होली पर भूल से भी न करें इन रंगों का प्रयोग नहीं तो….

आईये जानते है किस रंग का क्या महत्व है और हमे होली पर किन – किन रंगो का प्रयोग करना चाहिए  – होली के आते ही मन मे रंगों का जिक्र आता है रंग हमारे जीवन  बहुत महत्व रखते है और होली तो त्योहार ही है रंगों का । होली पर गुलाल के रंगों से होली खेली जाती है ।कई लोग पके रंगों का प्रयोग भी करते है। होली भेदभाव मिटाने का त्योहार है  । रंगों की बात करे तो रंग तो बहुत है जैसे लाल  ,पिला  ,हरा ,गुलाबी आदि ।

होली कैसे खेले – Holi Kaise Manai Jati Hai

होली की शरुवात तो 15 दिन पहले ही हो जाती है ।लेकिन मुख्यत होली होली दहन के दूसरे दिन खेली जाती है इस बच्चो की बड़ो की महिलाओं की अलग अलग टोलिया निकलती है ।हर महोले की अपनी टोली होती है ।जो कि घर घर जाकर एक दूसरे को रंग लगाते है।

आईये जानते है किस रंगो का प्रयोग ना करें – 

होली गुलाल से ही खेले । पक्के रंगों ,ट्यूब वाले रंगों से हमारे स्किन खराब हो जाती है कई बार तो त्वचा पर एलर्जी हो जाती है या त्वचा जल जाती है होली पर कच्चे रंगों का उपयोग करे ।गुलाल से किसी से त्वचा भी खराब नही होती है । और किसी को कोई परेशानी भी नही होती है ।

रंग प्यार को दर्शाते हैं जैसे लाल  रंग प्यार को दर्शता है

वैसे ही पिला रंग सदभावना को दर्शाता है ।

हरा रंग हरियाली को दर्शाता है।

आप  लाल रंग अपने बराबर वालो को मित्रो को अपने प्यार को लगा सकते है । पिला रंग  बड़ो को बुजर्गो को आदि को लगा सकते है  ।और हरा रंग किसी को भी लगा सकते है । क्योंकि ये हरियाली को दर्शाता है । आप कोई भी रंग लगाए मगर प्यार से ।बड़ो से आशीर्वाद ले ।पुराने गीले शिकवे मिटा कर  दोस्ती करे और मेल बढ़ाये ।खूब सारे पकवान बनाये ।और मौज मस्ती से खेले होली ।खूब गुलाल लगाए एक दुसरे को खूब रंग उड़ाए अपने परिवार के साथ में होली का त्योहार ।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *