सावधान: आ रहा है कोरोना का सबसे खतरनाक रूप, नए साल पर न करें कोई भी भूल - Coronavirus New Variant in Hindi



Coronavirus New Variant Name - B.1.1.529 Variant - कोरोना के नए स्वरूप ओमिक्रॉन वैरिएंट के सामने आने के बाद इस्राइल ने अपनी सीमाओं को पूरी तरह से बंद कर लिया है। अब देश में किसी भी विदेशी नागरिक को प्रवेश नहीं मिल सकेगा।



ओमिक्रॉन वैरिएंट दक्षिण अफ्रीका से शुरू होकर दस देशों में फैल चुका है। इस वायरस से संक्रमित होने वाले देशों में इस्राइल भी शामिल है, यही कारण है कि देश ने अपनी सीमाओं को विदेशी यात्रियों के लिए बंद कर दिया है। अभी तक यह वायरस बोत्सवाना, हांगकांग, बेल्जियम, दक्षिण अफ्रीका व इस्राइल समेत दस देशों में सामने आ चुका है।


 दुनियाभर में हड़कंप मचाने वाले कोरोना वायरस के नए वेरिएंट 'ऑमिक्रॉन' को लेकर भारत भी अलर्ट मोड पर आ गया है। रविवार को केंद्रीय गृह सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में ओमिक्रॉन के संभावित खतरे को टालने के लिए कई अहम फैसले लिए गए हैं।


कोरोना वायरस के नए स्वरूप 'ओमीक्रॉन' के मद्देनजर प्रधानमंत्री मोदी की ओर से स्थिति की समीक्षा किए जाने के बाद केंद्रीय गृह सचिव की अध्यक्षता में रविवार को आपात बैठक बुलाई गई।


सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना वायरस के चिंताजनक नए स्वरूप 'ओमीक्रोन' को नियंत्रित करने के लिए दुनियाभर में यात्रा पाबंदियों को कड़ा किया जा रहा है। माना जा रहा है कि कई म्यूटेशन वाला यह वेरिएंट बेहद तेजी से फैलने और वैक्सीन को भी मात देने में सक्षम हो सकता है। हालांकि, वैज्ञानिक अभी इसकी जांच कर रहे हैं और पर्याप्त डेटा उपलब्ध नहीं है।


वायरस से बचने के लिए कुछ आवश्यक कदम  


सुनिश्चित करें कि स्वास्थ्य सेवा इसके लिए तैयार हो और यह केवल कागज पर नहीं हो बल्कि वास्तव में कर्मचारी, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण और ऑक्सीजन आदि की व्यवस्था हो। 


वैक्सीन की एक खुराक लेने वाले सभी वयस्कों को बूस्टर खुराक मुहैया कराई जाए. इससे कोविड के गंभीर मामलों से बचाव होगा. जॉनसन एंड जॉनसन टीके की एक खुराक से दक्षिण अफ्रीका में डेल्टा स्वरूप से संक्रमित स्वास्थ्य कर्मियों के अस्पताल में भर्ती होने की संख्या में 62 प्रतिशत की कमी आई जबकि एस्ट्राजेनेका और एमआरएनए की दो खुराक लेने वालों में सुरक्षा का स्तर 80 से 90 प्रतिशत तक रहा। 


क्षेत्रीय स्तर पर अस्पतालों के बिस्तरों की निगरानी की जाए ताकि किसी एक केंद्र पर अधिक दबाव नहीं हो. स्वास्थ्य सुविधाओं पर दबाव बढ़ने की आशंका होने पर कड़े प्रतिबंध लगाए जाने की जरूरत है। 


नए साल पर सभी को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। सभी माक्स लगा कर ही घर से बाहर निकले और यात्रा के दौरान अपने पास सैनिटाइजर जरूर रखे। 


घर के बच्चो और बुजुर्ग लोगो का पूरा ध्यान रखे।  



No comments:

Post a Comment