अप्रैल 2020

 मुंबई : नहीं रहें ऋषि कपूर, 67 साल की उम्र में निधन - Rishi Kapoor News Latest Update Today - यह सप्ताह बॉलीवुड के लिए बहुत ही बुरा गया है। साथ ही साथ देश ने भी दो कलाकारों को इस एक सप्ताह में ही खो दिया है। कल इरफान खान और आज ऋषि कपूर का निधन के कारण अब पूरा बॉलीवुड सदमे में है। (30 अप्रेल ऋषि कपूर का निधन )

 मुंबई : नहीं रहें ऋषि कपूर, 67 साल की उम्र में निधन 
ऋषि कपूर कैंसर से पीड़ित थे
कल यानी बुधवार को ऋषि कपूर को मुंबई के एक अस्पताल में अचानक तबियत खराब होने की वजह से भर्ती किया था। उनकी तबियत अचानक बहुत ज्यादा बिगड़ गई थी। इस कारण उन्हें अस्पताल के आईसीयू में भर्ती करवाया गया था। बताया जा रहा है की उन्हें साँस लेने में काफी तकलीफ हो रही थी। इसी के चलते उन्हें आईसीयू में भर्ती करवाया गया था।

लेकिन उनकी तबियत में कोई सुधार नहीं हुआ और अब ऋषि कपूर साहब हमारे बिच में नहीं है। आपको बता दे की 67 साल के ऋषि कपूर कैंसर से पीड़ित थे।

अमिताभ बच्चन ने भी ट्वीट कर अपना दुःख बांटा 
उनके निधन के थोड़े समय बाद अमिताभ बच्चन ने ट्वीट किया की - 'वो गया. ऋषि कपूर गए. अभी उनका निधन हुआ. मैं टूट गया हूं.'  !!

Rishi Kapoor News Latest Update Today
नहीं रहें ऋषि कपूर
कपूर परिवार की और से उनके भाई रणधीर कपूर ने भी ये जानकारी दी है की अब हमारे बिच नहीं रहे ऋषि कपूर, उन्होंने बताया की बुधवार को उन्हें एच एन रिलायंस अस्पताल में भर्ती कराया था। लेकिन उनकी तबियत सही नहीं हो पाई और आज 30 अप्रेल को उनका निधन हो गया है।

बैक टू बैक दो दिग्गज
29 अप्रेल को हिंदी सिनेमा ने इरफ़ान खान को खोया और आज 1 दिन बाद 30 अप्रेल को ऋषि कपूर का निधन, बैक टू बैक दो दिग्गज अभिनेताओं को गवां देना फिल्म इंडस्ट्री के लिए बहुत बड़ा झटका है।  

प्रागैतिहासिक काल : पूरा पाषाण काल, मध्य पाषाण काल, नव पाषाण काल | Purapashan Kaal, Madhyapasan Kaal, Navpasan

UPSC,PCS,RAS,SSC Pre & Mains Exam - दोस्तों जैसा की आप सभी को पता है की 26 अप्रेल से यूट्यूब पर हमने ऑनलाइन क्लासे शुरू कर दी है। आप विपिन पारीक चैनल पर जा कर सभी वीडियो देख सकते हो। सबसे पहले हमने इतिहास की क्लासे शुरू की है जो आप इस वेबसाइट पर भी ऑनलाइन पढ़ सकते हो। ऊपर दिए गए मेनू बटन में "ऑनलाइन क्लास" ऑप्शन पर क्लिक करें और सभी विषयों को फ्री में पढ़े।

आप हमारे यूट्यूब चैनल से भी जुड़ सकते हो जहाँ पर सभी विषयों को टॉपिक वाइज पढ़ाया गया है।

आज ही जॉइन करे हमारी यूट्यूब क्लास - ऑनलाइन कोचिंग 
वेबसाइट पर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे - ऑनलाइन क्लास


# पुरा पाषाण काल #
समय  - 25 लाख ई.पू. से 10 हजार ई.पू.

इस काल के लोग शिकारी या आखेटक हुआ करते थे।  इन्हे पशुपालन का ज्ञान नहीं था। इस समय के मानव को आग का ज्ञान तो था लेकिन उसका उपयोग करना नहीं जानते थे .

पुरापाषाण काल लगभग एक लाख वर्ष तक रहा. उसके बाद मध्यपाषाण या मेसोलिथिक युग (Mesolithic Age) आया. बदले हुए युग में कई परिवर्तन हुए. जीवनशैली में बदलाव आया. तापमान में भी वृद्धि हुई. साथ-साथ पशु और वनस्पति में भी बदलाव आये.
"पूरी जानकारी के लिए ये वीडियो देखें "
"पूरी जानकारी के लिए ये वीडियो देखें "

सीने (छाती) में जलन के कारण और उपाय - Seene (Chati) Ki Jalan Ke Karan aur Gharelu Upay - कई बार सीने में जलन, भारीपन और बेचैनी की समस्याएं देखी गई है। यह समस्या आज कल के युवाओं में ज्यादा देखने को मिली है।

दोस्तों सीने (छाती) में जलन के कई कारण हो सकते है। आज कल की अनियमित जीवनशैली और गलत खान - पान के कारण भी बहुत सी बीमारियाँ सामने आ रही है। इसी में एक है सीने में तेज जलन का होना। तो आइये जानते है किस कारण सीने में जलन होती है और इसे सही करने के घरेलू उपाय क्या - क्या है।

Seene (Chati) Ki Jalan Ke Karan aur Gharelu Upay
सीने (छाती) में जलन के कारण और उपाय

भारी मात्रा में भोजन 
जी हाँ दोस्तों कई बार ज्यादा खाना खाने या रात्रि में भारी भोजन करने  के कारण भी यह समस्या हो जाती है। या फिर अगर किसी को मोटापे की समस्या है उन्हें भी सीने में जलन संबंधित समस्या हो सकती है।

उपाय - सुबह - सुबह खाली पेट एक चमच्च पानी के साथ अजवान का सेवन करो। आप चाहो तो आटे में भी अजवान का उपयोग कर सकते हो इससे खाना भी स्वाद बनेगा और रोग भी दूर होंगे।

भोजन के तुरंत बाद सोना 
कुछ लोगो की आदत होती है की वह भोजन के बाद भारी मात्रा में पानी पीते है और तुरंत सो जाते है। ऐसे में भोजन सही से पाचन नहीं हो पाता और यह समस्या हो जाती है।

उपाय - भोजन करने के बाद कम से कम 1 घंटा टहलो और बाद में ही पानी पीयो।

एसिडिटी का होना 
कई बार पेट में बनी एसिडिटी अगर ज्यादा मात्रा में हो तो वह सीने में ऊपर उठने लगती है।

उपाय - ऐसे में तुरंत टहलना शरू करें। भोजन में नीम्बू का उपयोग करें।

तम्बाकू और स्मोकिंग 
अगर आप तम्बाकू का सेवन करते हो या अचानक आपने तम्बाकू छोड़ दिया तब भी ऐसी समस्या आती है।

उपाय - इसमें आप घबराइए नहीं बल्कि ज्यादा गर्म चीजों का सेवन न करे खूब पानी पिए इससे आपको आराम मिलेगा।

छाती में कफ 
कई बार कफ छाती में फेफड़ों तक पहुंच जाता है और बाहर नहीं निकल पाता इसके कारण भी आपको भारीपन या घबराहट हो सकती है।

उपाय - रोज 4 से 5 तुलसी के पत्तों का सेवन करें। तुलसी के पत्तों में रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी मात्रा में होती है। इससे आपको राहत मिलेगी और कफ की समस्या भी दूर हो जाएगी। आप चाहो तो चाय में भी तुलसी के पत्तों का उपयोग कर सकते हो। और ऐसी चीजों से दूर रहो जिससे आपके कफ बने।

तनाव के कारण 
आज कल के युवा तनाव में ज्यादा जी रहे है इसके कारण उन्हें नींद की समस्या सरदर्द की समस्या और भी बहुत समस्या हो रही है। कई बार ज्यादा तनाव के कारण भी सीने (छाती) में जलन और भारीपन हो जाता है।

उपाय - हमे तनाव से बचना चाहिए। खुश रहना चाहिए। जब भी तनाव महसूस करे तब ध्यान का सहारा ले या कोई अच्छा गाना सुनें। इससे आप तनाव से बच सकते हो। किसी भी चीज के बारे में बार - बार या ज्यादा न सोचें। रात्रि में दूध में थोड़ी हल्दी डाल कर पिए इससे आपको काफी आराम मिलेगा। चाय और कॉफी का ज्यादा मात्रा में सेवन न करें।

फिर भी आपको यह समस्या बार - बार हो रही है और छाती में जलन दर्द का रूप ले लेती है तो आपको अपने नजदीकी डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चहिए। 

प्राचीन भारतीय इतिहास के स्त्रोत |  Ancient History in Hindi | Sources of Ancient Indian History

UPSC,PCS,RAS,SSC Pre & Mains Exam - दोस्तों जैसा की आप सभी को पता है की 26 अप्रेल से यूट्यूब पर हमने ऑनलाइन क्लासे शुरू कर दी है। आप विपिन पारीक चैनल पर जा कर सभी वीडियो देख सकते हो। सबसे पहले हमने इतिहास की क्लासे शुरू की है जो आप इस वेबसाइट पर भी ऑनलाइन पढ़ सकते हो। ऊपर दिए गए मेनू बटन में "ऑनलाइन क्लास" ऑप्शन पर क्लिक करें और सभी विषयों को फ्री में पढ़े।

आप हमारे यूट्यूब चैनल से भी जुड़ सकते हो जहाँ पर सभी विषयों को टॉपिक वाइज पढ़ाया गया है।

आज ही जॉइन करे हमारी यूट्यूब क्लास - ऑनलाइन कोचिंग 
वेबसाइट पर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे - ऑनलाइन क्लास


सिक्कों, अभिलेखों और अवशेषो द्वारा भारतीय इतिहास का निर्माण

प्राचीन भारत के निवासियों ने अपने पीछे अनगिनत अवशेष छोड़े है जिनके द्वारा हमें इतिहास की सम्पूर्ण जानकारी मिलती है।

भौतिक अवशेष जैसे - पत्थर के मंदिर, मृदभांड, खोदे गए टीले, औजार या हथियार, मिट्टी के बर्तन एवं पुरानी कब्रे
"पूरी जानकारी के लिए ये वीडियो देखें "
"पूरी जानकारी के लिए ये वीडियो देखें "

1. प्राचीन भारतीय इतिहास का महत्व - Importance of Ancient Indian History | Ancient History | UPSC,PCS,RAS,SSC Pre & Mains Exam - दोस्तों जैसा की आप सभी को पता है की 26 अप्रेल से यूट्यूब पर हमने ऑनलाइन क्लासे शुरू कर दी है। आप विपिन पारीक चैनल पर जा कर सभी वीडियो देख सकते हो। सबसे पहले हमने इतिहास की क्लासे शुरू की है जो आप इस वेबसाइट पर भी ऑनलाइन पढ़ सकते हो। ऊपर दिए गए मेनू बटन में "ऑनलाइन क्लास" ऑप्शन पर क्लिक करें और सभी विषयों को फ्री में पढ़े।

आप हमारे यूट्यूब चैनल से भी जुड़ सकते हो जहाँ पर सभी विषयों को टॉपिक वाइज पढ़ाया गया है।

आज ही जॉइन करे हमारी यूट्यूब क्लास - ऑनलाइन कोचिंग 
वेबसाइट पर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे - ऑनलाइन क्लास


इतिहास को समझने से पहले हमें इतिहास का महत्व जानना बहुत ही आवश्यक है। अब सवाल यह उठता है की आखिर हम इतिहास को क्यों समझें और जाने।

प्राचीन भारत का इतिहास कई दृष्टियो से महत्वपूर्ण है। इससे हमें जानकारी मिलती है की मानव ने अपनी सस्कृति की शुरुआत कब, कहा और कैसे की है।

कृषि की शुरुआत 
प्राचीन भारत के अध्यन से हमे पता चलता है की आखिर कृषि की शुरुआत कहा से हुई।
"पूरी जानकारी के लिए ये वीडियो देखें "
"पूरी जानकारी के लिए ये वीडियो देखें "

सर्जरी के बाद जिंदा और स्वस्थ है "किम जोंग" - Kim Jong Alive and Healthy - Jinda hai North Korean Kim Jong - दरसल पिछले कुछ दिनों से ही किम जोंग को लेकर काफी अफ़वाए मीडिया में फैलाई जा रही थी। ऐसे में दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन के सलाहकार ने सुचना दी है की किम जोंग सही और स्वस्थ है।

CNN NEWS को दी सुचना 
राष्ट्रपति मून जे-इन के सलाहकार ने CNN न्यूज़ को रविवार को यह सुचना दी की किम जोंग अभी जिंदा है और वह स्वस्थ भी है। उन्होंने न्यूज़ चैनल पर बताया की 12 अप्रैल को किम की कार्डियोवेस्कुलर सर्जरी हुई थी। इसके बाद से ही उसके स्वास्थ्य को लेकर कई तरह की बातें कही जा रही हैं। वही हॉन्गकॉन्ग के एक मीडिया चैनल ने यहाँ तक कह दिया की अब किम जोंग नहीं रहे तभी से पूरी दुनिया में यह अफवाह फेल गई है।

सर्जरी के बाद जिंदा और स्वस्थ है "किम जोंग" - Kim Jong Alive and Healthy

किम को होना था दादा के कार्यक्रम में शामिल 

दरसल 15 अप्रेल को किम जोंग को अपने दादा किम इल सुंग के एक कार्यक्रम में शामिल होना था और वह वहाँ नहीं आ सका जिसके चलते लोगो में यह बात तेजी से फेल गई की किम जोंग अब नहीं रहे।

चीन में वायरल हुआ था यह मैसेज 
सबसे पहले चीन मीडिया में ही यह खबर फैली की किम जोंग अब नहीं रहे इसके बाद सब जगह यह मैसेज आग की तरह फेल गया। सूत्रों की माने तो चीन का एप्प वीबो पर यह खबर सबसे पहले पोस्ट हुई थी।

दक्षिण कोरिया के अख़बार में भी छपी किम जोंग की सर्जरी की खबर 
उत्तर कोरिया के मामलो पर सबसे ज्यादा ध्यान दक्षिण कोरिया ही देता है। उत्तर कोरिया में चाहे कुछ भी हुआ हो इस बात की सुचना सबसे पहले दक्षिण कोरिया अख़बार वाले छाप देते है। ऐसे में इस सर्जरी की खबर में दक्षिण कोरिया कहा पीछे रहने वाला। अख़बार ने खबर दी की उनका हायंगसन काउंटी स्थित विला में इलाज हुआ है और अब किम जोंग स्वस्थ है। 

यहाँ देखा गया है !! उतर कोरिया का तानाशाह किम जोंग - Seen here !! North Korean Kim Jong - पूरी दुनियाँ में यह बात फैला दी गई की किम जोंग अब नहीं रहे लेकिन उत्तर कोरिया के ही एक शहर में ही तानाशाह किम जोंग को  देखे जाने की खबर सामने आई है।

यहाँ देखा गया है !! उतर कोरिया का तानाशाह किम जोंग - North Korean Kim Jong
 पहले भी कई बार उड़ चुकी है अफवाह 
कोरोना संकट काल में सभी देशो के सम्पर्क एक दूसरे से टूट चुके है ऐसे में किसी भी देश के नागरिक दूसरे देश नहीं जा पा रहे बस न्यूज़ और सोशल मीडिया के माध्यम से ही दूसरे देशों की जानकारियाँ हासिल हो रही है। ऐसे में उतर कोरिया के तानाशाह किम जोंग की खबर भी काफी तेजी से वायरल हो गई है। किसी ने यह खबर फैला दी की नहीं रहे किम जोंग और देखते ही देखते पुरे विश्व में बिना जाँच पड़ताल के यह खबर वायरल भी हो गई। यह कोई पहला मामला नहीं है दरसल इससे पहले भी उतर कोरिया के तानाशाह किम जोंग के नहीं रहने की खबर काफी बार वायरल हो चुकी है। यहाँ तक की लोगो ने ताबूत में लेटे किम जोंग की फोटो भी शेयर कर दी है।

36 साल के है किम जोंग 
आपको बता दे की उम्र के मामले में उतर कोरिया के तानाशाह किम जोंग की उम्र काफी बड़ी नहीं है। हलाकि ऐसी बाते फैलाई जा रही है की कोरोना वायरस के चलते वह बीमार थे तो आपकी जानकारी के लिए बता दे की 11 अप्रेल को किम जोंग को उत्तर कोरिया की एक सावर्जनिक सभा को सम्बोधित करते देखा गया था।

डोनाल्ड ट्रम्प ने भी किया अफवाह को खंडन
अंतरास्ट्रीय मीडिया में यह बात तेजी से उछाली जा रही है की किम जोंग अब नहीं रहे और कुछ मीडिया का दावा है की उनकी सेहत नाजुक है। ऐसे में ट्रम्प ने इस बात का खंडन कर दिया और कहा की ऐसी कोई बात नहीं है।

कोरोना से निपटने के लिए किम जोंग ने की सावर्जनिक सभा 
11 अप्रेल को उतर कोरिया के लोगो को किम जोंग ने समझाया की कोरोना से निपटने के लिए  उत्तर कोरिया में कड़े से कड़े नियम बनाए जाएंगे और सभी को इन नियमों का पालन करना है। ऐसे में इस सभा के बाद में किम जोंग किसे भी नजर नहीं आए। और चारो तरफ यह बात फेल गई की किम जोंग नहीं है। हालांकि चीन से एक टीम उत्तर कोरिया गई है ताकि किम जोंग की कोरोना से निपटने के लिए सहायता कर सके। 

लॉकडाउन : देश में गुटखा और तंबाकू पर बैन, गुटखा बेचता मिला तो सजा का प्रावधान - Home Ministry Guideline Not Sale Liquor Gutkha Tobacco Corona Virus Lockdown - देश में लॉकडाउन के चलते शराब, गुटख़े और तंबाकू की बिक्री पर बैन लगा दिया गया है। ऐसे में कोई भी गुटखे एवं पान - मसाला की दूकान नहीं खुलेगी और अगर कोई सरकार के इन नियमों का उलंघन करता पाया गया तो उसे कठोर से कठोर दंड भुगतना पड़ेगा।

बार और क्लब भी बंद 
आपको बता दे की गृह मंत्रालय के आदेश के बाद सभी राज्यों में बार और क्लब को भी बंद कर दिया गया है। इसके बारे में गृह मंत्रालय निर्णय लॉकडाउन खत्म होने के बाद यानी 3 मई के बाद ही लेगी की कौनसी दुकानें और रेस्टोरेंट अब खुलने चाहिए।

लॉकडाउन : देश में गुटखा और तंबाकू पर बैन, गुटखा बेचता मिला तो सजा का प्रावधान 

देश में बढ़ते कोरोना मामलो को देखते हुए सरकार ने ये कठोर कदम उठाया है और सभी को लॉकडाउन तक अपने - अपने घरों में ही रहने की सलाह दी है।

6 लाख रुपय का गुटखा पकड़ा 
उतरप्रदेश में 6 लाख का तंबाकू और गुटखा पकड़ा गया है। यह टैम्पो के जरिए पूरा गुटखा राज्य के बाहर सप्लाई कर रहे थे। ऐसे में पुलिस ने इन्हे दबोच लिया और सारे गुटखे को सील कर दिया। सरकार के आदेश के बाद भी कुछ लोग चोरी छिपे गुटखों का कारोबार कर रहे है। इन सभी पर कठोर करवाई होगी।

दुकानों को गृह मंत्रालय की छूट 
कुछ राशन की दुकानों को गृह मंत्रालय ने छूट दे रखीं है ताकि तमाम नागरिकों तक राशन उपलब्ध करवाया जा सके। ऐसे में सभी दुकाने अभी कोरोना संकट काल में नहीं खुलेंगी बस उन्ही दुकानों को अनुमति है जिसे गृह मंत्रालय ने इजाजत दी है।

कोरोना संकट में कुछ गुटखा कम्पनियाँ कर रही है सेहत से खिलवाड़ 
कोरोना महामारी के बिच सरकार सभी को अपने अपने घरो में ही रहने की हिदायत दे रही है। ऐसे में कुछ गुटखा कम्पनियाँ रुपयों के लालच में आ कर बिना फूड टेस्टी सेम्पल के नकली गुटखे भी बना रही है और भोली भाली जनता की सेहत के साथ खिलवाड़ कर रही है। ऐसे में जनता को सरकार के तमाम नियमों का पालन करना चाहिए और गुटखे और तंबाकू से दूर रहना चाहिए। 

Tansen Gutkha सावधान !! गुटखे में मिला चमड़ा साफ करने वाला केमिकल, आपकी सेहत से खिलवाड़ - लॉकडाउन न्यूज़ - अगर आप गुटखा खाने के आदी है तो जरा संभल जाए। क्योंकि लॉकडाउन के इस समय में पान - मसाला, तम्बाकू और गुटखों के जरिए आपकी सेहत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। जिसके कारण आपको हॉस्पिटल के चकर भी काटने पड़ सकते है।  ( Gutkha Khana Kaise Chutega )

सावधान !! गुटखे में मिला चमड़ा साफ करने वाला केमिकल, आपकी सेहत से खिलवाड़ 

तेजाब मिला कर बेच रहे है गुटखा 

लॉकडाउन संकट काल में "फूड सेफ्टी विभाग" ने गुटखों की बड़ी - बड़ी नामि तीन कंपनियों के सेम्पल टेस्ट किए। रिपोर्ट आने के बाद फूड सेफ्टी विभाग भी चकरा गया। जी हाँ दोस्तों सेम्पल की रिपोर्ट में चौकाने वाले तथ्य सामने आए है। फूड सेफ्टी अधिकारियों के मुताबिक सेम्पल में साफ होता है की इसमें गेम्बियर को मिलाया गया है। ये बहुत जल्द मुँह के मास को खराब कर व्यक्ति को कैंसर तक की गंभीर बीमारी देने में सहायक है। यह एक प्रकार का खतरनाक तेजाब है जिसके कारण शरीर बहुत तेजी से गलने लगता है।

गेम्बियर क्या है ?
गेम्बियर एक प्रकार का तेजाब है यह (चमड़ा साफ करने वाला केमिकल) है। गेम्बियर का सेवन एक प्रकार से जहर का सेवन जैसा है। क्योंकि यह मुँह के मास को गला देता है। दांतों की जाड़ो को कमजोर कर देता है जिसके कारण तेजी से दाँत टूटने लगते है।

कंपनियों को नोटिस 
खबर गाजियाबाद की है। अब डिपार्टमेंट ने ऐसी तीनों कंपनीयो को नोटिस भेज दिया है। अब इस बात का अंदाजा नहीं लगया जा सकता की अभी तक कम्पनी ने कितने पैकेट मार्केट में उतारे है। ऐसे में किसी की सेहत को नुकसान हो सकता है। इस लिए सावधानी रखें और जितनी जल्दी हो सके तम्बाकू का सेवन करना छोड़ दे ।  

कोरोना संकट : मानसून में रफ्तार बढ़ सकती है कोरोना वायरस की, रखें सावधानी !!  - Corona Crisis: Corona virus may increase in monsoon, take care !! - विश्वयापी महामारी घोषित हो चूका कोरोना वायरस अब भारत में भी धीरे - धीरे अपने पैर पसार रहा है। 40 दिन के लॉकडाउन के कारण कुछ मामलों में कमी जरूर आई है लेकिन कोरोना ग्राफ अभी भी तेजी से बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। भारत में 25 हजार लोगो को इस वायरस ने अपनी चपेट में ले लिया है।

आने वाले कुछ महीनें भारत को बहुत ही सावधानी पूर्वक बिताने होंगे क्योंकि जुलाई - अगस्त में मानसून पुरे भारत पर छा जाता है। भारत में इसके आसार मई- जून की रिमझीम बारिश से ही शुरू हो जाते है। बैक्टीरिया और वायरस ऐसे एलर्जिक मौसम में बहुत जल्दी फैलते है। क्योंकि बारीश किसे नहीं पसंद लेकिन गर्मियों में बारिश में नहाना ठंडा पानी पीना और एयर कडिशन का उपयोग करना ये सभी बिमारी के कारण बन सकते है। ऐसे में इस बार आप सभी को अपनी सेहत का पूरा ध्यान रखना आवश्यक है।

कोरोना संकट : मानसून में रफ्तार बढ़ सकती है कोरोना वायरस की, रखें सावधानी !! 

शिव नादर विश्वविद्यालय के गणित विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर समित भट्टाचार्य के मुताबिक कोरोना का ग्राफ भारत के साथ - साथ सम्पूर्ण विश्व में बहुत ही तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में जब तक इस की वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक ये संकट ऐसे ही बना रहेगा। क्योंकि वैक्सीन के द्वारा ही हम इस महामारी को काबू में कर सकते है। ऐसे में मई - जून में भारत के लोगो को अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। मानसून के कारण जुलाई और अगस्त में कोरोना वायरस के मामले अचानक बढ़ सकते है।

भारत के वैज्ञानिको ने भी सी बात की पुष्टि की है की अगर भारत में लॉकडाउन के नियमों का पालन न किया जाए और सभी चीजों में फिर से ढील दे दी जाए तो हम बहुत बड़ी समस्या में फस सकते है। जिसका इलाज किसी के पास नहीं है।

वैसे मौसम विभाग का कहना है की इस बार भारत में मानसून अच्छा जाने वाला है। मौसम में आए परिवर्तन के कारण भारत में इस बार वर्षा अच्छी होगी। लेकिन लॉकडाउन के चलते किसानों को इसका पूरा लाभ नहीं मिल पाएगा। 

Corona Breaking : 2 लाख लोगों ने गवाई जान, 30 जून तक सभी सावर्जनिक सभा बंद - Corona Breaking: 2 lakh people lost their lives, all public meetings closed till June 30 - कोरोना महामारी के आकड़े जिस तरह तेजी से बढ़ रहे है यह काफी चिंता जनक है। ऐसे में सभी सरकारे अपने - अपने राज्य में नागरिकों की सुरक्षा के लिए तमाम तरह के एक्शन ले रहे है। 

योगी सरकार का बड़ा फैसला 
इधर उतरप्रदेश में भी योगी सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामले देख कर 30 जून तक सभी सावर्जनिक सभाओं पर रोक लगा दी है। सरकार के सख्त आदेश है की राज्य में 30 जून तक कोई भी धार्मिक और अधार्मिक सभाओं का आयोजन नहीं होगा। अगर कोई ऐसा करता पाया गया तो उन पर सख्त से सख्त सजा होगी साथ ही साथ उन्हें जुर्माना भी भुगतना पड़ेगा। 

Corona Breaking : 2 लाख लोगों ने गवाई जान, 30 जून तक सभी सावर्जनिक सभा बंद

देश में अभी तक मरीज 
आपकी जानकारी के लिए बता दे की पुरे देश में कोरोना महामारी से सक्रमण होने वाले लोगो की संख्या करीब 25 हजार पहुंच गई है और 800 लोगो ने अभी तक इस वायरस के कारण अपनी जान गवा दी है। ऐसे में देश की सरकारे कठोर से कठोर कदम उठा रही है ताकि इस वायरस को और ज्यादा फैलने से रोका जा सके। 

पाकिस्तान में बिगड़े हालात  
पाकिस्तान में कोरोना वायरस ने कहर बरसा दिया है। यहाँ की इमरान सरकार के लिए मुसीबत अब रुकने का नाम ही नहीं ले रही है। पाकिस्तान में 90% लोग खेती और पशुपालन पर ही निर्भर है। कोरोना संकट काल में पाकिस्तान के सभी धंधे चौपट हो चुके है। पाकिस्तान की जनता भूख से तड़प रही है। पाकिस्तान की अवाम का कहना है की अगर कोरोना महामारी 2-3 महीने ऐसे ही चलती रही तो वायरस के कारण जितनी जान नहीं जाएगी उससे ज्यादा यहाँ के लोग भूख से मर जाएंगे। 

विश्व भर में कोरोना का आकड़ा 
दुनिया में ये महामारी तेजी से अपने पाव पसार रही है। आज पुरे विश्व में इसके 20 लाख मरीज है और 2 लाख लोगो की इस वायरस के चपेट में आने से जान चली गई है। अमेरिका में 10 लाख लोग इससे सक्रमित हो गए है और वहाँ 52 हजार लोगो ने इस वायरस के कारण अपनी जान गवा दी है।  

Corona Breaking : America Coronavirus Latest News - अमेरिका में कोरोना सुनामी, 50 हजार लोगों ने गवाई जान - पूरी दुनियाँ में विश्व शक्ति के रूप में विखयात देश अमेरिका आज एक महामारी के कारण पूरी तरह से टूट चुका है। आज अमेरिका में तमाम बड़े - बड़े होटल, क्लब, रेस्टोरेंट, स्कूल और कॉलेज सभी बंद है। इन सब की वजह है सिर्फ एक वायरस।

Corona Breaking : अमेरिका में कोरोना सुनामी, 50 हजार लोगों ने गवाई जान

कोरोना की सूनामी 
कोरोना नाम का यह वायरस चीन के वुहान से अमेरिका तक पहुंच गया और इसके बाद सुपर पावर वाला वह देश जिससे पूरी दुनियाँ डरती थी आज वह एक वायरस के सामने कुछ भी नहीं है। उसके पास ऐसी कोई प्लानिंग तक नहीं थी की अचानक अगर इतनी बड़ी महावारी फैल जाए तो क्या किया जाए। इससे कैसे बचा जाए।

अमेरिका ने किया निराश 
आज बहुत से ऐसे छोटे - बड़े देश है जो सिर्फ अमेरिका पर ही निर्भर थे लेकिन इस मुश्किल घड़ी में अमेरिका ने इन देशों को निराश किया है। क्योकि अमेरिका के खुद के पास इस महामारी से बचने के रास्ते नहीं है तो दूसरे देशों की क्या मदद करेगा।



America Coronavirus Total Cases
आपकी जानकारी के लिए बता दे की आज पुरे विश्व में कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा सक्रमित और पीड़ित देश अमेरिका ही है। अमेरिका में 10 लाख लोग सक्रमित हो चुके है और 50 हजार लोगो ने कोरोना वायरस से अपनी जान भी गवा दी है।

अब सवाल यह है की आखिर अमेरिका जैसे देश से इतनी बड़ी भूल कैसे हुई।
अमेरिका स्वास्थ्य के मामले में बाकि देशों से बहुत आगे है। अमेरिका व्यापर के मामले में भी चीन और बाकि बड़े देशो से बहुत आगे है। फिर अमेरिका में मास्क क्यों नहीं बन रहे है।  क्यों दवाईयों के लिए आज अमेरिका दूसरे देशो पर निर्भर है। क्यों अमेरिका ने इस इतनी बड़ी महामारी को नॉर्मल बिमारी समझने की भूल की है। ऐसे बहुत से सवालों का एक ही उतर है की अमेरिका आज इस लड़ाई में बहुत ही कमजोर साबित हुआ है। 

भारत ने उठाए सही कदम 
भारत ने इस लड़ाई में काफी हद तक जीत हासिल की है। यहाँ की सरकार ने सही समय पर लॉकडाउन का निर्णय ले कर लाखों लोगो की जान बचाई है। साथ ही भारत के लोगो ने भी इस महामारी की लड़ाई में सरकार की काफी सहायता की है। अभी तक भारत में 20 हजार लोग ही इस महामारी की चपेट में आए है और 600 के करीब लोगो ने जान गवाई है। भारत की तारीफ आज WHO समेत तमाम बड़े देश कर रहे है। भारत इस लड़ाई में अपनी अहम भूमिका निभा रहा है। 

संतो के देश में संतो की हत्या, माफ़ नहीं करेगा भारत - Juna Akhada News Hindi - पूरी दुनियाँ में सिर्फ भारत को ही संतो का देश कहा जाता है। क्योंकि यहाँ लाखो - करोड़ो संत हुए है जिन्होंने अपना घर - परिवार छोड़ कर देश और समाज की सेवा की है।

भारत में फैली बहुत सी बुराईयों और कुप्रथाओं को संतो ने ही खत्म किया है - संत कबीर, संत रहीम, संत सूरदास, संत नानक देव, संत साई, संत एकनाथ संत विवेकानंद ऐसे हजारों संतो के नाम हमारे पास है। जिन्होंने भारत की संस्कृति और विरासत को बनाया है। भारत संतो की भूमि है। संतो ने यहाँ हमेशा भाई चारे और प्रेम से रहने की ही सिख दी है।

संतो के देश में संतो की हत्या, माफ़ नहीं करेगा भारत - Juna Akhada News Hindi

बुद्ध और महावीर जैसे संत ने तो मानव चेतना में आध्यात्मिकता की एक नई अलख ही जगा दी आज भारत ही नहीं बल्कि पूरा विश्व ऐसे संतो के विचारों के मार्ग पर चल रहा है। भारत का सविधान भी संतो की बातों को ध्यान में रख कर ही बना है। सत्य, अहिंसा, प्रेम, करुणा यह सभी बाते संतो की वाणी से लेकर सविधान की किताब में पिरोए है।

मानव अगर संतो पर ही अत्याचार करने लगे तो समझ लेना राजा और उस प्रजा का विनाश निश्चित है। भारत में संत भगवान का रूप है। संत ही समाज को मार्ग दिखाने वाला होता है उन्हें सही मार्ग पर लाने वाला होता है। वह अपना परिवार, अपनी इच्छा, अपना सब कुछ इसलिए छोड़ कर निकल पड़ता है। ताकी समाज की तकलीफों और दर्द को कम कर सके। धर्म की रक्षा के लिए संत ही सबसे पहले आगे आते है।


ऐसे में आज जो तस्वीरें सामने आई है वो सच में बहुत ही दर्दनाक है। दो संतो की इतनी बर्बरता से हत्या वो भी भारत जैसे देश में यह तस्वीर बता रही है की आज का मानव कितना हैवान बन चूका है। उसे किसी से भी हमदर्दी नहीं है न ही यह प्रशासन से डरता और न ही भगवान से डरता, पुलिस के सामने उस भीड़ ने जिस प्रकार उन संतो को मारा है यह वाक्य में बहुत ही निंदनीय है। जब तक उन संतो के प्राण नहीं निकल गए तब तक उस भीड़ के भेड़ियो ने उन संतो को नहीं छोड़ा।

अब सभी जूना अखाड़े के संत उधव सरकार का घेराव करेंगे ताकि भविष्य में ऐसी घटना न हो। और जल्द से जल्द उन सभी लोगो को कठोर से कठोर सजा हो इसके लिए सरकार से अपील करेगी। 

Saints Of Juna Akhara - Juna Akhara Saints News - जूना अखाड़े ने दी चेतावनी : पुरे महाराष्ट्र का घेराव, कुरु क्षेत्र बना देंगे पालघर की भूमि को - पिछले कुछ दिन पहले महाराष्ट्र पालघर जिला दानु तहसील में 2 संतो की बड़ी ही बर्बरता से लाठी - डंडो से मार - मार कर लोगो ने पुलिस के सामने उनकी हत्या कर दी। वह दोनों संत जूना अखाड़े से जुड़े थे। ऐसे में आज जूना अखाड़े के प्रत्येक संत महाराष्ट्र की सरकार और पुलिस प्रशासन पर बहुत अधिक क्रोधित है।

जिन संतो की हत्या हुई है वह दोनों संत रात्रि में गाड़ी से अपने - अपने गांव जा रहे थे। ऐसे में अचानक गावं में किसी ने अफवाह फैला दी और गांव के सभी लोगो ने संतो की गाड़ी को घेर लिया और गाड़ी को पलट दिया।

Juna Akhara Saints News

वहाँ मौजूद भीड़ पूरी तरह हैवानियत पर उतर चुकी थी न तो पुलिस का डर और न ही भगवान का ऐसे में उस भीड़ ने उन संतो पर वार करना शुरू कर दिया और देखते ही देखते पुलिस के सामने उन निर्दोष संतो की हत्या कर दी। जिनमें एक 74 साल के बुजर्ग संत भी थे।

देखते ही देखते इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर हो गया और घटना के 2-3 दिन बाद इस पर सरकार ने कोई एक्शन लिया। अब सवाल यह भी है की आखिर इतनी बड़ी घटना में सरकार ने इतनी देरी क्यों की, अगर यह वीडियो सामने नहीं आता तो किसे भी खबर तक नहीं होती और न ही सरकार बताती।

अखिल भारतीय अखाडा परिषद ने इस सभी पर जाँच  करवाने की मांग की है और कहा है दोषियों को सख्त से सख्त सजा हो साथ ही साथ इस घटना के जिम्मेवार लोगो पर पुलिस और प्रशासन पर कठोर करवाई हो।

परिषद के अध्यक्ष ने चेतावनी दी है की लॉकडाउन खत्म होने के बाद बड़ी संख्या में साधु - संत महाराष्ट्र का घेरा करेंगे और मामले पर करवाई जल्द से जल्द हो इसके लिए अपील करेंगे। 

Lockdown 3 May Tak - जानिए PM Modi ने 3 मई को ही क्यों चुना Lockdown का आखरी दिन ? - भारत में 21 दिनों के लॉकडाउन के बाद सरकार ने घोषणा कर के इस लॉकडाउन की तारीख को और आगे बढ़ाया ताकि भारत में इस कोरोना महामारी को रोका जा सके। तेजी से बढ़ते आकड़े देख मोदी सरकार ने भारत में 3 मई तक लॉकडाउन लगया है। ऐसे में कुछ लोगों का सवाल है की आखिर 3 मई ही क्यों सरकार 30 अप्रेल भी तो बोल सकती थी।

भारत में सभी राज्यों में 30 अप्रैल तक के लॉकडाउन का पालन करने के लिए कहा था। लेकिन मोदी सरकार ने 3 दिन और आगे बढ़ा दिए ऐसे में सवाल उठना जायज है आइये जानते है ऐसा क्यों हुआ।

जानिए PM Modi ने 3 मई को ही क्यों चुना Lockdown का आखरी दिन ?

आज पुरे विश्व में लॉकडाउन लगा हुआ है। आज की ही खबर सामने आई है की कोरोना महामारी के चलते नीदरलैंड की सरकार ने तो 1 जून तक कोरोना लॉकडाउन कर दिया है। अमेरिका में अगले सत्र  तक सभी स्कूल - कॉलेज बंद है। ऐसे में भारत कोरोना के करीब 11 हजार मामले सामने आ गए है जो बहुत ही चिंता जनक है।

पहले भारत की सरकार ने 21 दिनों के ही लॉकडाउन का कहा था और सभी लोगो ने यहाँ इस लॉकडाउन का पालन भी किया। लेकिन इस 21 दिनों में कुछ लोगो से गलतियाँ भी हुई इस कारण यहाँ आकड़ा तेजी से बढ़ने लगा और तभी सरकार ने यहाँ Lockdown 2.0 लगा दिया जो करीब 3 मई तक चलेगा। ऐसे में जिन लोगों ने हवाई बुकिंग और रेल बुकिंग की थी उन्हें वापस रिफंड मिल जाएगा।

स्कूल, कॉलेज सभी 3 मई तक बंद रहेंगे। किसानों को कुछ छूट दी जाएगी जिसे वह भारत सरकार की वेबसाइट पर जा कर देख सकते है। राज्य में 30 अप्रेल तक लॉकडाउन का बोला गया लेकिन बाद में सरकार ने इसे आगे बढ़ा दिया क्योकि 1 मई को मजदूर दिवस है इस लिए छुटी दी गयी है। 2 मई को शनिवार है हाफ डे होता है और 3 को संडे है। ऐसे में अगर 1 मई का बोला जाता तो लोग बहुत ज्यादा सख्या में घर से बाहर निकलते और हम फिर से कोरोना की इस लड़ाई में पीछे हो जाते। इन सभी बातो को ध्यान में रखकर सरकार ने 3 मई तक इसका पालन करने को बोला है। यानी 3 मई को रात्रि 12 बजे लॉकडाउन खत्म होगा और 4 मई को सोमवार के दिन सरकार की गाइडलाईन के अनुसार ही दफ्तर खुलेंगे।

कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए सरकार छोटी से छोटी बात पर भी पूरा ध्यान दे रही है की कही कोई चूक न हो जाए। ऐसे में भारत के प्रत्येक नागरिक को भी आज सरकार का साथ देना चाहिए और लॉकडाउन के नियमों का पालन करना चाहिये। 

Pakistan Have also Approached India for the Supply of Hydroxychloroquine Tablet s - Coronavirus : अब पाकिस्तान भी भारत से माँग रहा है हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा  - अमेरिका - ब्राजील समेत 50 देशो की मदद कर चूका है भारत, अब पाकिस्तान ने भी भारत से Hydroxychloroquine दवाई मांगी है।

भारत मलेरियाँ की Hydroxychloroquine दवा का पुरे विश्व में सबसे बड़ा निर्माता है। इस दवाई में जो - जो सामग्री उपयोग में ली जाती है वो पुरे विश्व में सबसे ज्यादा भारत में ही पाई जाती है। इस कारण आज पूरी दुनियाँ भारत से ये दवाई माँग रही है। जिन - जिन देशो ने भारत को बहुत दुःख दिया आज भारत उन सभी की मदद कर रहा है।

Coronavirus : अब पाकिस्तान भी भारत से माँग रहा है हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा 

दरसल पूरी दुनिया में कोरोना महामारी का प्रकोप है। ऐसे में किसी भी देश के पास कोरोना की वैक्सीन नहीं है। लेकिन भारत में बनने वाली मलेरिया की दवा "हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन " इस महामारी को रोकने में असरदार साबित हो रही है। इस दवाई से कई मरीज सही हो रहे है ऐसे में धीरे - धीरे आज पूरी दुनिया में इस दवाई की माँग बढ़ती ही जा रही है।

अमेरिका के डोनाल्ड ट्रम्प ने भी भारत से माँगी थी हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा 
भारत अमेरिका समेत 5o देशो में यह दवाई दे चूका है। भारत के पास पर्याप्त भंडार है जिसके चलते वह बाकि सभी देशो की मदद कर रहा है।

पहले पाकिस्तान ने किया मना और अब दवाई की मांग 
पाकिस्तान में कोरोना सक्रमित मरीजों का आकड़ा 6 हजार पहुंच गया है और 107 लोग महामारी के कारण अपनी जान भी गवा चुके है। ऐसे में पाकिस्तान के पास अब और कोई विकल्प नहीं है सिवाय भारत से मदद मांगने के, इसलिए आज पाकिस्तान ने भी भारत से इस दवाई की मांग की है।

भारत में हर महीनें करीब 40 टन हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन  दवाई बनाई जाती है। करीब 20 करोड़ टैबलेट के बराबर दवाई बनाई जाती है। भारत इसका अच्छा निर्माता है। इसी कारण आज भारत दुनियाँ को दवाई दे रहा है। 

Sita Tear Pool - Ramayan Proof in Shrilanka - सबसे बड़ा रहस्य : यहाँ गिरे थे सीता जी के आँसू आज भी मौजूद है साक्ष्य - ( सीता टियर तालाब ) भले ही लोग राम के होने या न होने पर सवाल उठाते है लेकिन धरती पर रामायण काल के कुछ ऐसे सबूत आज भी मौजूद है। जो वाक्य में सोचने लायक है। क्योकि रामायण काल की जगह बड़े - बड़े वैज्ञानिकों को भी सोचने पर मजबूर कर ही देती है। ऐसी ही एक जगह के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है।

Sita Tear Pool - सबसे बड़ा रहस्य : यहाँ गिरे थे सीता जी के आँसू 

दरसल भारत में भले की राम की मौजूदगी के साक्ष्य न मिलते हो लेकिन दुनियाँ भर में ऐसी बहुत सी जगह है जहाँ से वैज्ञानिको को भी रामायण काल के पुख्ता तौर पर सबूत मिले है। ऐसा ही एक स्थान है श्री लंका में जिसे वैज्ञानिक आज से लाखों साल पहले का यानी रामायण काल से जुड़ा बता रहे है।

पुरातन विभाग बहुत सी पुरानी - पुरानी जगह की खोज में दिन - रात लगा ही रहता है। ऐसे में वैज्ञानिको को एक कुंड मिला है जो बहुत ही चमत्कारी है। श्री लंका के केडी शहर में "सीता टियर तलाब" नाम से एक स्थान है। बताया जा रहा है की ये तलाब सीता माता के आँसुओ से बना है।

Ramayan Proof in Shrilanka - सीता माता कुंड 

जब रावण सीता माता का हरण कर के अपने साथ लंका ले आया था तो रावण का पुष्पविमान इस स्थान के पास उतरा था। ऐसे में इस जमीन पर सीता माता के आँसू गिरे थे जिसके कारण इस कुंड का नाम सीता टियर तलाब है। आपकी जानकारी के लिए बता दे की इस तलाब के आस पास कोई पानी का स्रोत नहीं है फिर भी इसमें पानी भरा रहता है।

स्थानीय लोगों का कहना है की ये जल कभी समाप्त नहीं होता चाहे कितनी भी गर्मी हो इसमें पानी पूरा भरा रहता है। आस - पास के घरों में कुए का पानी मीठा आता है लेकिन इस कुंड का जल आँसुओ जैसा खारा है।

एक और चमत्कार की बात की यहाँ लोगों के आने जाने का कोई रास्ता नहीं है न ही कोई बार - बार यहाँ आता है फिर भी यहाँ पकडंडी बनी हुई है। यहाँ देखने में यह भी सामने आया है की कुंड के पास कोई भी पौधा या पेड़ नहीं लगता है। न ही कोई फूल का पौधा लगता है। वाकई में ऐसी जगह विज्ञानं को भी चुनौती देती नजर आती है।

चाहें भगवान की मौजूदगी के कितने भी सवाल उठा लो पर धरती पर ऐसी कोई न कोई जगह मिल ही जाती है जो वापस इंसान को आध्यात्मिक की और मोड़ देती है। जल्द ही हम आपके लिए राजस्थान के बुटाटी धाम के बारे में एक पोस्ट लेकर आएंगे जो लकवे के इलाज के लिए पुरे भारत में प्रसिद्ध है। ये भारतीयों की आस्था है अंधविश्वास नहीं क्योंकि प्रत्यक्ष को प्रमाण की आवश्कता नहीं। जानकारी को ज्यादा से ज्यादा शेयर जरूर करें। धन्यवाद !!

Corona Breaking News : तमिलनाडु के चमकादड़ो में मिला "कोरोना वायरस"  - ICMR Study Finds Presence of  Bat Coronavirus in Two Indian Bat Species - हाल ही में भारत के वैज्ञानिकों की खोज में यह सामने आया है की भारत में पांच राज्यों के चमकादड़ो में बैट कोरोना वायरस पाया गया है।

जानलेवा कोरोना वायरस की शुरुआत चीन के एक प्रांत वुहान शहर से लगाई जा रही है। बताया जा रहा है की चीन के इस शहर की फ़ूड मार्केट से निकला यह वायरस बहुत ही तेजी से पूरी दुनिया में फेल गया। चीन के वैज्ञानिको ने आशंका जताई थी की ये वायरस चमकादड़ो से इंसानो में फेल रहा है। ऐसे में भारत के वैज्ञानिक भी काफी लम्बे समय से इस पर शोधकार्य में लगे हुए थे।

Corona Breaking News : तमिलनाडु के चमकादड़ो में मिला "कोरोना वायरस" 

भारतीय वैज्ञानिक चमकादड़ो की अलग -अलग प्रजाति का अध्यन कर रहे थे ऐसे में चमकादड़ो की दो प्रजातियों में ये वायरस पाया गया है। दोनों प्रजाति के 586 चमकादड़ो में से करीब 25 चमकादड़ इस वायरस से सक्रमित मिले है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की कुछ समय पहले केरल में निपाह नाम का वायरस भी चमकादड़ो से ही आया था। अब वैज्ञानिक उन राज्यों में अपनी रिसर्च बढ़ा रहे है जहाँ चमकादड़ ज्यादा सख्या में पाए जाते है।

अभी यह शोध जारी है की आखिर यह सक्रमण मनुष्य में कैसे पहुंचा ?

अभी किसी व्यक्ति, समुदाय या देश पर आपति नहीं जताई जा सकती है क्योकि अभी इस पर पूरी तरह से रिसर्च चल रहा है की भारत के चमकादड़ो में यह वायरस कैसे आया और कैसे यह चमकादड़ो में से मनुष्य में फैला है। इन सभी पर वैज्ञानिको द्वारा अभी शोध चल रहा है। साथ ही साथ भारत में इसकी वैक्सीन बनाने पर भी रिसर्च जारी है। पुरे विश्व के वैज्ञानिक  रात - दिन बस इसी काम में लगे है और जल्द ही इसका टीका या उपचार खोज लिया जाएगा। 

Aarogya Setu Indian Coronavirus Tracking App में हुआ नया बदलाव, जल्द आएगा इसमें ई - पास का भी फीचर  - How to download and use Aarogya Setu - जैसा की भारत सरकार ने सुचना जारी कर के यह कहा है की कोरोना महामारी से लड़ाई के लिए भारत के तमाम नागरिकों के मोबाइल फ़ोन में आरोग्य सेतु एप्प होना अनिवार्य है। ऐसे में हमने इस बारे में एक पोस्ट भी लिखी थी की आप कैसे और कहा से इस एप्प को डाउनलोड करें और जिओ फ़ोन में कैसे डाउनलोड करे। अगर आपने इस पोस्ट को नहीं पढ़ा है तो पहले इसे पढ़ लो - जरूरी सुचना : 150 करोड़ भारतीयों के फोन में होना चाहिए Aarogya Setu App

 Aarogya Setu App भारत में कोरोना पॉजटिव मरीजों को ट्रेक करता है और आपको सुचना देता है की आपको किस ऐरिया में नहीं जाना है और कहा कोरोना मरीज ज्यादा है। ऐसे में भारत सरकार इस एप्प को और ज्यादा अपडेट भी कर रही है ताकि यूजर को तमाम प्रकार की जानकारी घर बैठे मिल सके।

Aarogya Setu App में हुआ New Update, जल्द आएगा इसमें E-Pass का भी फीचर

ऐसे में आज इस एप्प में नए बदलाव के तौर पर 4 New फीचर और Add किए है। 

जिसमें पहला है (आपकी स्थिति) के बारे में की आप कैसे हो स्वस्थ्य हो या नहीं।

दूसरा फीचर है जिसमें आप (स्व परीक्षण) कर सकते हो यानी दोबारा टेस्ट भी कर सकते हो की आप स्वस्थ हो या नहीं।

तीसरे फीचर में  (कोविड अपडेट) दी गई है जिसमे आप अपने राज्य के बारे में देख सकते हो की आपके राज्य में कोरोना के मरीज अभी तक कितने है और पुरे भारत में कोरोना से सक्रमित मरीजों की संख्या कितनी है। साथ ही साथ इस फीचर में आप देख सकते हो की बाकि राज्यों का क्या हाल है और आपका राज्य सक्रमण में कितने नंबर पर है।

इसके बाद चौथा फीचर भारत सरकार बहुत जल्दी इसमें लाने वाली है। उस फीचर पर अभी कमिंग सून नाम लिखा आ रहा है। इस फीचर का नाम है (ई - पास) जी हाँ दोस्तों यह बहुत ही काम का फीचर होगा। इसलिए अभी तक अगर आपने ये एप्प नहीं डाउनलोड किया है तो कृपया जल्दी से डाउनलोड कर लो।

Aarogya Setu App के बारे में अधिक जानकारी के लिए भारत सरकार की वेबसाइट विजिट करें और तमाम तरह के नियमों का पालन भी करें। धन्यवाद !!

Covid-19 : खेतों में सोने की तरह लहरा रही है रबी की फसल, लेकिन काटने के लिए कोई नहीं - Rabi Crop is Waving Like Gold in Fields, But No One to Cut it - कोरोना संकट काल में जहाँ आज पूरा देश परेशान है। ऐसे में भारत के किसान भाई और मदजूर भाई दोनों ही बहुत परेशान है।  राजस्थान में इस समय किसान भाई अपने - अपने खेतों में गेहूँ की फसल की कटाई करते है लेकिन आज लॉकडाउन के चलते ऐसा कुछ भी नहीं हो पा रहा है। न ही फसल की कटाई के लिए मजदूर है और न ही फसल में से दाना निकालने के लिए कोई लोग है। इस आर्थिक सकंट काल में सभी सरकार के नियमों का पालन कर रहे है और अपने - अपने घरों में बैठे है।

Covid-19 : Rabi Crop is Waving Like Gold in Fields, But No One to Cut it

राजस्थान जैसा हाल ही उतरप्रदेश और मध्य्प्रदेश के किसानों का है। अब भला करे भी तो क्या करें। एक तरफ महामारी का वैश्विक प्रकोप है तो दूसरी तरफ गिरती अर्थव्यवस्था है। ऐसे में सरकारे हर सम्भव प्रयास कर रही है ताकि भारत के सभी नागरिको को राशन मिल सके। आज हम सब के लिए यह समय बहुत ही चुनौतीपूर्ण है।

ऐसे में भारत के किसानों के लिए भी यह समय सबसे कठिन और दुःख दाई है। वैसे तो भारत का किसान ऐसे छोटे - मोटे हर संकट का सामना करता ही रहता है। कभी वर्षा का न होना, कभी ज्यादा होना। कभी फसल के कीड़े लग जाना तो कभी अकाल पड़ जाना। लेकिन आज सच में हम सब के सामने ये उदारहण है की वाकई में भारत का किसान भारत का अन्न देवता है। जो इतनी मुसीबतों के बावजूद भी हमारा पेट भरता है।

आज राजस्थान की सरकार को भी किसानों की बहुत ज्यादा चिंता सता रही है। उन्होंने बहुत रात - दिन मेहनत की है। गर्मी हो या सर्दी उन्होंने अपने खेतों में रात दिन काम कर के फसलों को तैयार किया है। इसलिए यहाँ की सरकार और प्रशासन भी यही सोच रहा है की कैसे न कैसे ये महामारी भारत से समाप्त हो जाए। सभी किसानों का हौसला बढ़ा रहे है और आज सभी भारतीय नागरिक भारत के किसानो के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़े है।

दोस्तों आप सब भी किसान भाईयों की मदद कर सकते हो इसके लिए बस आप सभी को लॉकडाउन के समय सीमा तक अपने - अपने घरों में रहना है ताकि भारत से जल्द से जल्द कोरोना महामारी को खत्म किया जा सके। कृपया आप भी हमारा साथ दे और घर पर ही रहे। जय जवान जय किसान !!

Lockdown Violation in Mumbai - Corona Breaking : Mumbai में उडी Lockdown की धज्जियाँ, कोरोना से लड़ाई और इतनी बड़ी लापरवाही - Bandra lockdown मुंबई से बहुत ही शर्मनाक घटना सामने आ रही है। आज पूरा देश कोरोना महामारी से लड़ रहा है। देश के प्रधानमंत्री ने पुरे देश में लॉकडाउन लगाया है ताकि भारत के सभी लोग सुरक्षित रह सके ऐसे में मुंबई के बांद्रा रेलवे स्टेशन से बहुत ही डराने वाली तस्वीरें सामने आ रही है।

Corona Breaking : Mumbai में उडी Lockdown की धज्जियाँ, कोरोना से लड़ाई और इतनी बड़ी लापरवाही 

मुंबई में बांद्रा रेलवे स्टेशन पर हजारों की संख्या में लोग अचानक शाम को जमा हो गए। खबर सामने आई है की ये लोग मजदूर है और अपने - अपने गांव जाने के लिए रेलवे स्टेशन आए थे। इसके बाद इतनी बड़ी भीड़ को हटाने के लिए मजबूरन पुलिस को वहाँ लाठीचार्ज करना पड़ा।

आखिर इतनी बड़ी लापरवाही कैसे हुई। बताया जा रहा है की ये सभी लोग दूसरे राज्य के है। ये लोग शिकायत कर रहे है की यहाँ इन्हे खाने पीने की समस्या है। लेकिन सरकार तो सभी तक राशन मुफ्त में पहुंचा रही है। सवाल अभी यही है की आखिर किस ने इस भीड़ को भड़काया है।

कोरोना के सबसे ज्यादा मामले आज महाराष्ट्र में ही है। ऐसे में इतनी बड़ी गलती का खामियाजा आगे पूरा देश भुगतेगा। राज्य में अभी तक 2,334 मामले सामने आ चुके है और 200 से ज्यादा लोगो ने अपनी जान भी गवा दी है।

ऐसे में सभी से यही  अपील है की कृपया घर में ही रहो। अमेरिका और इटली के आकड़े देखो अफवाओं में ना पड़ो और जागरूक बनो। क्योकि आपका एक गलत कदम पुरे भारत को पीछे धकेल देगा। इस लिए सभी से निवेदन है की कोई भी अफ़वाए न फैलाये। किसी भी मेसेज को बिना जांचे परखें आगे फोरवोर्ड न करें। इस समय देश को आप सब की आवश्कता है कृपया सावधानी बरतें। 

बहुत ही तेजी से भारत में फैल रहा है चीन का ड्रैगन कोरोना - Covid-19 Corona Virus Latest News in India Hindi - जिस प्रकार भारत में नए - नए कोरोना मामले रोज सामने आ रहे है। भारत के लिए यह बहुत ज्यादा चिंता का विषय बनता जा रहा है।

यहाँ की सरकार ने पहले भी 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया था। जो आज 14 अप्रैल तक सीमित था। लेकिन अब इसकी अवधि को बढ़ा कर 3 मई तक कर दिया गया है। आकड़ो की माने तो प्रतिदिन 1,000 नए मामले रोज सामने आने लगे है। ऐसे में चीन का कोरोना भारत में बहुत ही तेजी से अपने पाँव पसार रहा है।

बहुत ही तेजी से भारत में फैल रहा है "चीन का ड्रैगन कोरोना"

अभी तक भारत में कुल 10,364 नए मामले सामने आ चुके है। और 400 के करीब लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके है। ऐसे में भारत में चीन को लेकर राजनीती सुर में गरमा रहे है। कोई इसे साजिस बता रहा है। तो कोई इसे चीन का हथियार बता रहा है।

अमेरिका जैसे देश में तो इस वायरस ने तबाही मचा रखी है। ऐसे में डोनाल्ड ट्रम्प का गुसा WHO और China दोनों पर ही है। चीन ने एक ऐसी भूल कर दी जिसका खामियाजा पूरी दुनियाँ को उठाना पड़ रहा है। अमेरिका में अगले सत्र तक स्कूल और कॉलेज सब बंद कर दिए गए है।

पहले इस महामारी के भारत में बढ़ने के इतने चांस नहीं थे लेकिन पिछले कुछ दिनों से हुई भूल के कारण आकड़ा वाकई में चौकाने वाला है। पहले 21 दिनों का लॉकडाउन सोच कर कुछ कंपनियों ने यहाँ रेल और हवाई सेवा की टिकट भी बुक कर ली थी पर आज प्रधानमंत्री द्वारा लॉकडाउन बढ़ाने के बाद रेल और हवाई सेवा वाले अपने कस्टमरो को टिकट के वापस रूपये दे रही है। ऐसे में कब तक इस महामारी का प्रकोप ऐसे ही चलता रहेगा इसके बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है। अभी तो भारत के लोगो से यही अपील है की घर में रहो सुरक्षित रहो।  

Pandemic Gautam Buddha Story in hindi - कहानी : भगवान बुद्ध के समय भी फैली थी महामारी, ऎसे बचाया बुद्ध ने लोगो को - दोस्तों आज कोरोना महामारी से पूरी दुनियाँ परेशान है। किसी के पास इस महामारी का कोई समाधान नहीं है। न ही अभी तक इस की हमारे पास कोई दवाई है। सभी लोग आज घरों में बैठे है ताकि इस महामारी की चपेट में आने से बच सके।

एक छोटी सी भी महामारी करोड़ो की संख्या में अपने साथ लोगों की जान ले जाती है। इतिहास गवा है जब - जब महामारी आई है तब - तब इंसान ने उसके आगे घुटने टेक दिए है। लेकिन इतिहास में कुछ ऐसे लोग भी हुए है जिन्होंने इन बड़ी - बड़ी महामारी के सामने अपनी शक्ति और ऊर्जा का परिचय भी दिया है। ऐसी ही एक कहानी आज हम आपके लिए लेकर आए है जो बिल्कुल सत्य घटना पर आधारित है।

Pandemic Gautam Buddha Story in hindi 

एक समय वैशाली राज्य में बहुत ही विकराल महामारी फैली थी। मरने वालों की गिनती करने वाला भी नहीं था। वहाँ मृत्यु अपना नाच दिखा रही थी। चारों तरफ बस बीमार और मृत लोग पड़े थे। पुरे राज्य में हाहाकार मचा था। लोग डरे हुए घबराएं हुए थे। सब भगवान को याद कर रहे थे। किसी को नहीं पता की अब अगली बारी किसकी हो। ऐसे में सब लोग घर में बैठ गए थे।

कोई भी उस नगर में नहीं आना चाहता था। दूर - दूर तक लोगो को उस नगर की आप - बीती के बारे में पता था। नगर के राजा बहुत ज्यादा चिंतित थे की कैसे बचा जाए इस महामारी से और कैसे अपनी प्रजा को बचाया जाए।
नगर के सभी लोग बुद्ध के बारे में जानते थे। उन सभी ने महाराज से आग्रह किया की कृपया आप बुद्ध को यहाँ बुलाओ ताकि भगवान हमारी जान बचा सके।

ऐसे में राजा ने नगर के सभी लोगो को आश्वासन दिया और तुरंत बुद्ध तक यह संदेश पहुंचाया। नगर के लोगों को इस बात का पूरा विश्वास था की बुद्ध के आने और उनके दर्शन से यह महामारी जरूर समाप्त हो जाएगी।

भगवान ने भी तुरंत निमत्रण स्वीकार कर लिया। उस नगर में भगवान बुद्ध का राजाओं जैसा स्वागत हुआ। वहाँ वैशाली संघ ने भगवान बुद्ध के लिए कूटागारशाला का निर्माण किया। भगवान बुद्ध ने वहाँ के लोगो को कई उपदेश दिए बताया जाता है की इस समय भगवान ने नगर के लोगों को रत्न सूत का उपदेश भी दिया था। जिससे लोगो के रोग दूर हो गए।

भगवान के कारण वहाँ से महामारी धीरे - धीरे खत्म होने लगी। और मृत्यु का नाच रुक गया। फिर बहुत अच्छी बारिश हुई थी। वहाँ सभी पेड़ - पौधे हरे - भरे हो गए थे। फूल खिलने लगे और चारो तरफ खुशियों का माहौल फिर से बन गया।

ऐसा चमत्कार देख किसी ने भगवान से पूछा की आखिर ये चमत्कार कैसे हुआ। इसमें बुद्ध बोले में पूर्व जन्म में एक शंक नामक ब्राम्हण था मने बुद्ध पुरुष के चेत्यो की पूजा की थी। और आज यह जो कुछ भी चमत्कार हुआ है उसी पूजा का फल है। जो उस समय पूजा की वह बहुत ही अल्प थी लेकिन उसका फल आज इतना विशाल मिला है। बीज तो होते ही बहुत छोटे है लेकिन उनसे निकले पेड़ आसमान को छूने की शक्ति रखते है।

फिर भगवान बुद्ध ने कहा की हमें ऊंच - नीच का भेद त्याग कर अपना पूरा जीवन मनुष्य धर्म की सेवा में लगाना चाहिए। दूसरो को कभी दुःख में देख कर ख़ुशी नहीं बनानी चाहिए। हमे इस वैर के चक्र से बाहर निकलना चाहिए और अपने भीतर देखना चाहिए।

शिक्षा - बच्चों इस घटना से हमे यह शिक्षा मिलती है की मुश्किल समय में हमें अपने सारे फालतू काम छोड़ कर सिर्फ और सिर्फ भगवान की शरण में जाना चाहिए। अपने मन को शांत कर के ध्यान में बैठना चाहिए।    

Lockdown 2.0 : PM Modi का ऐलान देश में लॉकडाउन 3 May तक रहेगा - आज देश के नाम भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सुबह 10 बजे पुरे भारत के नाम सम्बोधन था। जिसमें उन्होंने भारत में कोरोना महामारी के संकट काल में लॉकडाउन को और आगे बढ़ाने का फैंसला किया है। ऐसे में प्रधानमंत्री ने 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाया है। साथ ही साथ उन्होंने कहा है की अगले 1 हफ्ते तक बीमारी से लड़ने के लिए कठोरता बरती जाएगी।

Lockdown 2.0 : PM Modi का ऐलान देश में लॉकडाउन 3 मई तक रहेगा (जरूरी 7 बाते)

भारत में इस महामारी से लड़ने की पूरी तैयारी हो चुकी है। प्रधानमंत्री का कहना है की इसके लिए हमारे पास काफी अस्पताल है जो सिर्फ कोरोना महामारी का ही इलाज कर रहे है और देश में 1 लाख के करीब कोरोना बेड भी तैयार किए जा चुके है। ताकि कोरोना मरीजों का सही से इलाज हो सके।

 PM Modi ने ऐलान किया है की भारत के वैज्ञानिक और विज्ञान से सबन्धित युवा आगे आओ ताकि हम सब मिलकर भारत में कोरोना की वैक्सीन बना सके। आज सभी युवाओं को भी आगे आ कर पुरे देश की मदद करनी चाहिए। भारत के डॉक्टर, पुलिस, प्रशासन सभी इस काम में लगे है ऐसे में युवा का भी साथ प्रधानमंत्री जी ने माँगा है।

आज उन्होंने जरूरी 7 बाते भी बताई है। जिनका पालन भी प्रत्येक भारतीय को करना चाहिए । 

1. अगर आपके घर में कोई बुजर्ग व्यक्ति है तो आपको उनका इस महामारी के संकट काल में पूरा ध्यान रखना है।
2. लॉकडाउन के सभी नियमों का पालन करें। लॉकडाउन में बनाई लक्ष्मण रेखा का भी पालन करें। घर में ही रहे। मास्क पहने।
3. अपनी इम्यूनिटी बढ़ाए और आयुष्मान मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी को फॉलो करें। गर्म पानी और काढ़े का सेवन करें।
4. आरोग्ये सेतु एप्प डाउनलोड करें और अपने परिवार को भी करवाए।
5. जीतना हो सके उतनी गरीब परिवारों की सेवा करें।
6. आप अपने व्यवसाय और उद्योग में काम कर रहे व्यक्तियों को नौकरी से न निकले।
7. देश के कोरोना योद्धाओं का पूरा समान करें। 

Ganga Pani Hua Saf - लॉकडाउन के कारण प्रकृति हुई और भी खूबसूरत : गंगा और यमुना समेत तमाम नदियों का जल हुआ साफ - Corona Lockdown air purifier know how clean Ganga and Yamuna - आज भारत में Corona Lockdown के कारण सभी लोग अपने - अपने घरों में बैठे है। ऐसे में भारत में प्रदूषण धीरे - धीरे कम होता नजर आ रहा है। इसकी एक तस्वीर हमारे पास Uttarakhand से आई है। बताया जा रहा है की 21 दिनों के लॉकडाउन के चलते अब हरिद्वार में गंगा घाट पर कोई नजर नहीं आ रहा है ऐसे में गंगा का जल और भी ज्यादा साफ और निर्मल दिखाई दे रहा है। ये तस्वीर उत्तराखंड की है जिसमें आप प्रकृति की सुंदरता को देख सकते हो।

Ganga Pani Hua Saf

बताया जा रहा है की यहाँ पहले की बजाए 50 फीसदी तक पानी साफ हो गया है। अब तो नीचे के कंकड़ - पत्थर साफ नजर आने लगे है।

आपको बता दे की हरिद्वार भारत में बहुत बड़ा तीर्थ स्थान है। यहाँ साल भर में 50 लाख से भी ज्यादा लोग आते है। जिनमे विदेशी भी शामिल है। और कुंभ के समय तो यहाँ भीड़ की संख्या का अनुमान भी नहीं लगाया जा सकता। ऐसे में यहाँ इतनी ज्यादा भीड़ होने के कारण गंदगी भी सबसे ज्यादा होती थी।

भारत सरकार ने गंगा के जल को स्वच्छ बनाने के लिए "नमामि गंगे " योजना का भी शुभआरभ किया था। ताकि गंगा के जल को साफ और निर्मल किया जा सके। लेकिन यह पूरी तरह से हुआ नहीं। क्योकि लोग फिर आते और कचरा डाल जाते। लेकिन आज सिर्फ 21 दिनों के लॉकडाउन की वजह से भारत में तमाम नदियों का जल स्वच्छ हो चूका है।

इसी के साथ - साथ पर्यावरण में प्रदूषण की मात्रा भी बहुत कम हो गयी है। क्योकि हवाई जहाज और मोटर वाहन से निकला धुँआ वातावरण को सबसे ज्यादा प्रदूषित करता था। लेकिन आज सब बंद है ऐसे में पेड़ो ने वातावरण में मौजूद प्रदूषण को साफ कर दिया है। और प्रकृति को पहले की बजायें और ज्यादा खूबसूरत बना दिया है। आज इंसान तो कोरोना महामारी की वजह से तकलीफ में है लेकिन प्रकृति का रंग और भी ज्यादा सुंदर होता नजर आ रहा है। 

Covid-19 : Google ने कहा सभी Corona Warriors को - Thank You !! - आज Google के पूरी दुनियाँ भर में अरबों यूजर है। ऐसे में गूगल समय - समय पर अपने यूजर्स के लिए कुछ नया लाता ही रहता है। आज चारों तरफ पुरे विश्व में Coronavirus ने हाहाकार मचा रखा है। लाखों लोगो ने इस में अपनी जान गवा दी है। ऐसे समय में पुरे विश्व में कुछ लोग अपने धर्म और देश सेवा का पूर्णतया से पालन कर अपनी सेवा दे रहे है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो की जान बचाई जा सके।

ऐसे में आज पूरा विश्व इन  Corona Warriors को सलाम कर रहा है जिसमे - हमारे सफाई कर्मी, पुलिस, डॉक्टर, नर्स स्टाफ, अन्य सभी देश सेवा में लगे ग्रुप के लोगो को हम आज 13 अप्रैल को  Corona Warriors Day बना रहे है। ताकि इन लोगो का हौसला और ताकत और ज्यादा मजबूत हो सके इसलिए आज पूरी दुनियाँ इन्हे दिल से थैंक्स बोल रही है।

Google ने कहा सभी Corona Warriors को : Thank You !!

इसी के चलते हमने पिछली पोस्ट में उन  Corona Warriors की कुछ फोटो भी आपके साथ साँझा की है।
यह भी देखिए :- भारत के सुपर हीरो, इन Corona Warriors को दिल से सलाम - Corona Warriors images in India

आज गूगल ने भी इन सभी को कहा है - To all doctors, nurses, and medical workers, thank you !!

भारत की बात करे तो भारत में आज कोरोना मरीजों का आकड़ा 10,000 पार निकल गया है और 400 के करीब लोगो ने इस महामारी के कारण जान भी गवा दी है। भारत में पहले लॉकडाउन 21 दिनों का था लेकिन बढ़ते आकड़े देख सरकार सभी को 30 अप्रेल तक घरों में रहने की हिदायत दे रहे है।

पुरे विश्व में मरीजों का आकड़ा 20 लाख के करीब पहुंच गया है और 1 लाख 20 हजार लोगों ने इस वायरस के कारण अपनी जान गवा दी है। बताया जा रहा है की धीरे - धीरे ये वायरस अपना रूप बदल रहा है और सभी के लिए और ज्यादा जानलेवा भी बनता जा रहा है। ऐसे में भारत की सरकार ने यहाँ के लोगो से अपील की है की तमाम तरह के सरकारी नियमों का पालन करें और अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए घर पर ही रहे। क्योकि जान है तो जहान है। 

भारत के सुपर हीरो, इन Corona Warriors को दिल से सलाम - Corona Warriors images  - आज पुरे भारत में कोरोना नाम की महामारी ने तहलका मचा रखा है। भारत के करोड़ो लोग अपने - अपने घरों में बैठे है। चाहे छोटा Business हो या बड़ा सब इस महामारी की चपेट में आने के कारण बंद है।

शहरों से लोग अपने - अपने गावों की पर पलायन कर चुके है। हजारों लोग इस महामारी की मार झेल भी रहे है। देश ही नहीं पूरा विश्व आज इस महामारी के कारण बहुत बड़ी मंदी के दौर से गुजर रहा है। भारत में बहुत बड़ी आबादी गरीब तबके की है। ऐसे में उन्हें भोजन सामग्री उपलब्ध करवाना सरकार की जिम्मेदार हो गई है।

Corona Warriors All Police and Doctor images in India 

ऐसे में भारत के आज सभी छुपे रियल हीरों सामने आ रहे है। एक तरफ तो ऐसे लोग है जो वस्तुओं के दाम बढ़ा चढ़ा कर दे रहे है या देश में महामारी फैलाने की साजिश कर रहे है और एक तरफ वो सुपर हीरों है जो इन लोगों के मसूबे कभी कामियाब नहीं होने देंगे वो हीरो भारत और भारत की जनता के साथ हमेशा खड़े है। आइये आज आपको भारत के उन सुपर हीरो की कुछ Corona Warriors Pic दिखाते है। जो दिन रात मानव सेवा में लगे है। अपनी जान हथेली में रख कर ये लोग देश के करोड़ो लोगो की जान बचा रहे है।


ऊपर दिखाई फोटो में दोनों डॉक्टर पति - पत्नी है। 18 घंटे तक ये कपल मरीजों की सेवा में दिन रात लगा रहता है। सिर्फ चंद पलों के लिए ही होती है इन दोनों की मुलाकात। हमारे देश के डॉक्टर हमारे Corona Warriors है। हमारे सुपर हीरो है।


इस दूसरी फोटो में आप देखोगे की कैसे एक पुलिस वाला अपने बच्चो से भी नहीं मिल सकता और घर से ही बाहर बाल्टी पर थाली रख कर खाना खा रहा है। ताकी घर का कोई भी व्यक्ति उनके कारण सक्रमित न हो जाए। पुलिस वाले की बच्ची दूर खड़ी अपने पापा को देख रही है। सच में ये फोटो बहुत ही भावुक है। 


इस अगली फोटो में आप देख रहे हो की किस प्रकार कुछ लोग एक टीम बना कर उन गरीब बस्तियों में राशन की सामग्री पहुंचा रहे है। जहाँ उन तक कोई मदद नहीं पहुंची हो। 


हम लोग घरो में आराम से सो रहे है और कहते है की घर पर बौर हो रहे है। जरा इन पुलिस वालो को देखो जो अपनी जान जोखिम में डाल कर हमारी जान बचा रहे है। इनकी बस आपसे यही अपील है की आप सब घर पर रहो सुरक्षित रहो। कोरोना से लड़ने के लिए हम पुलिस वाले बाहर है। 


आज कोरोना की चपेट में सिर्फ मानव ही नहीं बल्कि बेजुबान पशु और पक्षी भी आ गए है। ये तो भूख के बारे में किसी से कह भी नहीं सकते। ऐसे में कुछ लोग इन बेजुबान लोगों की काफी मदद कर रहे है। जिन्हें आप ऊपर फोटो में देख सकते हो। 



ऊपर दिखाई गई फोटो के लिए तो लिखने के लिए मेरे पास कोई शब्द ही नहीं है। आप अपने आप समझ सकते हो। इन्हें दिल से सलाम !!



जरा इस डॉक्टरों की टीम को देखो यह है भारत के असली शेर जो अपनी जान दाव पर लगा कर दुनियाँ को बचा रहे है। भगवान इन्हें हमेशा स्वस्थ एवं सुरक्षित रखें।


पुरुष तो पुरुष महिलाये भी इस लड़ाई में पीछे नहीं है। वह भी अपने - अपने घर परिवार को सभालने के साथ - साथ देश की सेवा में भी सबसे आगे है।  इस फोटो में आप महिलाओं को भारत की जनता के लिए मास्क बनाते देख रहे हो। 


जरा ऊपर दिखाई गई फोटो को देखिए किस तरह एक बूढी अम्माँ को उनके घर तक पहुँचाती हुई एक महिला पुलिस। 


अब जरा इस फोटो को देखिये कैसे एक पुलिस वाला हम सब की सेवा के कारण अपनी पत्नी और बच्चों से भी नहीं मिल पा रहा। उन्हें खाना भी घर से बहार ही खाना पड़ रहा है। ताकि उसका परिवार सुरक्षित रहे। आज यह सब भारत के सुपर हीरों ताकि भारत की जनता सुरक्षित रहे। 

ऐसे में कुछ लोग डॉक्टर और पुलिस वालों पर हमला कर रहे है यह बहुत ही शर्मनाक घटनाएं है। उन्हें यह सोचना चाहिए की आखिर ये लोग अपनी जान सकंट में क्यों डाल रहे है। क्यों यह लोग अपने परिवार से भी इस समय नहीं मिल पा रहे है। ताकि हम सब इस कोरोना महामारी से बच सके और भारत के सभी नागरिक सुरक्षित रहे। 



देखिए बड़े - बड़े अभिनेता भी आज इन भारत के Corona Warriors को दिल से सलाम कर रहे है। अगर आप भी इन भारत के सभी Corona Warriors के साथ हो तो कृपया एक बार इन्हे दिल से धन्यवाद जरूर दे इन्हे दिल से सलाम जरूर करे। मधुशाला की तरफ से भारत के इन तमाम Corona Warriors को धन्यवाद !! आप सभी घर पर रहे। सुरक्षित रहे धन्यवाद !!

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget