loading...
Breaking News
recent

तम्बाकू एवं धुम्रपान छोड़ने के तरीके | Tambaku Evam Dhumrapan Chodne Ke Tarike In Hindi

How To Quitting Smoking and Tobacco In Hindi Essay : तम्बाकू व धुम्रपान : कारण, लक्षण, बचाव एवं उपचार - : तम्बाकू एक धीमा जहर है जो सेवन करने वाले व्यक्ति को धीरे धीरे करके मौत के मुँह मे धकेलता रहता है l लोग जाने अनजाने मे तम्बाकू उत्पादों का सेवन करते रहते है, धीरे धीरे शौक लत मेँ परिवर्तित हो जाता है और तब नशा आनंद प्राप्ति के लिए नहीं बल्कि ना चाहते हुए भी किया जाता है .

तम्बाकू उत्पादों का सेवन अनेक रूप में किया जाता है, जैसे बीड़ी ,सिगरेट, गुटखा, जर्दा, खैनी, हुक्का ,चिलम आदि l सिगरेट, बीडी और हुक्के का हर कश एवं गुटखे, जर्दे, खैनी की हर चुटकी हर पल मौत की ओर ले जा रही होती है.

तम्बाकू व धूम्रपान छोड़ने के उपाय के लिए चित्र परिणाम 
तम्बाकू एवं धुम्रपान पर निबंध (Hindi Essay on World No Tobacco Day )

यह भी पढ़े >>बाई करवट सोने के लाभ
तम्बाकू उत्पादों के सेवन से नुकसान / Harmful effects of tobacco in Hindi

 तम्बाकू में मादकता या उतेजना देने वाला मुख्य घटक निकोटीन (Nicotine) है यही तत्व सबसे ज्यादा घातक भी है.

इसके अलावा तम्बाकू मे अन्य बहुत से कैंसर उत्पन्न करने वाले तत्व पाये जाते है।

धुम्रपान एवँ तम्बाकू खाने से मुँह् ,गला, श्वासनली व फेफडोँ का कैंसर (Mouth, throat and lung cancer ) होता है.
    दिल की बीमारियाँ (Heart Disease )
    धमनी काठिन्यता,उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure )
    पेट के अल्सर (Stomach Ulcer ),
    अम्लपित (Acidity),
    अनिद्रा (insomnia) आदि रोगों की सम्भावना तम्बाकू उत्पादों के सेवन से बढ़ जाती है।
यह भी पढ़े >>पानी पीने का सही समय
तम्बाकू की लत के कारण / Cause of tobacco addiction in Hindi

कभी दूसरों की देखा देखी, कभी बुरी संगत मे पडकर कभी मित्रो के दबाब में, कई बार कम उम्र मेँ खुद को बडा दिखाने की चाहत में तो कभी धुएँ के छ्ल्ले उडाने की ललक,कभी फिल्मों मे अपने प्रिय अभिनेता को धूम्रपान करते हुए देखकर तो कभी पारिवारिक माहौल का असर तम्बाकू उत्पादों की लत का कारण बनता है. lअधिकतर लोग किशोरावस्था या युवावस्था मेँ दोस्तोँ के साथ सिगरेट, गुट्खा, जर्दा, आदि का शौकिया रूप मेँ सेवन करते है शौक कब आदत एवँ आदत लत मे बदल जाती है पता ही नहीं चलता और जब तक पता चलता है तब तक शरीर को बहुत नुक्सान पहुँच चुका होता है।

तम्बाकू व धूम्रपान छोड़ने के उपाय के लिए चित्र परिणाम 
तम्बाकू एवं धुम्रपान छोडने के उपाय (Tambaku Evam Dhumrapan Chodne Ke Upay )

यह भी पढ़े >>किस दिशा में सोना चाहिए ?
धूम्रपान, जर्दा, खैनी आदि नशा छोडने के उपाय ( How to quit tobacco/ smoking  in Hindi

1. नशा छोड्ने का मन से निश्चय करेँ।

2. यदि नशा एक बार मेँ झटके से छोड्ना मुश्किल लगे तो धीरे धीरे मात्रा कम करते हुए छोड़ें।

3. सभी मित्रोँ,परिचितों को बता दें कि आपने नशा छोड दिया है ताकि वे आपको नशा करने के लिये बाध्य ना करेँ।

4. डायरी लिखेँ कि आप कब और कितनी मात्रा मे नशा करते हैं क्या कारण है जो आपको नशा करने के लिये प्रेरित होते  हैं।

5. अपने पास सिगरेट, गुटखा, तम्बाकू, एवँ माचिस आदि रखना छोड देँ।

6. खान पान एवं लाइफ स्टाइल में सुधार करें।

नशा छोड़ने के आयुर्वेदिक तरीके / Ayurvedic Ways to Quit Tobacco / Smoking

7. 50 ग्राम सौंफ एवँ इतनी ही मात्रा मेँ अजवायन लेकर तवे पर भूने, थोडा नींबू का रस एवँ हल्का काला नमक डाल लेँ l एक डब्बी में रखकर अपनी जेब में रख लें l जब भी सिगरेट एवँ तम्बाकू आदि की तलब लगे तो कुछ दाने मुँह मेँ रख लेँ एवं चबाते रहे इससे तलब कम होगी,अजीर्ण ( indigestion),अरुचि (Anorexia),गैस (Gas,Acidity) में आराम मिलेगा।
8. गुनगुने पानी मे नींबू का रस एवँ शहद डालकर पीना तलब को कम करता है तथा नशे के विषाक्त तत्वों को शरीर से बाहर निकालता है।

9. एक पुडिया मे सूखे आँवले के टुकडे, इलायची ,सौंफ, हरड के टुकडे रखेँ ताकि जब तलब लगे तो कुछ टुकडे मुँह में रखें और चबाते रहें इनसे तलब ( Craving) तो कम होती ही साथ ही खट्टी डकार ,भूख ना लगना (Lack of appetite ),पेट फूलने में आराम मिलता है।

नशा छोड़ते वक़्त क्या परेशानी आ सकती है ? / Withdrawal Symptoms in Hindi

सिगरेट ,बीडी,एवं अन्य तम्बाकू उत्पादोँ का नशा छोड्ने पर अनेक लक्षण उत्पन्न हो जाते है जो बहुत परेशान करते है इन्हे विड्रावल लक्षण ( Withdrawal Symptoms ) कहते है जैसे:

    चिंता ( Stress,anxiety)
    बेचैनी (Restlessness)
    भूख ना लगना (Lack of appetite )
    ह्रदय की धडकन बढना (Palpitation)
    नींद ना आना (Lack of sleep)
    ज्यादा पसीना आना (Excessive sweating)
    नशे की तीव्र इच्छा होना ( Craving )
    अवसाद ( Depression )
    सिर दर्द आदि .

यह भी पढ़े >>दांत दर्द कैसे दूर करें घरेलू उपचार
यदि लक्षण ज्यादा गम्भीर ना हों जो कि इस बात पर निर्भर करते हैं कि व्यक्ति नशा कितने समय से और कितनी मात्रा मे कर रहा है तो ऐसी स्तिथि मे आयुर्वेद की जड़ी बूटियां एवं औषधियां बहुत फायदेमंद होती हैं, जैसे-असगंध ,ब्राह्मी, शंखपुष्पी, जटामांसी ,आंवला ,हरड, त्रिफला,मुलहठी ,सौंफ,इलायची,लवण भास्कर ,द्राक्षासव,अश्वगंधा अवलेह,अग्निटुंडी आदि बहुत उपयोगी हैं जिन्हे चिकित्सक की राय से सेवन किया जा सकता हे। 

मेरी विधि (My Method) : Vipin Pareek

मेरा मानना है दुनिया में सबसे बड़ी चीज है तो वो है हमारा सकंल्प,अगर हम किसी भी चीज का पुरे मन से संकल्प कर ले तो दुनिया की कोई ताकत हमे हरा नही सकती। अगर आप वाकई में छोड़ना चाहते हो और छोड़ नही पा रहे हो तो कही न कही  संकल्प मात्र में कमी है आज आप मेरी एक छोटी सी विधि भी काम में लेकर देख लो। आप कुछ समय के लिए एक कमरे में एकांत में आजाओ और जब तुम एकांत में हो तो तीन बार गहरी साँस लो और अब अपनी आँखे बंध कर के अपने चेतन मन में यह बात पूरी तरह से बैठा दो की बस बहुत हुआ अब दुनिया की कोई ताकत कोई बुरी सकती मुझे इस कचरे के सेवन के लिए बाध्य नही कर सकती। आज में ये सब छोड़ रहा हूँ किसी में दम हो तो आजाओ।  भाड़ में जाये गुटका भाड़ में जाए तम्बाकू , आज से में मेरा जीवन मेरे तरीके से जिऊँगा और साथ ही आप को यह भी संकल्प लेना है की सिर्फ में ही नही जो कोई भी इस रोग इस बीमारी से परेशान है उन की मदद करूँगा। और उसी समय एक एक ग्रुप तैयार कीजिये अपने परिजनों या अपने दोस्तों के साथ मिलकर और जो कोई भी इस बीमारी के जाल में फसा है उन की मदद कीजिए।

ये तरीका आप को बाकि किसी भी साइट पर नही मिलेगा ये तरीका मेने इस लिए लिखा है क्योकि मुझे पता है अगर में ये तरीका नही बताता तो एक बार तो आप में जोश जगता आप छोड़ देते पर कुछ दिनों बाद वापस आप वेसे ही हो जाते। मेने बहुत से लोगो को देखा है वो कोशिश करते है पर छोड़ नही पाते क्योकि हम किसी भी साइट या कोई विडियो से वो शिक्षा तो ले लेते है वह चीज हमारे दिमाक तक तो पहुच जाती है पर दिल तक नही बात दिल पर लगनी बहुत जरुरी है।  सिर्फ दिमाक में रखने से एक या दो दिन में वो बात हमारे दिमाग से निकल जाती है और हम फिर उस जाल में फस जाते है इस लिए मेने ये तरीका आप को बताया ताकि आप का संकल्प आप के दिमाक तक ही सीमित न रहे।

अगर आप इस में कामयाब होते हो और कोई उपाय या तरीका आप के पास भी हो तो हमें जरूर बताये ताकि हम बाकि विजिटरों को भी वह तरीका बता सकते उनकी मदद कर सके।

आप के दुश्मन आप को कभी नहीँ कहेंगे की आप : गुटका , खैनी , सिगरेट या शराब छोड़ दे बल्कि वह चाहते ही यही है आप ये सब खाए और जल्दी  मर जाएं वह चाहते है परिवार और समाज में आप की इज्जत कम हो वह तो चाहते ही यही है पर जो तुम्हारे अपने है सिर्फ वही तुम्हे कहेंगे की मत खाओ इन्हें क्योकि वो जानते है अगर तुम्हे कुछ हो गया तो उनका क्या होगा। उनकी बात मानो वो तुमसे प्रेम करते है बदले में उन्हें प्रेम दो उन्हें स्वीकार करो वो तुम्हारे अपने है और गुटका , खैनी और सिगरेट व शराब इन्हें अपने से दूर करो। यह मात्र कचरा है इन्हें आज से ही बंद करों।
में आशा करता हूँ की Madhushala.info की ये पोस्ट आप की पूरी सहायता करें तम्बाकू एवं धूम्रपान छोड़ने में !
यह भी पढ़े >>आंवला के गुण फायदे एवम उपयोग
loading...

No comments:

Powered by Blogger.