज्ञान क्षेत्र में ध्यान देना था.

अंबानी आगे बढ़ते गये और उन्होंने दुनिया का सबसे बड़ा पेट्रोलियम रिफायनरी, जामनगर, भारत में बनाया. जिसकी 660000 (33 मिलियन टन प्रति वर्ष) बैरल प्रति दिन भरने की क्षमता है, जो 2010 में भारत की सर्वाधिक प्रचलित पेट्रोलियम क्षेत्र और पॉवर जनरेशन के मामले में उच्च दर्जे की इंडस्ट्री थी.

18 जून 2014 को मुकेश अंबानी रिलायंस की 40 वे एनुअल जनरल मीटिंग को सम्बोधित करते हुए कहा की वो आने वाले 3 सालो में 1.8 ट्रिलियन रुपये अलग-अलग व्यवसाय में इन्वेस्ट करेगी।
 यह भी पढ़े >>सुरों के बादशाह सोनू निगम की बायोग्राफी
loading...

No comments:

Powered by Blogger.