आलू चिप्स का बिज़नस कैसे शुरू कर सकते हैं - Aloo Chips Potato Chips Business Plan in Hindi

आलू चिप्स बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करे, लागत, मुनाफा और जरुरी बातें | Business of Aloo Chips, Profit Margin,Machineries Requirements, Cost in Hindi
aloo chips kaise banate hai - हमारे देश में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाली सब्जियों में से आलू एक है. देश के किसी भी प्रान्त में चले जाएं, हमे आलू से बने व्यंजन जरूर ही मिल जायेंगे. यही स्थिति चिप्स के बारे में भी है. हमारे देश मे आलू की चिप्स बहुत लोकप्रिय चिप्स है. चिप्स तो और कई फलो की भी बनती है, लेकिन उनकी प्रसिद्धि आलू चिप्स के स्तर की नही है.

आलू चिप्स बिज़नेस के अवसर (Scope of Aloo Chips Business)

यदि इसी बात को बिज़नेस के नजरिये से देखे तो हम समझ सकते है कि आलू की चिप्स का बहुत बड़ा बाजार है. व्यक्ति हर मौसम में इसका उत्पादन कर सकता है. क्योंकि आलू हमारे देश मे पूरे साल उपलब्ध रहती है. यदि इसकी खपत की बात करे तो यह पूरे साल इस्तेमाल किये जाने वाला चिप्स है. अधिकतर लोग इसका इस्तेमाल व्रत के दौरान भी करते है, और आम दिनों में तो यह इस्तेमाल होता ही है. इसलिए यदि कोई आलू की चिप्स बनाने का बिज़नेस शुरू करना चाहता है, तो बिल्कुल कर सकता है.
 
आलू चिप्स के लिए आवश्यक मशीने (Aloo Chips Business Machineries)
Potato Peeling Machine - आलू छीलने की मशीन
Potato Slicing Machine - आलू काटने की मशीन
Batch Fryer - चिप्स तलने की मशीन
Spice Coating Machine - चिप्स पर मसाला चढ़ाने की मशीन
Machine For Packing - चिप्स पैक करने की मशीन
ये सभी मशीनें शहर की किसी भी मशीन विक्रेता के यहाँ आसानी से उपलब्ध होती है. इसके अलावा इन मशीनों को IndiaMART जैसी ऑनलाइन साइट से भी खरीद सकते है.

आलू चिप्स में लगने वाला कच्चा माल(Aloo Chips Business Raw Material)

आलू चिप्स बनाने में बहुत ही आसान है. इसमे इस्तेमाल होने वाला कच्चा माल आसानी से घर के आस पास ही मिल जाएगा.
  1. इसके लिए सबसे ज्यादा आलू की जरूरत होती है. आलू भी दो तरह के होते है. एक साधारण आलू जो हम सब्जियों में उपयोग करते है. इसके अलावा एक खास आलू भी होता है, जो स्वाद में मीठा होता है. चिप्स के लिए किसी का भी उपयोग कर सकते है.
  2. नमक स्वादानुसार
  3. मिर्च पाउडर, चाट पाउडर, और चाट मसाला

आलू चिप्स बनाने का तरीका (Tips for Aloo Chips Business)


  • सबसे पहले आलू के भंडार में से अच्छे और खराब आलू को अलग अलग कर ले. खराब आलू किसी भी काम के नही होते, साथ ही ये स्वास्थ्य को नुकसान भी पहुचा सकते है. इसलिए यह काम सावधानी से करे.
  • इसके बाद अच्छे आलू को एक बार अच्छे से धो ले, और उनमे से छिलका निकाल दे. यह काम हाथ के द्वारा कर सकते है. पर सुविधा और समय बचाने के लिए आप इस काम के लिए पोटैटो पीलिंग मशीन का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • अब इन छिले हुए आलुओं को एक बार फिर अच्छी तरह धो ले. आलू धुलने के बाद इन आलुओं को बहुत ही पतले पतले slice में काटना है. इनकी मोटाई 4mm से 5mm होना चहिए. इस के लिए Slicing Machine का उपयोग भी किया जा सकता है. अब इन कटे हुए आलुओं को कुछ देर के लिए ठंडे पानी मे डाल दे.
  • अब इन कटे हुए टुकड़ो को पानी से निकाल कर Bisulpite Solution के साथ Blanch करें. इसके बाद इनमे से अतिरिक्त पानी निकालने के लिए इन्हें Dewatering Machine पर भेजा जाता है. जो अतिरिक्त पानी निकाल देता है.
  • अब जब ये आलू अच्छी तरह सूख जाए, तब इन्हें फ्राई करने के लिए भेजा जाता है. इसके लिए Batch फ्रायर Machine का उपयोग किया जाता है. इस पर इन आलू की slices को लगभग 2 मिनट तक 180०C के तापमान पर सेका जाता है.
  • इस प्रक्रिया के बाद फ्राई किये गए चिप्स को मसाला कोटिंग के लिए आगे भेजा जाता है. इसी के साथ चिप्स बनाने की प्रक्रिया पूरी हो जाती है. अब इन्हें पैकिंग के लिए आगे भेज दिया जाता है.

  • आलू चिप्स में कितनी लागत और मुनाफा है? (Investment and Profit Margin in Aloo Chips Business)

    आलू चिप्स हमारे देश मे काफी प्रचलित है, क्योंकि इसे व्रत रखने वाले लोग अधिकतर अपना सबसे पसंदीदा आहार मानते है. यदि इस पूरे बिज़नेस की लागत की बात की जाए तो मशीनो को खरीदने में कम से कम 1 से 2 लाख लग जायेंगे. वहीँ यदि इससे मिलने वाले मुनाफे की बात करे तो यह असीमित हो सकता है. लेकिन सामान्य शुरुआत करने पर भी महीने का 30 से 40 हजार रुपये कमाये जा सकते है. इसके बाद यदि आपके चिप्स की quality अच्छी है, और इसके साथ ही आपने चिप्स मार्केटिंग करने में अच्छा ध्यान दिया है, तो आप ज्यादा कमाई कर सकते है.

    आलू चिप्स को कहां और कैसे बेचे

    आलू चिप्स तो बन गए, लेकिन जो सबसे बड़ी दुविधा होती है कि इन चिप्स को कहां पर बेचे? इसके लिए सबसे बेहतर उपाय है कि शहर की थोक दुकानों में आप संपर्क करे और उनसे अपना प्रोडक्ट बेचने के लिए संबंध स्थापित करे. यदि संभव हो सके तो इन दुकानदारों का प्रॉफिट वाला हिस्सा शुरू में कुछ ज्यादा रखे, जबकि अपना प्रॉफिट कम रखे. ऐसा करने पर ये आपके लिए एक बेहतर और वफादार ग्राहक बन जायेंगे.

    आलू चिप्स का बिज़नेस शुरू करने के लिए जरूरी लाइसेंस (Aloo Chips Business License)

    • आपको यह बिज़नेस शुरू करने के लिए कुछ जरूरी कार्यवाही करनी होगी, जिससे आपका बिज़नेस एक मान्यता प्राप्त बिज़नेस बन सके.
    • सबसे पहले आपको यह निर्धारित करना पड़ेगा कि आपका बिज़नेस कितना व्यापक होने वाला है. इसके लिए सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (MSME) में रजिस्ट्रेशन कराना होगा.
    • अपने शहर के नगर निगम में बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन कराना होगा.
    • बिज़नेस के नाम एक चालू खाता और पैन कार्ड की जरूरत पड़ेगी.
    • फ़ूड सेफ्टी एंड स्टैण्डर्ड अथॉरिटी आफ इंडिया (FSSAI) एक ऐसी संस्था है, जो खाद्य पदार्थो की गुणवत्ता के लिए जिम्मेदार होता है. इसलिए यह बिज़नेस शुरू करने के लिए FSSAI से लाइसेंस प्राप्त करना अनिवार्य होता है.
    आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके अवश्य बताएं. आलू चिप्स से जुड़े किसी भी सवाल के लिए हमें कमेंट करें.

    No comments:

    Powered by Blogger.