हमारे देश का नाम भारत कैसे पड़ा? - What is the Meaning of India

bharat ka name bharat kyo pada - हम जिस देश में रहते है उस देश के बारे में जानकारी रखना हमारा पहला कर्त्तव्य है हालांकि हम से ज्यादातर लोग इस बात ये अनजान है कि हमारे देश का अधिकारिक नाम क्या है और उसे ये नाम क्यों दिया गया है? वैसे तो इस सवाल में ज्यादा सोच विचार करने वाला कुछ नहीं है क्योंकि हमारे देश का अधिकारिक नाम हिंदी में भारत और इंग्लिश में इंडिया है। और इसकी पुष्टि आप इसे लगा सकते है कि भारत सभी सरकारी दफ्तरों में हिंदी में भारत सरकार और इंग्लिश इंडिया है।

और ये नाम संविधान में भी उल्लेखित है यानी कि आप भारत को चाहे कितने भी नामों से बुलाए लेकिन इसका अधिकारिक नाम भारत ही है। हालांकि भारत को हिंदुस्तान, आर्यावर्त, जम्बूद्वीप के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन पंपरागत धरोहर के कारण संविधान में भी देश का नाम भारत ही रखा गया। लेकिन क्या आप जानते है भारत को भारत नाम कैसे मिला या फिर इंग्लिश में भारत को इंडिया ही क्यों कहा जाता है?

क्या आप जानते हैं हमारे देश का नाम भारत कैसे पड़ा? – What is the Meaning of India

दरअसल भारत को भारत नाम दिए जाने को लेकर दो कहानियां मशहूर है। कुछ वेदांतों का मानना है कि चंद्रवंशी राजा दुष्यंत और विश्वामित्र की बेटी शकंतुला के पुत्र भरत के नाम पर हमारे देश को भारत बुलाया जाता है। हालांकि ऋग्वेद के अनुसार भारत का नाम सूर्यवंशी राजा भरत के नाम पर भारत पड़ा। ऋग्वेद की व्याख्या करने वाले वेदांतो के अनुसार मनु के वंशज ऋषभदेव के के दो पुत्र थे भरत और बाहुबली। बाहुबली को वैराग्य प्राप्ति के बाद भरत को चक्रवती सम्राट बनाया गया था।
और तभी से हमारे देश को भारतवर्ष कहा जाने लगा। और भरत के सभी वंशज और इस देश में मूल रुप से रहने वाले लोग भारती कहलाए। और शायद यही वजह भी रही होगी कि पांडवो और कौरवों के बीच हुए युद्ध को महाभारत कहा गया। क्योंकि महाभारत की व्याख्या करने वालों का कहना है कि महाभारत का युद्ध भारतीयों में हक के लिए ही था इसलिए इसे महाभारत युद्ध का नाम दिया गया।
भारत को इंडिया कब कहा जाने लगा
भारत को इंग्लिश में इंडिया ही क्यों कहते है इसके पीछे कोई तर्क नहीं है। हां लेकिन शायद हम भारत को इंडिया इसलिए कहते है क्योंकि ये नाम ब्रिटिशस ने भारत को दिया था। इण्डिया शब्द की उत्पत्ति सिंधु शब्द से हुई है जो पहली बार यूनानियों के दारा प्रचलित हुआ था।
इसके अलावा भारत को हिंदुस्तान और आर्यावर्त भी कहा जाता है।
हिंदुस्तान या आर्यावर्त को क्यों नहीं मिला अधिकारिक नाम का दर्जा
भारत और इण्डिया को आधिकारिक नाम का दर्जा प्राप्त है यानी आप हर सरकारी कागज, दफ्तर या लीगल पेपर्स पर अपने देश का नाम हिंदी में भारत और अंग्रेजी में इंडिया ही लिखा हुआ देंखेगे। हालांकि भारत को हिंदुस्तान के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन शायद संविधान में इस शब्द को जगह इसलिए नहीं मिली होगी क्योंकि ये शब्द एक धर्म के लोगों को अंकित करता है जबकि भारत धर्मनिरपेक्ष देश है। हालांकि हम अपने देश को भारत कहे या इंडिया या फिर हिंदुस्तान। देश के प्रति भावना एक समान होनी चाहिए।

No comments:

Powered by Blogger.