भारत के 10 सबसे डरावने और भूतिया किले, जहाँ पर रहती है हजारों आत्माएँ - Top 10 Most Haunted Forts in India | Scary Forts | Bharat Ke Bhutiya Kile



दोस्तों आज हम आपके साथ इस पोस्ट में भारत के सबसे डरावने और भूतिया 10 सबसे खतरनाक किलों के बारे में जानकारी शेयर करेंगे। जहाँ पर लगता है भुत - प्रेतों का मेला। ऐसी जगह जाने से हर कोई बचना चाहता है। लेकिन कुछ एडवेंचर प्रेमियों को ऐसी जगह जाना बहुत ही अच्छा भी लगता है। 



तो चलिए शुरू करते है और बात करते है ऐसे किलों की जहाँ पर दिन ढलते ही भुत - प्रेतों का बाजार सजता है और जहाँ शाम होने के बाद सरकार भी परमिशन नहीं देती किले में दाखिल होने की।


10. गढ़कुंडार का किला मध्यप्रदेश – Garh Kundar Fort Madhya Pradesh in Hindi



मध्यप्रदेश के निवाड़ी जिले के एक गाँव में स्थित “गढ़कुंडार का किला” भारत के सबसे डरावने (Haunted forts in india in in hindi) किले में से एक है। यहाँ के निवासी इस किले के बारे में कई पौराणिक घटाएँ बताते है जिन्हे सुनकर वाकई में रोंगटे खड़े हो जाते है। माना जाता है की इस किले में कई रहस्य आज भी दफन है जिन पर से अभी तक पर्दा नहीं उठ पाया है। 


इस किले से जुड़ी एक रहस्यमयी कहानी ने सबसे रोंगटे खड़े कर दिये है जी हाँ, कहाँ जाता है एक बार इस किले में एक बरात के लगभग 70 से 80 से लोग रहस्यमयी ठंग से गायब हो गये थे जिनका पता आज भी नही लगाया जा सका है की वो लोग कहा गायब हो गये।


इस किले का इतिहास और इसकी रहस्यमई कहानी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - गढ़कुंडार का किला, मध्यप्रदेश


9. चुनारगढ़ का किला उत्तर प्रदेश – Chunargarh Fort Uttar Pradesh in Hindi



उत्तरप्रदेश का चुनारगढ़ का किला पुरे भारत भर में काफी फेमस भी है। डरावना होने के साथ - साथ यह किला बहुत पुराना भी माना जाता है। चुनारगढ़ के किला का इतिहास के पन्नो में एक महत्वपूर्ण स्थान है जिसे लगभग 5000 साल पुराना माना जाता है। जिस पहाड़ी में इस किले का निर्माण किया गया है वो मानव के चरण जैसी प्रतीत होती है। चुनारगढ़ का किला भारत के रहस्यमयी किले (Mysterious Forts in India in Hindi) में से एक है जिसका प्रमाण इसकी अद्भुद बनवाट से भी मिलता है।


इस किले के निर्माण के पीछे का रहस्य आज भी रहस्य बना हुआ है, क्योंकि बलुआ पत्थर से निर्मित इस किले के हर पत्थर पर किसी ना किसी का चिन्ह है। इसके साथ साथ स्थानीय लोगो और किवंदतीयों के अनुसार कहा जाता है इस किले में योगिराज भतृहरि ने समाधी ली थी जिनकी आत्मा आज भी इस किले में नीवास करती है। कई बार लोगो को इस किले से अजीब - अजीब डरावनी आवाजे भी सुनाई दी है। जिसके बाद यह लोगो के लिए डरावने किलो में से एक बन गया है। 


इस किले का इतिहास और इसकी रहस्यमई कहानी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - चुनारगढ़ का किला, उत्तर प्रदेश



8. ग्वालियर किला मध्यप्रदेश – Gwalior Fort Madhya Pradesh in Hindi



दोस्तों मध्यप्रदेश के गवालियर के किले के बारे में भला कौन नहीं जनता है। यह मध्यप्रदेश की सबसे प्राचीन और ऎतिहासिक जगहों में से एक भी है। जिसका  बारे में हम कई किताबो में पढ़ भी चुके है। 


कई खोजकर्ता और इतिहासकार का दावा है की इस किले में कई रहस्यमयी सुरंगे और तयखाने भी है और इन तयखानो में बहुत सारा खजाना छुपे होने का भी दावा किया जाता है।


 इस किले की एक बात और अभी तक रहस्य बनी हुई है जो है की इस “किले के निर्माण की अवधि” जी हाँ स्थानीय लोगो का कहना है की इस किले का निर्माण सिर्फ एक रात में जिनो द्वारा किया गया था जो वाकई में रहस्यमयी और अविश्वसनीय है। 


इस किले का इतिहास और इसकी रहस्यमई कहानी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - ग्वालियर किला, मध्यप्रदेश


7. गोलकोंडा किला –  Golconda Fort Hyderabad in Hindi



हैदराबाद में हुसैन सागर झील से लगभग 9 किमी की दूरी पर स्थित “गोलकोंडा किला” भारत के रहस्यमयी किले (Mysterious Forts in India in Hindi)  में से एक है। गोलकोंडा किला का निर्माण 13 वीं शताब्दी में किया गया था, लेकिन इसके कई शासकों की सनक और रिक्तियों के तहत विभिन्न नवीकरण देखे गए हैं।


हैदराबाद में स्थित यह किला सबसे डरावने किलो में से एक माना कहा जाता है की रात्रि से समय यहाँ पर कई आत्माओं को नृत्य करते हुए भी देखा गया है। एक फिल्म की सूटिंग के दौरान भी यहाँ पर एक्टर्स और वहाँ काम करने वाले कर्मचरियों को अजीबो - गरीब परछाईये दिखाई दी जिसके बाद से ही यह भारत के सबसे डरावने किलो की लिस्ट में शामिल हो चूका है। यहाँ पर अकेले जाने से हर कोई डरता है। 


इस किले का इतिहास और इसकी रहस्यमई कहानी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - गोलकोंडा किला, हैदराबाद


6. नाहरगढ़ किला जयपुर – Nahargarh Fort Jaipur In Hindi



जयपुर राजस्थान का बहुत ही प्राचीन और ऐतिहासिक शहर भी है। यहाँ विदेशो से सैलानी रोज घूमने आते है और इस शहर की सुंदरता का आनंद लेते है। लेकिन इसी सुंदरता के बीच महशूर है इस शहर का नारगढ़ का किला। जी हाँ दोस्तों यहां के स्थानीय लोगों अनुसार माना जाता है यहां पर एकदम से तेज हवाएं चलने लगती है और कई बार दरबाजे के कांच टूट कर गिर जाते हैं। यहाँ कभी-कभी एक दम से गर्मी और एक दम से ठण्ड महसूस होने लगती है जो आज भी एक रहस्यमयी घटना बनी हुई है।


यहाँ पर कई पेरानॉर्मल एक्टिविटीज़ देखी गयी है। यहाँ के निवासियों का मानना है की यहां पर बहुत सारी नेगेटिव एनर्जी है। किले में जाने वाले कई लोगों को कुछ अजीब चीजों का एहसास भी हो चुका है। इस किले का निर्माण सवाई राजा मान सिंह ने अपनी रानियों के लिए करबाया था, लेकिन राजा की मृत्यु के बाद नाहरगढ़ किले को भूतिया कहा जाने लगा था और इस किले में राजा की प्रेत आत्मा होने का भी दावा किया जाता है।


इस किले का इतिहास और इसकी रहस्यमई कहानी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - नाहरगढ़ किला, जयपुर


5. रोहताश गढ़ का किला बिहार – Rohtash Garh Fort Bihar in Hindi



बिहार के रोहताश जिले में स्थित एक प्राचीन किला है जिसे भारत में सबसे रहस्यमयी किले (Mysterious Forts in India in Hindi) में से एक माना जाता है। यहा के स्थानीय लोग के बीच इस किले की बहुत घटनाये प्रसिद्ध है। कहा जाता है की रात्रि में कई बार इस किले की दीवार से अचानक खून निकलने लगता है और जोर - जोर से किसी के रोने की आवाज भी सुनाई देती है। पर्यटकों के साथ साथ स्थानीय लोग भी दिन ढलने के बाद यहाँ जाने से डरते है।


इस किले का इतिहास और इसकी रहस्यमई कहानी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - रोहताश गढ़ का किला, बिहार


4. असीरगढ़ का किला - Asirgarh Fort in Hindi



असीरगढ़ मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले में स्थित एक गांव है। असीरगढ का ऐतिहासिक क़िला बहुत प्रसिद्ध है। असीरगढ़ क़िला बुरहानपुर से लगभग 20 किलोमीटर की दूरी पर उत्तर दिशा में सतपुड़ा पहाड़ियों के शिखर पर समुद्र सतह से 250 फ़ुट की ऊँचाई पर स्थित है। यह क़िला आज भी अपने वैभवशाली अतीत की गुणगाथा का गान मुक्त कंठ से कर रहा है। इसकी तत्कालीन अपराजेयता स्वयं सिद्ध होती है। इसकी गणना विश्व विख्यात उन गिने चुने क़िलों में होती है, जो दुर्भेद और अजेय, माने जाते थे। 


बुरहानपुर के 'गुप्तेश्वर  महादेव मंदिर' के समीप से एक सुंदर सुरंग है, जो असीरगढ़ तक लंबी है। ऐसा कहा जाता है कि, पर्वों के दिन अश्वत्थामा ताप्ती नदी में स्नान करने आते हैं, और बाद में 'गुप्तेश्वर' की पूजा कर अपने स्थान पर लौट जाते हैं। स्थानीय लोगों को अकसर शिवलिंग पर लाल फूल नजर आता है। स्थानीय लोगों का दावा है कि यहां श्वेत अश्व पर सवार हो अश्वत्थामा पूजा के लिए आते हैं। उनके इस दावे में कितनी सच्चाई है यह किसी को नहीं पता लेकिन यह जरूर है कि यहां रोज प्रातः कोई शिवलिंग की अराधना करता है। जिसके निशान ग्रामीणों को अकसर दिखते हैं। ऐसे में रात्रि के समय इस किले के नजदीक भी कोई जाने का साहस नहीं करता है। 


इस किले का इतिहास और इसकी रहस्यमई कहानी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - असीरगढ़ का किला, मध्यप्रदेश


3. पन्हाला किला – Panhala Fort in Hindi



पन्हाला का सुप्रसिद्ध किला महाराष्ट्र में स्थित है। इस किले को इतिहस मे बहुत ही बड़ा महत्व है। इस किले ने इतिहास की बड़ी बड़ी लड़ाई को खुद देखा है।


यह भारत का सुप्रसिद्ध किला भी है। सुप्रसिद्ध पन्हाला किला कोल्हापुर शहर के उत्तर पश्चिमी दिशा में स्थित है। भारत में बड़े किलों में इस पन्हाला किले का नाम आता है और पुरे दक्खन प्रान्त में पन्हाला का किला सबसे बड़ा किला है।


वैसे तो यह किला यादवों, बहमनी और आदिल शाही जैसे कई राजवंशों के अधीन रह चुका है, लेकिन 1673 ईस्वी में इसपर शिवाजी महाराज का अधिकार हो गया। कहा जाता है कि शिवाजी महाराज पन्हाला किले में सबसे अधिक समय तक रहे थे। उन्होंने यहां 500 से भी ज्यादा दिन बिताए थे। बाद में यह किला अंग्रेजों के अधीन हो गया था। पन्हाला दुर्ग को 'सांपों का किला' इसलिए कहा जाता है, क्योंकि इसकी बनावट टेढ़ी-मेढ़ी है यानी यह देखने में ऐसा लगता है जैसे कोई सांप चल रहा हो। इसी किले के पास जूना राजबाड़ा में कुलदेवी तुलजा भवानी का मंदिर स्थित है, जिसमें एक गुप्त सुरंग बनी है, जो सीधे 22 किलोमीटर दूर पन्हाला किले में जाकर खुलती है।


देखने में बहुत सुंदर किला अब पिछले कुछ वर्षो से वीरान होने के कारण भुत - प्रेतों का गढ़ भी बन चूका है। पिछले कुछ सालो में इस किले में अजीबो - गरीब घटनाये देखने को मिली है। इस किले में घूमने आये सैलानियों को भी ऐसा लगा है जैसे उनके पीछे कोई चल रहा है लेकिन वहाँ कोई नहीं होता है। ऐसे में इस किले को भी भारत के सबसे डरावने किलो की लिस्ट में शामिल किया गया है। इस किले में कई लड़ाईया होने के कारण सभाविक ही है की जरूर यहाँ बहुत से लोगो की आत्माएं घूमती भी है। 


इस किले का इतिहास और इसकी रहस्यमई कहानी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - पन्हाला किला, महाराष्ट्र


2. शनिवार वाड़ा फोर्ट पुणे – Shaniwar Wada Fort Pune in Hindi



शनिवाड़ा फोर्ट भारत के सबसे डरावने किले (Haunted forts in india in in hindi) में से एक है जिसे 1732 में पेशवा बाजीराव के सम्मान में बनाया गया था। शनिवारवाड़ा किला पुणे में स्थित है जो अपनी विशाल वास्तुकला के अलावा यहाँ होने वाली कई डरावनी घटनाओ की वजह से भी प्रसिद्ध है।


बताया जाता है कि पूर्णिमा की रात को यहाँ अलौकिक गतिविधि बहुत ज्यादा होती है। इन भूतिया घटनाओ के पीछे की कहानी बताती है कि एक राजकुमार की यहां निर्दयतापूर्वक हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद उसकी आत्मा यहां भटकती है और रात के समय किले से चीखने की आवाजें भी सुनाई देती है।


इस किले का इतिहास और इसकी रहस्यमई कहानी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - शनिवार वाड़ा फोर्ट, पुणे 


1. भानगढ़ किला अलवर – Bhangarh Fort Alwar in Hindi



राजस्थान के अलवर जिले की अरावली पर्वतमाला में सरिस्का अभ्यारण्य की सीमा पर स्थित “भानगढ़ किला” भारत के सबसे रहस्यमयी किले (Mysterious Forts in India in Hindi) में से एक है। यह किला ढलान वाले इलाके में पहाड़ियों के तल पर बसा हुआ है जो देखने में बेहद भयानक लगता है। भानगढ़ किला अलवर शहर का एक बेहद प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है जो अपनी भुतिया किस्सों की वजह से सबसे ज्यादा चर्चा में बना रहता है।


 भानगढ़ किला यहां होने वाली घटनायों की वजह से इतना ज्यादा फेमस है कि कोई भी इस किले के अंदर अकेला जाने से डरता है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण या एएसआई ने इस किले में रात के समय पर्यटकों और स्थानीय लोगों के प्रवेश पर भी रोक लगा रखी है।


इस किले का इतिहास और इसकी रहस्यमई कहानी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें - भानगढ़ का किला, अलवर



No comments:

Post a Comment