Shiv Sena News Hindi - पूर्व नेवी अफसर के साथ ऐसी बदसलूकी हमें बर्दाश्त नहीं, महारष्ट्र की यह घटना निंदनीय है | Mumbai Me Poorv Navy Officer Madan Sharma Par Hamla



Shiv Sena News Hindi - पूर्व नेवी अफसर के साथ ऐसी बदसलूकी हमें बर्दाश्त नहीं, महारष्ट्र की यह घटना निंदनीय है | Mumbai Me Poorv Navy Officer Madan Sharma Par Hamla


अभी हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत मर्डर मामले में कई आरोपी NCB और CBI की गिरफ्तारी में है। ऐसे में आरोप यह भी लगे है की मुंबई में दिन दहाड़े बे धड़क ड्रक्स का कारोबार होता है और महाराष्ट्र सरकार अब इस मामले में निशाने पर है। कभी भी NCB की पूछ - ताछ आदित्य ठाकरे से हो सकती है। ऐसे में शिव सेना और महाराष्ट्र सरकार पूरी तरह से बौखलाई हुई है। उन्हें समझ ही नहीं आ रहा की आखिर करे भी तो क्या करे। 

 Mumbai Me Poorv Navy Officer Madan Sharma Par Hamla

पहले उन्होंने कंगना राणावत को मुंबई न आने की हिदायद दी और जब कंगना राणावत मुंबई आने वाली थी तो उसका घर यह कहकर तोड़ दिया की वह गलत तरिके से बना था। ऐसे में सवाल यह भी उठता है की अब बाकि नेताओ और फ़िल्मी जगत के लोगो का भी घर गलत बना है उनको भी तोड़ो। यह सब उद्धव सरकार का डर था जो एक नारी के आगे और कुछ कर नहीं सके तो उसका घर ही तोड़ दिया। 


कुछ समय पश्चात इन लोगो ने R. भारत के पत्रकार को जेल में डाल दिया। ऐसे में अब जनता को साफ़ हो गया है की शिव सेना और महाराष्ट्र सरकार कैसी है। एक पत्रकार को उसकी पत्रकारिता से रोक कर उसको जेल में बंद कर देना भारत के लोकतंत्र की हत्या को दर्शाता है। 


कुछ समय बाद उनकी मुंबई के एक आदमी ने उनकी फोटो शेयर कर दी तो उनको घर पर जाकर मारा दरसल यह बुजुर्ग व्यक्ति कुछ समय पहले भारत के नेवी सेना के अफसर भी रह चुके है ऐसे में उनके घर पर जाकर उनको बेहरहमी से मारने से कुछ सिद्ध नहीं होने वाला उल्टा लोग तुम्हें ही बेकफूफ बतायेगे। तुम्हारे कर्मो से यह साफ होता नजर आ रहा है की जल्द ही महाराष्ट्र में शिव सेना अपनी कुर्सी खोने वाली है।


इधर देश के रक्षा मंत्री ने बुजुर्ग रिटायर नेवी अफसर मदन शर्मा का हालचाल पूछा है और महाराष्ट्र की उद्धव सरकार को साफ लहदे में चेतावनी देते हुए कह दिया है की हमे ऐसी घटना बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं है साथ ही साथ सभी रिटायर सेनिको का भी यही कहना है की टाइम रहते उद्धव और उद्धव की सरकार सुधर जाए वरना हम आंदोलन पर उतर आए तो समझ में नहीं आएंगे की क्या हो गया। 


हम देश के बॉडर का कचरा साफ करना जानते है तो देश के अंदर के कचरे को साफ करना भी हमे बेखुबी आता है। महाराष्ट्र की यह घटना भारतीय समजा के लिए सबसे निंदनीय है और यह महाराष्ट्र के लोगो को और वहाँ की शिक्षा प्रणाली को दर्शाती है की कैसे मुंबई के लोग बुजुर्गो का अपमान कर रहे है। 


आज सभी देशवासी सच्ची पत्रकारिता और ईमानदारी के साथ है ऐसे में सभी अर्णब गोस्वामी की मुहीम से भी तेजी से जुड़ रहे है। इस बात से पता चलता है की अब 90 के दशक की मुंबई नहीं रही अब हम काफी आगे निकल चुके है लेकिन शिव सेना ने मुंबई को पुरानी मुंबई ही समझ रखा है यह उनकी सबसे बड़ी भूल है। 



केंद्र सरकार को जल्द से जल्द महाराष्ट्र सरकार पर एक्शन लेना चाहिए और देश भर में जहाँ कही भी गुंडागर्दी हो चाहे वो किसी नागरिक के द्वारा हो या नेता के द्वारा उन्हें एक जैसी सजा होनी चाहिए। 


भीमराव आम्बेडकर साहब ने यह बात काफी पहले साफ़ शब्दो में कह दी थी की भारत में सबसे बड़ा सिर्फ और सिर्फ भारत का कानून और भारत सविधान है। 


इस घटना के बाद पूर्व नेवी अफसर की मांग है की उद्धव सरकार उनसे माफ़ी मांगे या अपनी कुर्सी छोड़े !!

No comments:

Post a Comment