RPSC Latest Notification 2021 

OPSC Recruitment 2021 

ARO Varanasi Army Rally Bharti 2021 

Rajasthan Patwari Exam Date 2021 

RSMSSB Gram Sevak Bharti Latest 


Ganesh Chaturthi 2020 : Date, Puja Vidhi, Timing, Muhurat || गणेश चतुर्थी 22 अगस्त 2020 : पूजा, समय, शुभ मुहूर्त, महत्व



 जानिए गणेश चतुर्थी कब है, Ganesh Chaturthi 2020 Date Puja Vidhi Shubh Muhurat Timings - जिस दिन भगवान श्री गणेश जी का जन्म हुआ था। उसी दिन यानी की भाद्रपद माह में शुक्ल पक्ष की चतुर्थी के दिन गणेश चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है। भगवान श्री गणेश को सबसे पहले पूजा जाता है। सभी शुभ कार्यो में भगवान श्री गणपति जी को "विघ्न हरण मंगल करण के रूप  याद किया जाता है। भगवान गणेश को बुद्धि, समृद्धि और सौभाग्य के देवता के रूप में भी पूजा जाता है। गणपति जी की दो पत्नियाँ रिद्धि - सिद्धि होने के कारण इन्हें समृद्धि और सौभाग्य एवं रिद्धि - सिद्धि के देव के रूप में भी पूजा जाता है। भगवान श्री गणेश के दो पुत्र है शुभ और लाभ इसलिए व्यापारी जन भी इन्हे अपने काम में सबसे पहले याद करते है। 


यह भी पढ़े - श्री गणेश चालीसा

Ganesh Chaturthi 2020 : Date, Puja Vidhi, Timing, Muhurat 

गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2020 importance)  


साल 2020 में गणेश चतुर्थी 22 अगस्त के दिन मनाया जा रहा है। देश भर में कोरोना महामारी की जोर है इसलिए इस कोरोना काल इस बार यह त्यौहार थोड़े अलग ढंग से एवं सावधानी पूर्वक मनाया जायेगा। गणेश चतुर्थी भारत में महाराष्ट्र में बड़े धूम - धाम से मनाई जाती है। यहाँ सभी लोग अपनी इच्छा अनुसार 10 दिनों के लिए बप्पा को अपने घर लाते है एवं उनकी खूब सेवा और पूजा अर्चना करते है। यह 10 दिन यहाँ पर गणेश महोत्सव के रूप में जाने जाते है। इसके बाद बाप्पा को विदा किया जाता है और कहा जाता है की 'गणपति बप्पा मोरिया अगले बरस तू जल्दी आना' (Ganpati Bappa Morya Agle Baras Tu Jaldi Aana) इस कामना के साथ गणपति जी का विसर्जन किया जाता है। 


बप्पा को क्या क्या चढ़ाएं


चावल,सिंदूर, केसर, हल्दी, चन्दन,मौली औऱ लौंग जरुर चढ़ाएं, पूजा में दूर्वा का काफी महत्व है जिसे सामान्य भाषा में दूब कहा जाता है। कहा जाता है कि इसके बिना गणेश पूजा पूरी नहीं होती है। गणेश जी को दक्षिणा अर्पित कर उन्हें 21 लड्डूओं का भोग लगाएं। गणेश जी के पास पांच लड्डू रखकर बाकी बांट देने चाहिए। 


गणेश चतुर्थी के दिन चांद के दर्शन ना करें


गणेश चतुर्थी के दिन रात्रि में चंद्रमा के दर्शन न करें। इस दिन चंद्रमा के दर्शन करना शुभ नहीं माना जाता है। 22 तारीख को रात्रि में चंद्रमा के दर्शन करने से मिथ्या कलंक लग सकता है।


गणेश पूजा (Ganesh Puja Subh Muhurat) मुहूर्त


गणेश चतुर्थी शनिवार, अगस्त 22, 2020 को

पूजा का समय- 11:06 ए एम से 01:42 पी एम

गणेश विसर्जन मंगलवार, सितम्बर 1, 2020 को

चतुर्थी तिथि प्रारम्भ – अगस्त 21, 2020 को 11:02 पी एम बजे

चतुर्थी तिथि समाप्त – अगस्त 22, 2020 को 07:57 पी एम बजे



गणेश चतुर्थी का शुभ मुहूर्त (अगस्त 22, 2020)


मध्यान्ह गणेश पूजन मुहूर्त – 10:46 सुबह से 1:57 दोपहर तक

वर्जित चंद्रदर्शन का समय – 8:47 रात से 9:22 रात तक

चतुर्थी तिथि आरंभ – 21 अगस्त की रात 11:02 बजे से।

चतुर्थी तिथि समाप्त : 22 अगस्त की रात 7:56 बजे तक।


इस मंत्र का करें जाप


घर में अगर गणेश जी की स्थापना हो रही है तो इस बात का ध्यान रखे की बप्पा की आरती सुबह औऱ शाम दोनों पहर होनी चाहिए. गणेश जी की कथा और गणेश चालीसा का पाठ अवश्य करें और “ओम् गं गणपतये नमः” मंत्र की एक माला का जाप करना चाहिए


No comments:

Post a Comment

 

Latest MP Government Jobs

 

Latest UP Government Jobs

 

Latest Rajasthan Government Jobs