मन में अा रहे गलत और नेगेटिव विचारों को खत्म करने के तरीके

How to Control Your Mind in Hindi – Man ko Control kaise karen? – man ko kabu kaise kare – मन को काबू में कैसे करें – उस वक़्त हमारा मन वश में नही होता जब हमारे काम हमारे द्वारा सोचे गए ढ़ंग से और अच्छे से नहीं होते है । जब हमारा अपने है कार्यो पर नियंत्रण नही रहता है तब हमारा मन वश में नहीं रहता या यूं कहे कि शांत नहीं रहता है । मन का शांत ना होने का कारण है कि हमारे ग़लत दिनचर्या !

यदि आप अपने दिमाग में विचारों और चित्रों से परेशान हैं तो आप अन्य बातों पर अपना ध्यान केंद्रित करने के लिए अपनी वर्तमान स्थिति को ध्यान में रख सकते हैं।

आप मन को कंट्रोल में रखने के लिए एक कार्यक्रम चार्ट तैयार करके कड़ी मेहनत कर सकते हैं और एक संगठित, नियोजित दिन बनाने की कोशिश कर सकते हैं।

आपको ये सोचना होगा जो हो रहा है सही हो रहा है. तो चलिए अगर आपका मन शांत नही हो पा रहा है तो जानते है इसके लिए अच्छी ऐसी बातें जिनसे आप अपने मन को शांत करने कि कोशिश कर सकते है ।

मन को काबू में कैसे करें –

इस काम भरी ज़िन्दगी मे मन का बेचैन होना और दिमाग असंतुलित होना स्वाभाविक है.

ये मन का विचलन बहुत से लोगो का जल्दी हो जाता है.

वे अक्सर छोटी से छोटी कठिनाइयों से ही टेंशन मे अा जाते है , और वे दिमाग से चिड़चिड़े हो जाते है , इससे और ज़्यादा दिमाग़ खराब होने लगता है और अगर ऐसा हद से ज़्यादा हो जाता है तो इससे मस्तिष्क में रक्तस्राव की आशंका बढ़ जाती है और आदमी पागल तक हो सकता है.

इसलिए अपने दिमाग़ पर काबू करने के लिए नीचे दिए गए तरीको को अपनाएं :-
👇👇👇👇👇👇

1. प्राणायाम –

मन को शांत और दिमाग़ पर काबू पाने के लिए प्राणायाम सबसे अच्छा व्यायाम है. यह हमारे दिमाग से नकारात्मक सोच को दूर कर स्वच्छ और साफ करता है.
प्राणायाम को आप खुले हवा और एकांत मे बैठकर अपनी दोनो आँखो को बंद करके कर सकते है.
चाहे तो अपने मन को भगवान की स्मरण करके कर सकते है , इस दौरान अपने मन से सारी मोह माया को दूर रखे.
प्राणायाम करने से आपके अंदर एक नई उर्जा पैदा होती है और आप अपने मन को काबू मे ला सकते है.

2. नींद अपनी पूरी ले –

मन को शांत रखने के ज़रूरी है नींद पूरी लेना . कम सोने से हमारा कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगता है ।
जिससे हमारा शरीर चिड़चिड़ापन हो जाता है. और दूसरे दिन हमारा शरीर थकावट और तनाव मे रहता है. हमारा मन किसी भी काम मे नही लगता. दिमाग़ सुन्न रहता है पूरी बॉडी सोया सोया रहता है. इसलिए ज़रूरी है रोजाना कम से कम 7 घंटे ज़रूर सोए.

3. सुबह सुबह व्यायाम –

सुबह सुबह व्यायाम करने से हमारा मन शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत रहता है.
इससे हमारे दिमाग़ मे एक नई ऊर्जा मिलती है. जो कि हमारे पूरे दिन को तरोताजा करती है ।
व्यायाम के अलावा आप दौड़ या साइकिलिंग भी कर सकते है.

4. उचित अवसर का इंतजार –

अगर आप सोच रहे है की आप इतनी मेहनत करने के बाद भी सक्सेस नही हुए है और टेंशन लेने लग गये है.
तो ये आपकी सबसे बढ़ी हार है. ज़िंदगी मे एक छोटे मुकाम से बड़े मुकाम मे जाने के लिए आपको बहुत सारी परेशानिया आएँगी,
लेकिन इन परेशानियो को कैसे हैंडल करना है ,
अपना हमेशा दिमाग सेट करके चलिए की जो भी होगा अच्छे के लिए होगा.
और होता भी अच्छे के लिए है. और अगर आज आप हार भी गये तो फिर अगली बार आप आज से ज़्यादा मेहनत करेगे.
इसलिए जब आपका मन शांत रहेगा तभी आप अपने काम को अच्छे से कर सकते है.

5. खुद से प्यार –

मन की शांति के लिए ज़रूरी है की आप अपने आप से खुश रहे. अपने दवारा किए गये कार्यो पर गर्व करे.
जिस जगह पर आप है उससे नीचे झाकिये आपको दिखने लगेगा की आपसे नीचे कितने लोग कैसी जिंदगी काट रहे है.
अब अपने से उप्पर देखे की कितने लोग किस प्रकार कितनी मेहनत से काम कर रहे है.
अगर आप छोटी छोटी परेशानियो से खुश नही है तो आप अपने जीवन मे कभी भी सफल नही हो सकते है.
क्यूंकी जो लोग हसी-खुशी अपने काम को साफ मन से करते है उन्हे सफलता ज़रूर मिलती है. इसलिए अपने आप से प्यार करे और दूसरो मे भी बांटे.

6. सोशल साइट्स कम चलाये

अध्ययन से पता चला है की आज की नई पीढ़ी को 60% से भी ज़्यादा दिमाग गड़बड़ रहता है जिससे वो अपने मन पर काबू नही पा सकते है. इसका सीधा सा कारण पर सोशल साइट्स पर ज्यादा देर रहना है , इससे हमारे आँखे भी खराब होती है. इसलिए इतना ही कहूंगा की इंटरनेट चलाए लेकिन इतना भी नही की हद पार कर जाए.

7. हर वक़्त खुश रहे –

इस दुनिया मे कों परेशान नही है चाहे वा ग़रीब हो या अमीर, हर सोचते है की अमीर लोग खुश रहते है, लेकिन यह हम केवल कल्पना करते है वास्तव मे वी हमसे ज़्यादा परेशान रहते है. अगर खुशी जीवन जीने की बात आती है तो सबसे खुश वही लोग है जिन्हे सिर्फ दो वक़्त रोटी रोटी ही नसीब होती है.

Loading...

Related Post

Gulshan Kumar gk

Shayri lover Article writer in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *