अमिताभ बच्चन की जीवनी | Amitabh Bachchan Biography in Hindi - Amitabh Bachchan Ki Jivani Hindi Mein



Amitabh Bachchan Family Jivani New Film in Hindi - अमिताभ बच्चन की जीवन  - Amitabh Bachchan Biography in Hindi 

अमिताभ बच्चन भारत के सुप्रसिद फिल्म अभिनेता है। अमिताभ बच्चन को भारत में महानायक के रूप में जाना जाता है। अपनी फिल्मो और बेहतरीन किरदार के कारण इन्हे ‘एंग्री यंग मैन’ की उपाधि भी प्राप्त है। चाहे किसी भी परिस्थति हो इन्होने अपने जीवन को एक लय में सुंदरता से जिया है। युवाओं के लिए  प्रेरणा बन चुके इस सदी के महानायक ने अपने जीवन में कई उतार - चढ़ाव देखे है। आइये जानते है Amitabh Bachchan Ki Jivani के बारे में। 
अगर आप अमिताभ बच्चन की सभी फिल्मों के बारे में और आने वाली सभी फिल्मो के बारे में जानना चाहते हो तो कृप्या यहाँ क्लिक करे अमिताभ बच्चन की सभी फिल्में
अमिताभ बच्चन की जीवनी

नाम (Name) - अमिताभ बच्चन

असली नाम (Real Name) - अमिताभ हरिवंशराय बच्चन

नाम का मतलब (Meaning of Name) - जिसमे अत्यधिक आभा हो, असीमित प्रतिभा

अन्य नाम ( Nick Name) - बिग बी, एंग्री यंग मेन, बॉलीवुड के शहनशाह

जन्म तारीख (Date of birth) - 11 अक्टूबर 1942

जन्म स्थान (Place) - इलाहाबाद (उत्तर प्रदेश)

राशि (Zodiac Sign) - तुला (LIBRA)

उम्र( Age) - 76 साल

पता (Address) - मुंबई

स्कूल (School) - सिंधिया स्कूल तथा सेंट स्टेनिस्लास हाईस्कूल

कॉलेज(College) - सेंट जेवियर्स कालेज

ओक्यूपेशन(Occupation) - एक्टर,प्रोडूयूसर,सिंगर,रायटर

कुल सम्पति(Total Assets) - एक हजार करोड़ लगभग

भाषा(Languages) - हिंदी , इंग्लिश

नागरिकता(Nationality) - इंडियन

खास दोस्त (BestFriend) - राजेश खन्ना, धर्मेन्द्र

दिलचस्पी (Activities) - सिंगिंग, ब्लोगगिंग, रीडिंग

ट्विटर पेज (Twitter Page) - @srBachchan

फेसबुक पेज (Facebook Page) - Amitabh Bachchan

इन्स्टाग्राम अकाउंट (Instagram Account) - @amitabhbachchan

अमिताभ बच्चन का जन्म और पारिवारिक जानकारी (Amitabh Bachchan Date of Birth Age in Hindi)
अमिताभ बच्चन का जन्म स्थान इलाहबाद है जो की भारत के उत्तरप्रदेश में स्थ्ति है। अमिताभ बच्चन के पिता (हरिवंश राय बच्चन) का निधन 18 जनवरी 2003 मुंबई में हुआ था। हरिवंश राय बच्चन हिंदी भाषा के कवि थे। जिन्होंने अनेको कविताएँ लिखी है। 

हरिवंशराय बच्चन की पहली पत्नी श्यामा बच्चन थी, जिनकी टी.बी नाम की गंभीर बीमारी से मौत हो गई थी. इनकी दूसरी शादी तेजी सूरी नाम की एक लड़की से हुई जोकि, एक पंजाबी महिला थी. बच्चन परिवार के दो बेटे है अमिताभ और अजिताभ. अमिताभ को इनके दादाजी प्रतापनारायण श्रीवास्तव का अवतार माना जाता है  इनकी माता एक घरेलू महिला थी. इनके चेहरे के तेज इनके हाव-भाव को देख कर इनके पिता ने इनका जन्म का नाम इंकलाब रखा था, इंकलाब का मतलब ही क्रांति होता है. बाद मे इनके पिता की साथी कवियित्री सुमित्रानंदन पंथ ने अपनी पसंद का नाम दिया तथा इनको अमिताभ नाम मिला. इसके अलावा इनसे छोटे इनके एक भाई है जिसका नाम अजिताभ बच्चन है. इनका सही मायने मे सरनेम श्रीवास्तव था इनके पिता ने इसको बदल कर बच्चन किया उसके बाद से इनका सरनेम बच्चन हुआ.

राजनीति में आजमायी किस्‍मत 
सदी के इस महानायक ने भी राजनीति में अपनी किस्‍मत आजमायी थी वे राजीव गांधी के करीबी दोस्‍त थे इसलिये उन्‍होंने कांग्रस पार्टी जॉइन की थी और इलाहाबाद से देश आठवें आम चुनाव में ताकतवर नेता एच एन बहुगुणा को हराया था। लेकिन उन्‍हें यह राजनीति का संसार बहुत भाया नहीं और उन्‍होंने मात्र तीन साल में ही इससे अलविदा ले लिया।  

अमिताभ बच्चन के अन्य नाम 
अमिताभ बच्चन हिन्दी सिनेमा के सबसे बड़े और सबसे प्रभावशाली अभिनेता माने जाते हैं। उन्हें लोग ‘सदी के महानायक’ के तौर पर भी जानते हैं और प्‍यार से बिग बी, शहंशाह भी कहते हैं।

अमिताभ बच्चन की पढ़ाई
अमिताभ बच्चन शेरवुड कॉलेज, नैनीताल के छात्र रहे हैं। इसके बाद की पढ़ाई उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के किरोरीमल कॉलेज से की थी। पढ़ाई में भी वे काफी अव्‍वल थे और कक्षा के अच्‍छे छात्रों में उनकी गिनती होती थी। कहीं ना कहीं ये गुण उनके पिताजी से ही आए थे क्‍योंकि वे भी जानेमाने कवि रहे थे। 

अमिताभ बच्चन की शादी
अमिताभ बच्चन की शादी जया बच्चन से हुई जिनसे उन्हें दो बच्चे हैं। अभिषेक बच्चन उनके सुपुत्र हैं और श्वेता नंदा उनकी सुपुत्री हैं। रेखा से उनके अफेयर की चर्चा भी खूब हुई और लोगों के गॉसिप का विषय बनी। 

अमिताभ बच्चन का शुरूआती करियर
अमिताभ बच्चन की शुरूआत फिल्मों में वॉयस नैरेटर के तौर पर फिल्म 'भुवन शोम' से हुई थी लेकिन अभिनेता के तौर पर उनके करियर की शुरूआत फिल्म 'सात हिंदुस्तानी' से हुई। इसके बाद उन्होंने कई फिल्में कीं लेकिन वे ज्यादा सफल नहीं हो पाईं। फिल्म 'जंजीर' उनके करियर का टर्निंग प्वाइंट साबित हुई। इसके बाद उन्होंने लगातार हिट फिल्मों की झड़ी तो लगाई ही, इसके साथ ही साथ वे हर दर्शक वर्ग में लोकप्रिय हो गए और फिल्म इंडस्ट्री में अपने अभिनय का लोहा भी मनवाया।

पिता का नाम (Father’s Name) - हरिवंशराय बच्चन

माता का नाम(Mother’s Name) - तेजा बच्चन

मेरिटल स्टेट्स(RelationshipStatus) - मेरिड

पत्नी का नाम (Wife’s Name) - जया बच्चन

बेटी का नाम (Daughter’s Name) - श्वेता बच्चन नन्दा

दामाद का नाम (Son in Law’s Name) - निखिल नन्दा

बेटे का नाम (Son’s Name) - अभिषेक बच्चन

बहु का नाम (Daughter in Law’s Name) - ऐश्वर्या रॉय बच्चन

नाती-पोती का नाम(Grand  Daughter’s Name) - (1) आराध्या अभिषेक बच्चन की बेटी (2) नव्या-नवेली नन्दा (श्वेता बच्चन नन्दा की बेटी)

नाति का नाम (Grand  Son’s Name) - अगस्तया नन्दा (श्वेता बच्चन नन्दा का बेटा)

भाई (Brother) -  अजिताब बच्चन
   
भाभी (Sister in law) - रमोला बच्चन

गर्लफ्रेंड्स(Girlfriend) - (1) परवीन बाबी  (2)  जीनत अमान  (3)  रेखा

अमिताभ बच्चन का लुक(LOOKS OF AMITABH BACHCHAN)  इनके लुक के कई दीवाने है. जब से इन्होंने बॉलीवुड मे एंट्री की थी तब से, आज तक ये वैसे से ही है. समय के साथ इन्होंने खुद को भी बदला है. यह एक मात्र एक्टर है जोकि, पिच्चोतर वर्ष की उम्र पार कर लेने के बाद भी, अपने लुक और फिटनेस पर बहुत ध्यान देते है.  इनके लुक की संक्षिप्त जानकारी इस प्रकार है –

रंग (Color) - गोरा

लम्बाई (Height) - 6.1 Fit

वजन (Weight) - 80Kg

बॉडी साइज (Body size) - चेस्ट- 40 इंच, वेस्ट- 32, बायसेप- 14 इंच

आखों का रंग (Eye Colour) - काला

बालों का रंग (Hair Colour) - सफेद

अमिताभ बच्चन से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें
- अमिताभ बच्चन 'सदी के महानायक' कहे जाते हैं। वे हिन्दी फिल्मों के सबसे बड़े सुपरस्टार माने जाते हैं। 

- उन्हें असली पहचान फिल्म 'जंजीर' से मिली थी। यह फिल्म अमिताभ से पहले कई बड़े अभिनेताओं को ऑफर हुई थी जिसमें मशहूर अभिनेता राजकुमार भी शामिल थे लेकिन राजकुमार ने इस फिल्म को यह कहकर ठुकरा दिया था कि डायरेक्‍टर के बालों के तेल की खुशबू अच्‍छी नहीं है। 

- 70 और 80 के दौर में फिल्‍मी सीन्‍स में अमिताभ बच्‍चन का ही आधिपत्‍य था। इस वजह से फ्रेंच डायरेक्‍टर फ़्राँस्वा त्रुफ़ो ने उन्‍हें 'वन मैन इंडस्‍ट्री' तक करार दिया था।

- अपने करियर के दौरान उन्‍होंने कई पुरस्‍कार जीते हैं जिसमें सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेता के तौर पर 3 राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार भी शामिल है। इंटरनेशनल फिल्‍म फेस्टिवल्‍स और कई अवार्ड समारोहों में उन्‍हें कई पुरस्‍कारों से सम्‍मानित किया गया है। वे 14 फिल्‍मफेयर पुरस्‍कार भी जीत चुके हैं। उन्‍हें फिल्‍मफेयर में सबसे ज्‍यादा 39 बार नामांकित किया जा चुका है।  

- फिल्‍मों में बोले गए उनके डॉयलाग आज भी लोगों के दिलों में ताजा हैं। उनके सुपरहिट करियर में उनके फिल्‍मस के डॉयलाग्‍स का भी अ‍हम रोल रहा है। 

- उन्‍हें भारत सरकार की तरफ से 1984 में पद्मश्री, 2001 में पद्मभूषण और 2015 में पद्मविभूषण जैसे सम्‍मान मिल चुके हैं। 

- करियर के शुरूआती दौर में उन्‍हें काफी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ा था। उनकी फिल्‍में लगातार फलाप हो रही थीं तब वे वापिस घर लौटने का मन बना चुके थे लेकिन फिल्‍म जंजीर उनके करियर का टर्निंग प्‍वाइंट बन गई और फिल्‍म इंडस्‍ट्री में 'एंग्री यंग मैन' का उदय हुआ। 

- आज जिस अमिताभ बच्‍चन के आवाज की पूरी दुनिया कायल है, एक समय था जब उनकी आवाज उनके करियर में रोड़ा बन रही थी और उन्‍हें नकार दिया गया था लेकिन बाद में उनकी आवाज ही उनकी ताकत बनी और उनकी आवाज औरों से काफी जुदा और भारी थी, इस वजह से उन्‍हें कई निर्देशकों ने कई फिल्‍मों में अपनी कहानी को नैरेट तक करवाया। कई प्रोग्राम्‍स को उन्‍होंने भी होस्‍ट किया। 

अमिताभ के करियर का बुरा दौर 
- उनकी फिल्‍में अच्‍छा बिजनेस कर रही थीं कि अचानक 26 जुलाई 1982 को कुली फिल्‍म की शूटिंग के दौरान उन्‍हें गंभीर चोट लगी गई। दरअसल, फिल्‍म के एक एक्‍शन दृश्‍य में अभिनेता पुनीत इस्‍सर को अमिताभ को मुक्‍का मारना था और उन्‍हें मेज से टकराकर जमीन पर गिरना था। लेकिन जैसे ही वे मेज की तरफ कूदे, मेज का कोना उनके आंतों में लग गया जिसकी वजह से उनका काफी खून बह गया और स्‍थिति इतनी गंभीर हो गई कि ऐसा लगने लगा कि वे मौत के करीब हैं लेकिन लोगों की दुआओं की वजह से वे ठीक हो गए। 

अमिताभ बच्चन का करियर (CAREER OF AMITABH BACHCHAN) 
अपनी पढ़ाई दिल्ली से पूरी करने के बाद यह कलकत्ता गये, इन्होंने वहा सात साल काम किया उसके बाद ये मुम्बई आ गये. आज से लगभग पचास साल पहले काम की तलाश मे यह “सपने के शहर” मुम्बई आये थे. इन्होंने तीन मुख्य रूप से अपने जीवन को जिया था, जिसमे इनको अच्छे और बुरे दोनों तजुर्बे मिले खासतौर पर इन्होंने फिल्मों मे काम किया, उसके बाद टेलीविजन मे फिर कुछ समय राजनीति मे सक्रीय रहे. हम यहाँ इनके करियर के तीनों बिन्दुओं पर चर्चा करेंगे.

फिल्मों मे करियर 
इन्होंने सन् उन्नीस सौ उन्नसतर मे सबसे पहले “भुवन शोम” नाम की एक फिल्म मे अपनी आवाज दी थी. इस फिल्म को कई अवार्ड मिले थे. इसी के साथ सात हिन्दुस्तानी से मुख्य रूप से इनके करियर की शुरुवात हुई थी. इनका मानना था कि हमे काम की तलाश मे डोर टू डोर जाना पड़ता था, जिससे भविष्य मे एक अच्छे करियर का निर्माण हम कर पाए. उनके हिसाब से फिल्म जगत के दरवाजे खोलने के लिये खुद मेहनत करना बहुत जरुरी है. इनके लिये वह सुबह जल्दी उठते थे और स्टूडियो पर जाया करते थे और कहते थे में अपनी किस्मत अपना चेहरा अपनी आवाज को अजमा रहा हूँ.

किसी को नही पता था यह नौजवान इतनी आगे जायेगा, आज तक इन्होंने लगभग दौ सौ से भी ज्यादा फिल्मों मे काम किया है. इनको “बॉलीवुड का भगवान”(Godfather of Bollywood) की उपाधि दी गई है.

इन्होंने शुरुवाती दौर मे सन् उन्नीस सौ उन्नसतर से सन् उन्नीस सौ बहोतर तक बहुत ज्यादा मेहनत करी पर एक भी हिट फिल्म नही दे सके इनकी सभी फिल्मे फ्लॉप होती गई. सन् उन्नीस सौ तिहोतर मे उन्होंने जंजीर फिल्म मे काम किया, जिसमे उन्होंने एक ईमानदार पुलिस इंस्पेक्टर के रूप मे विजय खन्ना का रोल अदा किया. तब इन्होंने कहा मुझे खुद यकीन नही हो रहा था कि क्या देख कर मुझे मुख्य रोल अदा करने के लिये कहा गया. तब निर्देशक प्रकाश मेहरा और जावेद अख्तर, सलीम खान से इन्होंने इस बात को पूछा और उन्होंने जवाब दिया कि उन्होंने इनकी कई फिल्मों को बार-बार देखा तथा उनके काम करने का तरीका इन लोगों को बहुत पसंद आया इसलिये इन तीनों ने फैसला किया कि इस फिल्म मे मुख्य भूमिका इनकी ही होगी.

टेलीविजन मे करियर 
कहा जाता नब्बे का दशक ऐसा था जब इनके ऊपर बहुत कर्जा हो गया था इनकी फिल्में भी फ्लॉप हो रहीं थी. तब सन् दो हजार मे टेलीविजन शो मे होस्ट के रूप मे एक ऑफर आया, जिसे इन्होंने स्वीकार किया वह शो था “कौन बनेगा करोड़पति”. इस शो से इनके जीवन मे फिर बदलाव आया तथा तब से आज तक यह शो यही होस्ट कर रहे है. हर साल इसकी एक सीरीज आती है अभी हाल ही मे 2018 मे यह फिर से चालू होने वाला है.          

अमिताभ बच्चन की पहली तथा त्वरित (हालही में आई) फिल्म का वर्णन (FIRST OR RESENT FILM OF AMITABH BACHCHAN ) – सन् उन्नीस सौ उन्नसतर मे इनको “सात हिन्दुस्तानी” फिल्म मे पहली बार एक्टिंग करने का मौका मिला. जिसमे इनको एक कवि का रोल मिला, जिसका नाम अनवर अली था, जोकि गोवा मे कब्ज़ा कर रहे पुर्तगालियों के साथ मिल गया तथा भारत के राष्ट्रवाद के खिलाफ कहने लगा.

सन् दौ हजार सत्रह मे “पिंक” एक फिल्म आई थी, जो इन्होंने हाल ही मे बनाई है और सुपर हिट हुई इसमें इन्होंने दीपक सहगल नाम के सीनियर वकील का रोल अदा किया. जिसने तीन नवजवान लड़कियों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार उत्पीडन से इनको बचाया तथा समाज मे लड़कियों के साथ हो रहे गलत व्यवहार को बताया. 

अमिताभ बच्चन के जीवन से सीख, इनकी कुछ खास बातें 
इनके जीवन से सीखने के लिये बहुत कुछ है हर किसी के जीवन मे अच्छे-बुरे दिन आते है पर उसे घबराना नही चाहिये संयम से सब्र से काम लेना चाहिये. अपने समय की, अपने काम की और अपने पैसों की कदर करनी चाहिये.

अमिताभ बच्चन द्वारा लिखी की बहुत खूबसूरत चार लाइनें  

“परिवर्तन इस मनुष्य जीवन की प्रकृति है,

जिसमे चुनौती इस जीवन का भविष्य है.

इसलिये परिवर्तनों को चुनौती दे,

लेकिन उन चुनौतीयों को कभी ना बदले.”

अगर आप मधुशाला पर नए है तो कृप्या मधुशाला के फेसबुक पेज से आज ही जुड़े ताकि आने वाली सभी जानकारियों की नोटिफिकेशन आपको मिलती रहे। 

No comments:

Post a Comment