कोरोना संकट : मानसून में रफ्तार बढ़ सकती है कोरोना वायरस की, रखें सावधानी !!



कोरोना संकट : मानसून में रफ्तार बढ़ सकती है कोरोना वायरस की, रखें सावधानी !!  - Corona Crisis: Corona virus may increase in monsoon, take care !! - विश्वयापी महामारी घोषित हो चूका कोरोना वायरस अब भारत में भी धीरे - धीरे अपने पैर पसार रहा है। 40 दिन के लॉकडाउन के कारण कुछ मामलों में कमी जरूर आई है लेकिन कोरोना ग्राफ अभी भी तेजी से बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। भारत में 25 हजार लोगो को इस वायरस ने अपनी चपेट में ले लिया है।

आने वाले कुछ महीनें भारत को बहुत ही सावधानी पूर्वक बिताने होंगे क्योंकि जुलाई - अगस्त में मानसून पुरे भारत पर छा जाता है। भारत में इसके आसार मई- जून की रिमझीम बारिश से ही शुरू हो जाते है। बैक्टीरिया और वायरस ऐसे एलर्जिक मौसम में बहुत जल्दी फैलते है। क्योंकि बारीश किसे नहीं पसंद लेकिन गर्मियों में बारिश में नहाना ठंडा पानी पीना और एयर कडिशन का उपयोग करना ये सभी बिमारी के कारण बन सकते है। ऐसे में इस बार आप सभी को अपनी सेहत का पूरा ध्यान रखना आवश्यक है।
कोरोना संकट : मानसून में रफ्तार बढ़ सकती है कोरोना वायरस की, रखें सावधानी !! 

शिव नादर विश्वविद्यालय के गणित विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर समित भट्टाचार्य के मुताबिक कोरोना का ग्राफ भारत के साथ - साथ सम्पूर्ण विश्व में बहुत ही तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में जब तक इस की वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक ये संकट ऐसे ही बना रहेगा। क्योंकि वैक्सीन के द्वारा ही हम इस महामारी को काबू में कर सकते है। ऐसे में मई - जून में भारत के लोगो को अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। मानसून के कारण जुलाई और अगस्त में कोरोना वायरस के मामले अचानक बढ़ सकते है।

भारत के वैज्ञानिको ने भी सी बात की पुष्टि की है की अगर भारत में लॉकडाउन के नियमों का पालन न किया जाए और सभी चीजों में फिर से ढील दे दी जाए तो हम बहुत बड़ी समस्या में फस सकते है। जिसका इलाज किसी के पास नहीं है।

वैसे मौसम विभाग का कहना है की इस बार भारत में मानसून अच्छा जाने वाला है। मौसम में आए परिवर्तन के कारण भारत में इस बार वर्षा अच्छी होगी। लेकिन लॉकडाउन के चलते किसानों को इसका पूरा लाभ नहीं मिल पाएगा। 

No comments:

Post a Comment