चंद्र ग्रहण क्यों होता है ? इस दिन भूलकर भी न करें ये काम

Chandra Grahan in Hindi – चंद्र ग्रहण क्यों होता है इस दिन क्या करें ? – आपने चन्द्र ग्रहण  देखा होगा । ये क्यों होता है चाँद को ग्रहण क्यों लगता है ग्रहण क्या होता है ये  किस कारण होता है ।नही पता आपको चलिए हम आपको बताते है ।

चंद्र ग्रहण क्यों होता है ? इस दिन भूलकर भी न करें ये काम – Chandra Grahan in Hindi

ये तो आपको पता ही है कि सूर्य के चक्कर हमारी पृथ्वी लगाती है।और चंद्रमा पृथ्वी के  चक्कर लगाता है।

जब चन्द्रमा पृथ्वी के चक्कर लगा रहा होता है तब  सूर्य  पृथ्वी और चंद्रमा एक ही कक्ष में आ जाते है  ।पृथ्वी के  सूर्य और चन्द्रमा के  बीच मे आने से चन्द्रमा को ग्रहण लग जाता है ग्रहण का मतलब  चन्द्रमा कुछ देर के लिये छिप जाता है यानी पृथ्वी चन्द्रमा को थोड़ी देर तक ढक देती है सूर्य से चन्द्रमा को मिलने वाली किरणों को पृथ्वी रोक देती  है  जिस कारण चन्द्रमा की रोशनी कुछ देर के लिये समाप्त हो जाती है और चन्द्रमा कुछ समय के लिए अदृश्य हो जाता है ।

ये एक साल में दो बार भी हो सकता है एक बार पूरा ”  सर्वग्रास चन्द्र ग्रहण ” और  आधा या आंशिक ग्रहण    “खण्डग्रास चन्द्रग्रहण “।

चन्द्र ग्रहण के समय उसे पहले और उसके बाद क्या करें ।

चन्द्र ग्रहण से  8 से 12 घण्टे पहले  सूतक लगता है कहते इस समय मैं कुछ भी काम ,भोजन आदि नही करना चाहिए और  सभी भोज्य पदार्थों में दाब रख देनी चाहिए जिससे सभी भोज्य पदार्थ ग्रहण के समय खराब ना हो

ग्रहण के समय भोजन ना  करे ।क्योंकि जब ग्रहण होता है तब तो कुछ ऐसी किरणे निकलती है कि उनका भोजन व भोज्य पदार्थों पर असर पडता है और उस समय गर्भवती महिला को भी बाहर नही आना चाहिए क्योंकि बच्चे पर असर पड़ता है इस समय में भगवान का स्मरण करना चाहिए तथा दान -पुण्य करना चाहिए

ग्रहण के पश्चात स्नान करके भगवान की पूजा अर्चना करनी चाहिए और  मंदिर  में खादय सामग्री का दान करें साथ  ही घर मे शुद्ध भोजन बना कर भगवान को भोग लगाकर भोजन ग्रहण करना चाहिए

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *