गले की समस्या से तुरंत राहत पाने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे | How To Cure Thought Infection In Hindi

गले का सूखना, एक प्रकार की हेल्थ प्रॉब्लम है, जिसमें खराश, खिचखिच
होती है और मन करता है कि अंदर खुजली कर ली जाए। यहां तक कि जीभ के निचले
हिस्से में भी सरसराहट होती है। यदि आपको भी बरसात के मौसम में गले की ये
समस्या परेशान कर रही है तो अपनाएं ये घरेलू तरीकेज्
 
How To Cure Thought Infection के लिए चित्र परिणाम 
How To Cure Thought Infection In Hindi   
 
1. शहद
एक चम्मच शहद पीने के बाद ऊपर से थोड़ा पानी पी लें। इससे गले को तुरंत राहत
मिल जाती है। कफ की समस्या में भी आराम मिलता है। आप चाहें तो नींबू और
शहद को मिलाकर भी पी सकते हैं।
2. तुलसी की चाय पि‍एं
गले में काफी खराश होने पर तुलसी की चाय काफी राहत दिला सकती है। इससे गले
की सारी समस्याएं दूर हो जाएंगी और इसका कोई साइड इफेक्‍ट भी नहीं होगा।
गर्म पानी में बनी तुलसी का सेवन दिन में दो से तीन बार करने पर एक दिन में
ही काफी राहत मिलेगी।
3. कैंडी
गले में खराश होने पर कैंडी का सेवन करें। मार्केट में खिचखिच दूर करने के
लिए कई प्रकार की कैंडी आती हैं। ये काफी राहत देती हैं और गले की सूजन को
भी दूर कर देती हैं, लेकिन एक दिन में सिर्फ 5 कैंडी का ही सेवन किया जा
सकता है।
4. सूप पिएं
गर्मागर्म सूप पीने से गले को तरावट मिलती है। गले में खराश दिखाता है कि
आपका शरीर डिहाईड्रेट है और आपको लिक्विड की जरूरत है। सूप पिएं, इससे गले
की सिकाई हो जाएगी और खराश से राहत मिल जाएगी।
5. पत्तों का रस
पालक के पत्तों का रस निकाल कर उससे कुल्‍ला करने पर गले की जलन व दर्द
शांत हो जाता है।आम के पत्तों को जलाकर उसका धुआं मुंह से लें। आराम
मिलेगा। तेज पत्ते को पानी में उबालें और उससे गरारे करें। गले में लाभ
होगा।
6. लौकी का रस
लौकी का रस निकाल कर उसमें थोड़ा शहद और चीनी मिलाकर पीने से गले की पीड़ा से राहत मिलती है।
7. फालसे की छाल
फालसे की छाल को पानी में उबाल कर उससे कुल्ला करने से गले के सभी विकार दूर हो जाते हैं।
8. प्याज
प्याज को कुचल कर उसमें जीरा और सेंधा नमक मिलाकर खाने से गले की पीड़ा और जलन में आराम मिलता है।
9. आलू बुखारा
आलू बुखारा चूसने से गले की खुश्‍की मिट जाती है।

 यह भी पढ़े >>आँखों के नीचे डार्क सर्कल हटाने के टिप्स एवम उपाय

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *