रहस्यमयी कुआं – जिसके अंदर से निकलती है रोशनी | Mysterious Initiation Well Story in Hindi

Mysterious Initiation Well Story in Hindi : दुनिया के
लगभग हरेक हिस्से में ऐसी कई जगह मौजूद है जो की पहली नज़र में देखने से
हमको रहस्यमयी नज़र आती है।  विज्ञान की इतनी प्रगति के बावजूद हम लोग वहां
पर होने वाली घटनाओं का कोई निश्चित कारण नहीं जान पाए है।  ऐसी ही एक जगह
पुर्तगाल के सिन्तारा के समीप स्थित हैं, यहाँ पर एक रहस्यमयी कुआं है
जिसकी खासियत यह है की इस कुएं की जमीन के अंदर से रोशनी निकलती है और बाहर
की ओर आती है।

Rahsyamayi Kuan ki kahani 
कुएं के अंदर से आकाश का दृश्य

हैरानी की बात यह है कि इस कुएं के अंदर प्रकाश की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में रोशनी कहां से आती है यह रहस्य है।
 पांच पौराणिक पात्र जो रामायण और महाभारत, दोनों समय थे उपस्तिथ
यह है विशिंग वेल –
इस कुएं को विशिंग वेल भी माना जाता है। लोग इसमें सिक्का डालकर मन्नत
मांगते हैं। माना जाता है कि ऐसा करने से इच्छा पूरी होती है। हालांकि, जो
भी पर्यटक यहां घूमने आते हैं, उनके बीच हमेशा यह सवाल उठता है कि कुएं के
अंदर से आने वाली रोशनी कहां से आती है। लेकिन आज तक यह रहस्य अनसुलझा है।

4 
रहस्यमयी कुआं – जिसके अंदर से निकलती है रोशनी | Mysterious Initiation Well Story in Hindi

इस कुएं की गहराई चार मंजिला इमारत के बराबर है, जो जमीन के अंदर जाते हुए
संकरी होती जाती है। लेडीरिनथिक ग्रोटा नाम का यह कुआं दिखने में उल्टे
टॉवर की तरह है। इस कुएं के पास ही एक अन्य छोटा कुआं है।  दोनों कुएं
सुरंगो के द्वारा एक दूसरे से जुड़े हुए है।  यह कुआं क्यूंटा डा रिगालेरिया
के पास स्तिथ है। क्यूंटा डा रिगालेरिया, यूनेस्को द्वारा संरक्षित वर्ल्ड
हेरिटेज साइट है।

Mysterious Initiation Well Story & History in Hindi

यहां होते थे दीक्षा संस्कार –
इस कुएं का निर्माण पानी को संगृहीत करने के उद्देशय से नहीं किया गया था। 
इसके बजाय इन रहस्यमयी टॉवर नुमा कुओं का प्रयोग गोपनीय दीक्षा संस्कारों
के लिए किया जाता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *