Covid-19 : खेतों में सोने की तरह लहरा रही है रबी की फसल, लेकिन काटने के लिए कोई नहीं



Covid-19 : खेतों में सोने की तरह लहरा रही है रबी की फसल, लेकिन काटने के लिए कोई नहीं - Rabi Crop is Waving Like Gold in Fields, But No One to Cut it - कोरोना संकट काल में जहाँ आज पूरा देश परेशान है। ऐसे में भारत के किसान भाई और मदजूर भाई दोनों ही बहुत परेशान है।  राजस्थान में इस समय किसान भाई अपने - अपने खेतों में गेहूँ की फसल की कटाई करते है लेकिन आज लॉकडाउन के चलते ऐसा कुछ भी नहीं हो पा रहा है। न ही फसल की कटाई के लिए मजदूर है और न ही फसल में से दाना निकालने के लिए कोई लोग है। इस आर्थिक सकंट काल में सभी सरकार के नियमों का पालन कर रहे है और अपने - अपने घरों में बैठे है।
Covid-19 : Rabi Crop is Waving Like Gold in Fields, But No One to Cut it

राजस्थान जैसा हाल ही उतरप्रदेश और मध्य्प्रदेश के किसानों का है। अब भला करे भी तो क्या करें। एक तरफ महामारी का वैश्विक प्रकोप है तो दूसरी तरफ गिरती अर्थव्यवस्था है। ऐसे में सरकारे हर सम्भव प्रयास कर रही है ताकि भारत के सभी नागरिको को राशन मिल सके। आज हम सब के लिए यह समय बहुत ही चुनौतीपूर्ण है।

ऐसे में भारत के किसानों के लिए भी यह समय सबसे कठिन और दुःख दाई है। वैसे तो भारत का किसान ऐसे छोटे - मोटे हर संकट का सामना करता ही रहता है। कभी वर्षा का न होना, कभी ज्यादा होना। कभी फसल के कीड़े लग जाना तो कभी अकाल पड़ जाना। लेकिन आज सच में हम सब के सामने ये उदारहण है की वाकई में भारत का किसान भारत का अन्न देवता है। जो इतनी मुसीबतों के बावजूद भी हमारा पेट भरता है।

आज राजस्थान की सरकार को भी किसानों की बहुत ज्यादा चिंता सता रही है। उन्होंने बहुत रात - दिन मेहनत की है। गर्मी हो या सर्दी उन्होंने अपने खेतों में रात दिन काम कर के फसलों को तैयार किया है। इसलिए यहाँ की सरकार और प्रशासन भी यही सोच रहा है की कैसे न कैसे ये महामारी भारत से समाप्त हो जाए। सभी किसानों का हौसला बढ़ा रहे है और आज सभी भारतीय नागरिक भारत के किसानो के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़े है।

दोस्तों आप सब भी किसान भाईयों की मदद कर सकते हो इसके लिए बस आप सभी को लॉकडाउन के समय सीमा तक अपने - अपने घरों में रहना है ताकि भारत से जल्द से जल्द कोरोना महामारी को खत्म किया जा सके। कृपया आप भी हमारा साथ दे और घर पर ही रहे। जय जवान जय किसान !!

No comments:

Post a Comment