Pranab Mukherjee News in Hindi || Bharat Ke Purv Rashtrapati Pranab Mukherjee Ka Nidhan || भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन



Pranab Mukherjee News in Hindi || Bharat Ke Purv Rashtrapati Pranab Mukherjee Ka Nidhan || भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन  : अचानक ही एक निराशा जनक खबर सामने आई है - भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का लंबी बीमारी के बाद सोमवार को निधन हो गया है। यह जानकारी उनके बेटे ने अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट करके सभी को बताई है। 


यह भी पढ़े - R. Bharat की मुहीम से जुड़ रहा है पूरा भारत || Puchta Hai Bharat Arnab Goswami के साथ SSR Latest News on CBI

Pranab Mukherjee News in Hindi

अभी हाल ही में उनकी तबयत बहुत ज्यादा खराब हो गई थी जिसके चलते उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। डॉक्टरों के द्वारा बताया जा रहा है की उनके फेफड़ों में संक्रमण की वजह से सेप्टिक शॉक की स्थिति पैदा हो गई थी। प्रणब मुखर्जी की इस महीने ब्रेन सर्जरी हुई थी, जिसके बाद वह गहरे कोमा में चले गए थे। प्रणब मुखर्जी बीते करीब 20 दिन से दिल्ली कैंट के आर्मी अस्पताल में भर्ती थे। 


यह भी पढ़े - अमिताभ बच्चन की जीवनी


आइये जानते है उनके बेटे ने क्या कहा है, प्रणब मुखर्जी के बेटे का कहना है की "डॉक्टरों के प्रयास और देश की दुआओं के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका"


प्रणब मुखर्जी भारत के 13वें राष्ट्रपति रहे थे। भारत के पश्चिम बंगाल में 11 दिसंबर 1935 को इनका जन्म हुआ था। लंबे वक्त तक कांग्रेस से जुड़े रहे प्रणब मुखर्जी वित्त मंत्री, विदेश मंत्री और राष्ट्रपति पद पर रह चुके हैं।


यह भी पढ़े - अमित शाह की जीवनी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

Bharat Ke Purv Rashtrapati Pranab Mukherjee Ka Nidhan

आज 31 अगस्त 2020 सोमवार के दिन 84 वर्ष की आयु में इन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया है। प्रणब मुखर्जी 1969 में इंदिरा गांधी की मदद से कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य चुने गए। करीब 5 दशक पुराना इनका संसदीय कैरियर था। बताया जाता है की प्रणब मुखर्जी इंदिरा गांधी के बेहद खास थे। 


1984 में आपातकाल के दौरान कांग्रेस के कई अन्य नेताओं की तरह प्रणब मुखर्जी पर भी ज्यादती करने के आरोप लगे। एक समय ऐसा भी कि प्रणब मुखर्जी ने कांग्रेस छोड़कर अपनी पार्टी राष्टीय समाजवादी कांग्रेस पार्टी बनाई। हालांकि, 1989 में ही इस पार्टी का विलय कांग्रेस में हो गया।


यह भी पढ़े - 8 देश जो भारत से नफरत करते है

No comments:

Post a Comment