WHO ने की भारत की तारीफ, PM मोदी ने भी दी देश वासियों को बधाई - Corona Vaccine News in Hindi



 भारत ने कोरोना की इस जंग में बड़ा कदम उठाया है। WHO ने भी इसका स्वागत किया है। भारत में एक के बाद एक यानी लगातार दो वैक्सीन को इस्तमाल के लिए मंजूरी मिल गई है। 


कोरोना महामारी से परेशान लोगो के लिए यह 2021 का सबसे बड़ा तोहफा है और सबसे बड़ी खुशखबरी भी है। इसी के साथ भारत के देश वासियों को भी प्रधानमंत्री ने बहुत - बहुत बधाई दी है। 



अब कोविशील्ड और कोवैक्सीन को भी इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल गयी है। वैक्सीन को DCGI की मंजूरी पर WHO ने किया स्वागत। WHO का कहना है की भारत के इस कदम से कोरोना की जंग में मिलेगी मजबूती। 


आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसीत वैक्सीन को सीरम इंस्टीट्यूट कोविशील्ड नाम से भारत में उत्पादन कर रहा है, वहीं स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन को भारत बायोटेक और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) ने विकसित किया है। डीसीजीआइ से मंजूरी मिलने के बाद अब देश में कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल शुरू हो जाएगा।


पीएम मोदी ने दी बधाई


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को डीजीसीआइ से अनुमति मिलने के लिए देशवासियों और वैज्ञानिकों को बधाई दी। उन्होंने ट्वीट करके कहा, ' वैश्विक महामारी के खिलाफ भारत की जंग में एक निर्णायक क्षण! सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक की वैक्सीन को डीसीजीआइ की मंजूरी से एक स्वस्थ और कोविड मुक्त भारत की मुहिम को बल मिलेगा। इस मुहिम में जी-जान से जुटे वैज्ञानिकों-इनोवेटर्स को शुभकामनाएं और देशवासियों को बधाई। यह गर्व की बात है कि जिन दो वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है, वे दोनों मेड इन इंडिया हैं। यह आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने के लिए हमारे वैज्ञानिक समुदाय की इच्छाशक्ति को दर्शाता है। वह आत्मनिर्भर भारत, जिसका आधार है- सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामया। विपरीत परिस्थितियों में असाधारण सेवा भाव के लिए हम डॉक्टरों, मेडिकल प्रोफेशनल्स, वैज्ञानिकों, पुलिसकर्मियों, सफाईकर्मियों और सभी कोरोना वॉरियर्स के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करते हैं। देशवासियों का जीवन बचाने के लिए हम सदा उनके आभारी रहेंगे।'


भारत में दो कोरोना वैक्सीन को आपातकाल में इस्तेमाल की मंजूरी मिलने का विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने स्वागत किया है। 


भारत भर में पुरे जोर - शोर से टीकाकरण तेजी से किया जायेगा। केंद्र की सरकार ने साफ कहा है की अब और देर नहीं होगी 1 लाख से भी ज्यादा वैक्सीनेटर्स को प्रशिक्षित किया गया। इसी को ध्यान में रखते हुई 5 जनवरी को पुरे उत्तर - प्रदेश में कोरोना का ड्राई रन शुरू। 



No comments:

Post a Comment