Rajya Nirvachan Aayog - राज्य निर्वाचन आयोग - State Election Commission in Hindi



Rajya Nirvachan Aayog - राज्य निर्वाचन आयोग - State Election Commission in Hindi


राज्य निर्वाचन आयोग स्थापना एवं नियुक्ति 


भारतीय चुनाव आयोग की स्थापना 25 जनवरी 1950 को की गयी थी। मुख्य चुनाव आयुक्त और अन्य चुनाव आयुक्तों की नियुक्ति भारत का राष्ट्रपति करता है। राष्ट्रीय चुनाव आयुक्त की तरह ही राज्य चुनाव आयुक्त का गठन किया गया है। 


यह भी पढ़े - राजस्थान की राजनीतिक एवं प्रशासनिक व्यवस्था 

राज्य निर्वाचन आयोग - State Election Commission in Hindi

इसकी नियुक्ति राज्यपाल द्वारा की जाती है। चुनाव आयुक्त का सम्मान और वेतन भारत के सर्वोच्च न्यायलय के न्यायधीश के सामान होता है। मुख्य चुनाव आयुक्त को संसद द्वारा महाभियोग के जरिए ही हटाया जा सकता हैं।


राज्य निर्वाचन आयोग की तरह ही भारत निर्वाचन आयोग है। जिसे चुनाव आयोग के नाम से भी जाना जाता है, एक स्वायत्त संवैधानिक निकाय है जो भारत में संघ और राज्य चुनाव प्रक्रियाओं का संचालन करता है।


भारत निर्वाचन आयोग की ही एक शाखा राज्य निर्वाचन आयोग है। भारतीय संविधान का भाग 15 चुनावों से संबंधित है जिसमें चुनावों के संचालन के लिये एक आयोग की स्थापना करने की बात कही गई है। संविधान के अनुच्छेद 324 से 329 तक चुनाव आयोग और सदस्यों की शक्तियों, कार्य, कार्यकाल, पात्रता आदि से संबंधित हैं।


निर्वाचन आयोग की संरचना


निर्वाचन आयोग में मूलतः केवल एक चुनाव आयुक्त का प्रावधान था, लेकिन राष्ट्रपति की एक अधिसूचना के ज़रिये 16 अक्तूबर, 1989 को इसे तीन सदस्यीय बना दिया गया।


इसके बाद कुछ समय के लिये इसे एक सदस्यीय आयोग बना दिया गया और 1 अक्तूबर, 1993 को इसका तीन सदस्यीय आयोग वाला स्वरूप फिर से बहाल कर दिया गया। तब से निर्वाचन आयोग में एक मुख्य चुनाव आयुक्त और दो चुनाव आयुक्त होते हैं।


राजस्थान : निर्वाचन आयोग के सदस्य  


 - राजस्थान में प्रथम चुनाव आयुक्त अमर सिंह राठौड़ थे जिन्होंने 1 जुलाई - 1994 को अपना पदभार संभाला, 

- द्वितीय श्री नेकराम भसीन, 

- तीसरे निर्वाचन आयुक्त श्री इंद्रजीत खन्ना बनाए गए,

- चर्तुथ निर्वाचन आयुक्त श्री एके पांडे थे 


राज्य में राज्य निर्वाचन आयोग को बहुत सदस्य न बना कर एक सदस्य बनाया गया है। राज्य निर्वाचन आयुक्त का कार्यकाल 5 वर्ष या 65 वर्ष जो भी पहले हो राजस्थान में राज्यपाल ने 17 जून 1994 को आदेश जारी कर अमर सिंह राठौड़ को प्रथम राज्य निर्वाचन आयुक्त बनाया जिन्होंने 1 जुलाई 1994 को पदभार संभाला। राज्य के प्रथम मुख्य निर्वाचन अधिकारी एवं सचिव बी बी मोहंती को बनाया गया। सचिव की नियुक्ति आयोग के कार्यों के अधीक्षण पर्यवेक्षण नियंत्रण में सहायता हेतु की गयी है।


राज्य निर्वाचन आयोग से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बिंदु 


प्रश्न - राज्य निर्वाचन आयुक्त की नियुक्ति कौन करता हैं ?

उत्तर- राज्यपाल


प्रश्न - राज्य निर्वाचन आयोग के अध्यक्ष को क्या कहा जाता हैं ?

उत्तर- राज्य निर्वाचन आयुक्त


प्रश्न - पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव कौन सम्पन्न करवाता है ?

उत्तर- राज्य निर्वाचन आयोग


प्रश्न - राज्य निर्वाचन आयुक्त का कार्यकाल कितना होता है ?

उत्तर- 5 वर्ष या 65 वर्ष की आयु (जो भी पहले हो )


प्रश्न - राज्य निर्वाचन आयुक्त को समय से पहले अपने पद से कौन हटा सकता है ?

उत्तर- राष्ट्रपति द्वारा संसद में महाभियोग प्रस्ताव पास होने के बाद


राजस्थान राज्य के "लोकायुक्त" के बारे में जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - राज्य लोकायुक्त

No comments:

Post a Comment