भगवान महावीर के अनमोल वचन | Bhagwan Mahavira Quotes in Hindi

महावीर स्वामी अहिंसा के प्रतीक थे। उन्होंने ‘जीयो और जीनो दो’ के संदेश को अपनाया।  आज हम आप के लिए उन के कहे हुए कुछ विचार लेकर आए है। जिनको हम हमारे जीवन में उतार कर इस जीवन को और ज्यादा सुंदर बना सकते है। 
Bhagwan Mahavir Ke Updesh :
यह भी पढ़े >>सफलता के मत्र : रतन टाटा के विचार

भगवान महावीर के लिए चित्र परिणाम  
भगवान महावीर ( Bhagwan Mahavira Quotes/Sandesh in Hindi ) 
नाम :  भगवान महावीर/ महावीर स्वामी/ Lord Mahavir
जन्म :  497 BC वैशाली बिहार
निर्वाण :  425 BC पावापुरी, बिहार
अन्य नाम : वर्धमान, अतिवीर, वीर, सन्मति
धर्मं : जैन धर्मं ( 24वें तीर्थंकर)

 यह भी पढ़े >>भगवान श्री राम की मृत्यु कैसे हुई

Bhagwan Mahavir Ke Anmol Vachan :-

Quote 1: All are my friends. I have no enemies.
In Hindi: सभी मेरे मित्र हैं. मेरा कोई शत्रु नहीं है.

Quote 2: Soul is the central point of spiritual discipline.
In Hindi: आत्मा आध्यात्मिक अनुशासन का केंद्रीय बिंदु है.

Quote 3: Do not deprive someone of his livelihood. This is a sinful tendency.
In Hindi: किसी को उसकी आजीविका से वंचित मत करो. यह एक पापी प्रवृत्ति है.

Quote 4 : Modes are infinite, and laws are infinite.
In Hindi: विधि  और प्रणाली अनंत हैं.

Quote 5 : Non-violence is the highest religion.
In Hindi: अहिंसा सबसे बड़ा धर्म है.

यह भी पढ़े >>हजारों वर्षों से जीवित है ये आठ महामानव
Quote 6 : Every soul is independent. None depends on another.
In Hindi: प्रत्येक आत्मा स्वतंत्र है. कोई किसी पर आश्रित नहीं होता है.

Quote 7 : Eating constitutes the greatest obstacle to self-control; it gives rise to indolence.
In Hindi: भोजन आत्म-नियंत्रण के लिए सबसे बड़ी बाधा उत्पन्न करता है; यह आलस को जन्म देता है.

Quote 8 : The most important principle of environment is that you are not the only element.
In Hindi: पर्यावरण का सबसे महत्वपूर्ण सिद्धांत यह  है कि सिर्फ आप ही इसके एकमात्र तत्व नहीं हो.

Quote 9 : The nature of things is dharma.
In Hindi: चीजों की प्रकृति धर्म है.

Quote 10 : It is better to win over self than to win over a million enemies.
In Hindi: स्वयं पर विजय प्राप्त करना लाखों शत्रुओं पर विजय पाने से बेहतर है.

यह भी पढ़े >>एकलव्य के 7 रहस्य जानकर चौंक जाएंगे आप
Quote 11 : Silence and Self-control is non-violence.
In Hindi: शांति और आत्मनियंत्रण अहिंसा है..

Quote 12 : Anger begets more anger, and forgiveness and love lead to more forgiveness and love.
In Hindi: क्रोध और अधिक क्रोध को जन्म देता है, और क्षमा और प्रेम और अधिक क्षमा और प्रेम को जन्म देते हैं.

Quote 13 : Live and allow others to live; hurt no one; life is dear to all living beings.
In Hindi: जियो और दूसरों को भी जीने दो; किसी को दुःख मत दो, सभी प्राणियों का जीवन उनके लिए प्रिय ही होता है.

यह भी पढ़े >>इस बैंक में आप के लिए 86,400 रूपये जमा है
Quote 14  : Attachment and aversion are the root cause of karma, and karma originates from infatuation. Karma is the root cause of birth and death, and these are said to be the source of misery. None can escape the effect of their own past karma.
In Hindi: लगाव और घृणा कर्म का मूल कारण हैं, और कर्म मोह से निकलती है. कर्म जन्म और मृत्यु का मूल कारण है, और इन्हें  दुख का स्रोत कहा जाता है. कोई भी अपने अतीत के कर्म – प्रभाव से बच नहीं सकता.

Quote 15 : There is no enemy out of your soul.The real enemies live inside yourself, they are anger, proud, greed, attachments and hate.
In Hindi:  आत्मा से परे कोई भी आपका दुश्मन नहीं है. असली शत्रु तो आपके भीतर विद्यमान हैं. वे हैं – क्रोध, अहंकार, लोभ और घृणा.

Quote 16 : Respect for all living beings  is non‑violence.
In Hindi: सभी जीवों के प्रति सम्मान अहिंसा है.

Quote 17  : There is no separate existence of God. Everybody can attain God-hood by making supreme efforts in the right direction.
In Hindi: ईश्वर का अलग से कोई अस्तित्व नहीं है. हर कोई सही दिशा में सर्वश्रेष्ट प्रयास कर के देवत्त्व को प्राप्त कर सकता है.

Quote 18 : By sincerity, a man gains physical, mental and linguistic straightforwardness, and harmonious tendency; that is, congruence of speech and action.
In Hindi:  ईमानदारी से, एक व्यक्ति शारीरिक, मानसिक और भाषाई स्पष्टवादिता और सामंजस्यपूर्ण प्रवृत्ति प्राप्त कर सकता है, यानी कथनी और करनी में अनुरूपता.
यह भी पढ़े >>राजस्थान में है भूतों का गांव : जानिए कुलधरा गांव का इतिहास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *