ग्रीन टी पीने के फायदे | Green Tea Ke Fayde In Hindi

ग्रीन टी पीने के फायदे :- आज के टाइम में बीमारियों ने हम सभी को चारो तरफ से घेर रखा हैं इसलिए सभी अपने इम्यून सिस्टम को दुरुस्त बनाने के लिए कई तरह के नुस्खे अपना रहे हैं | साथ ही स्वस्थ रहने के लिए अपने खान पान में परिवर्तन कर रहे हैं |

green tea के लिए चित्र परिणाम 
ग्रीन टी के फायदे (Green Tea Benefits of Hindi)

ग्रीन टी (Green Tea) एक ऐसी युक्ति हैं जिसमे कई गुण हैं और जो आसानी से बाजारों में मिल जाती हैं | ग्रीन टी (Green Tea) सर्वाधिक मोटापे को कम करने के लिए इस्तेमाल की जाती हैं | ग्रीन टी (Green Tea) के सेवन से मनुष्य के ब्रेन सिस्टम एवम इम्यून सिस्टम भी दुरुस्त होते हैं साथ ही शरीर फुर्तीला बनता हैं |इसका सेवन एक नियमित मात्रा में ही करे | अत्यधिक मात्रा में ग्रीन टी कई व्यक्तियों के लिए हानिकारक भी हो सकती हैं पर यह शरीर की तासीर पर निर्भर करता हैं | इसलिए किसी एक्सपर्ट की सलाह जरुर ले | वैसे भी आज के मिलावटी वक्त में किसी एक्सपर्ट की सलाह एवम जांच पड़ताल के बिना कुछ भी लेना सही नहीं हैं |
यह भी पढ़े >>बाई करवट सोने के लाभ

ग्रीन टी के फायदे :-

    ग्रीन टी (Green Tea)एंटी ऑक्सीडेंट से युक्त हैं :

ग्रीन चाय (Green Tea) में तीन महत्वपूर्ण पदार्थ  है जिनमे ORAC (Oxygen Radical Absorbency Capacity), EGCG (epigallocatechin-3-gallate) एवम polyphenol शामिल हैं जो कि एंटी ऑक्सीडेंट catechin से भरपूर है। यह एंटी ऑक्सीडेंट स्वास्थ्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण हैं |इनमे विटामिन c एवम विटामिन E की प्रचुर मात्रा हैं | अतः इसे सबसे उपयुक्त एंटीएजिंग पदार्थ माना जाता हैं | EGCG एक बहुत अच्छा एंटी ऑक्सीडेंट हैं जो कि शरीर की पुरानी बिमारियों से भी आसानी से लड़ लेता हैं |

    ग्रीन टी (Green Tea) मृत्यु दर को कम करने में सहायक होती हैं :

शोध द्वारा ज्ञात हुआ कि ग्रीन टी (Green Tea) पीने वालों को मृत्यु का खतरा अन्य की अपेक्षा कम रहता हैं |ग्रीन टी (Green Tea) से हृदय रोगियों को राहत मिलती हैं इससे हार्ट अटैक का खतरा कम होता हैं | और आज के समय में हार्ट अटैक से ही अधिक मृत्यु होती हैं जिस पर उम्र का कोई बंधन नहीं रह गया हैं | इस तरह ग्रीन टी (Green Tea)मृत्यु दर को कम करती हैं |

    ग्रीन टी (Green Tea)कैंसर में भी फायदेमंद होती हैं :

एक शौध के अनुसार ग्रीन टी (Green Tea)से ब्रेस्ट कैंसर की बीमारी का खतरा 25 % तक कम होता हैं |यह कैंसर विषाणुओं को मारता हैं और शरीर के लिए आवश्यक तत्व को शरीर में बनाये रखता हैं |

    ग्रीन टी (Green Tea)से वजन कम होता हैं :

ग्रीन टी (Green Tea)से शरीर का मेटाबोलिज्म बढ़ता हैं जिससे उपापचय की क्रिया संतुलित होती हैं और शरीर का एक्स्ट्रा वसा कम होता हैं | और इससे वजन कम होता हैं और साथ ही उर्जा मिलती हैं |

    ग्रीन टी (Green Tea)मधुमेह के रोगियों के लिए भी फायदेमंद हैं :

ग्रीन टी (Green Tea)के सेवन से मधुमेह रोगी के रक्त में शर्करा का स्तर कम होता हैं | मधुमेह रोगी जैसे ही भोजन करता हैं | उसके शर्करा का स्तर बढ़ता हैं इसी लेवल को ग्रीन टी (Green Tea)संतुलित करने में सहायक होती हैं |

    ग्रीन टी (Green Tea)से रक्त का कॉलेस्ट्रोल कम होता हैं :

ग्रीन टी (Green Tea)से शरीर का हानिकारक कॉलेस्ट्रोल कम होता हैं और लाभकारी कॉलेस्ट्रोल का लेवल बनाये रखता हैं |
यह भी पढ़े >>किस दिशा में सोना चाहिए ?

    ग्रीन टी (Green Tea)ब्लडप्रेशर के रोगियों के लिए फायदेमंद हैं :

ग्रीन टी (Green Tea)के सेवन से शरीर का ब्ल्लोद प्रेशर नियंत्रित रहता हैं क्यूंकि यह कॉलेस्ट्रोल के लेवल को बनाये रखता हैं |

    अल्जेरिया एवम पार्किन्सन जैसे रोगियों के लिए ग्रीन टी (Green Tea)फायदेमंद होती हैं :

ग्रीन टी (Green Tea)के सेवन से अल्जेरिया एवम पार्किन्सन जैसी बीमारियाँ धीरे-धीरे बढ़ती हैं |ग्रीन टी (Green Tea)ब्रेन सेल्स को बचाती हैं |और डैमेज सेल्स को रिकवर करते हैं |

    ग्रीन टी (Green Tea)दांत के लिए भी फायदेमंद होती हैं :

ग्रीन टी (Green Tea)में केफीन होता हैं जो दांतों में लगे कीटाणुओं को मारता हैं, बेक्टेरिया को कम करता हैं | इससे दांत सुरक्षित होते हैं |
यह भी पढ़े >>तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदे

    ग्रीन टी (Green Tea)के सेवन से मानसिक शांति मिलती हैं :

ग्रीन टी (Green Tea)में थेनाइन होता हैं जिससे एमिनो एसिड बनता हैं जो शरीर में ताजगी बनाये रखता हैं इससे थकावट दूर होती हैं और मानसिक शांति मिलती हैं |

    ग्रीन टी (Green Tea)से स्किन की केयर होती हैं :

ग्रीन टी (Green Tea)में एंटीएजिंग तत्व होते हैं जिससे चेहरे की झुर्रियां कम होती हैं | और चेहरे पर चमक और ताजगी बनी रहती हैं |इससे सन बर्न ने भी राहत मिलती हैं | स्किन पर सूर्य की तेज किरणों का प्रभाव नहीं पड़ता |
यह भी पढ़े >>आँखों के नीचे डार्क सर्कल हटाने के टिप्स एवम उपाय
ग्रीन टी (Green Tea)में केफीन की मात्रा अधिक होती हैं अतः इसका अत्यधिक सेवन हानिकारक हो सकता हैं | केफीन की अधिक मात्रा मेटाबोलिज्म बढाती हैं जिससे कई लाभ मिलते हैं जो उपर दिए गये हैं लेकिन अधिक मात्रा में केफीन भी शरीर के लिए गलत हो सकता हैं | खासतौर पर गर्भवती महिला या जो महिलायें गर्भ धारण करना चाहती हैं उनके लिए ग्रीन टी (Green Tea)सही नहीं हैं क्यूंकि इससे आयरन और फोलिक एसिड कम होता हैं |

ग्रीन टी (Green Tea)को अदरक, नींबू एवम तुलसी के साथ लेना और भी फायदेमंद होता हैं | ऐसा नहीं हैं कि ग्रीन टी (Green Tea)में केफीन होने से इसके सारे गुण अवगुण हो जाए लेकिन किसी भी चीज की अधिकता नुकसान का रूप ले लेती हैं |
यह भी पढ़े >>नींबू चाय के फायदे जानिए नींबू चाय कैसे बनाए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *